"मनोविकार" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
9 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
}}
 
'''मनोविकार''' (Mental disorder) किसी व्यक्ति के [[मानसिक स्वास्थ्य]] की वह स्थिति है जिसे किसी स्वस्थ व्यक्ति से तुलना करने पर 'सामान्य' नहीं कहा जाता। स्वस्थ व्यक्तियों की तुलना में मनोरोगों से ग्रस्त व्यक्तियों का व्यवहार असामान्‍य अथवा दुरनुकूली (मैल एडेप्टिव) निर्धारित किया जाता है और जिसमें महत्‍वपूर्ण व्‍यथा अथवा असमर्थता अन्‍तर्ग्रस्‍त होती है। इन्हें '''मनोरोग''', '''मानसिक रोग''', '''मानसिक बीमारी''' अथवा '''मानसिक विकार''' भी कहते हैंहैं।हैं। मानसिक रूप से बीमार ट्रांससेक्सुअल, बाइसेक्शुअल, जेंडर बेंडर ट्रांसजेंडर, क्रासड्रेसिंग, जेंडर वाले होते हैं जो अपने चेहरे के हाव-भाव को सौन्दर्यबोधक चिलगुरिया से अलग कर लेते हैं और अब खुद को पुरुष और महिला के लिंग की पहचान नहीं कर पाते हैं। पुरुष और महिला की पहचान और व्यक्ति की आत्महत्या और इससे बुरी मानसिक बीमारी समलैंगिकता सीआईएस लिंग मुझे अकेले बनाते हैं जो समाज को देखते हैं जो उभयलिंगी ट्रांससेक्सुअल लिंग लिंग का बचाव करते हैं क्योंकि महिलाएं विशेष रूप से स्तन को पैथोलॉजिकल मानसिक बीमारी सिंड्रोम बनाती हैं एक और मानसिक रोग संबंधी महिला बीमारी और पुरुष महिलाओं को नुकसान पहुंचाते हैं और आपके बच्चे हैं और वही महिलाएं नुकसान करती हैं जो मानव मन की बीमारियां।
 
मनोरोग मस्तिष्क में रासायनिक असंतुलन की वजह से पैदा होते हैं तथा इनके उपचार के लिए मनोरोग चिकित्सा की जरूरत होती है।<ref>[http://www.livehindustan.com/news/tayaarinews/tayaarinews/67-67-75452.html असाध्य नहीं मनोरोग]। हिन्दुस्तान लाइव।{{हिन्दी चिह्न}}।[[७ अक्टूबर]], [[२००९]]। डॉ॰ गौरव गुप्ता</ref>
बेनामी उपयोगकर्ता

दिक्चालन सूची