"कृषि" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
394 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
बॉट: date प्रारूप बदला।
छो (→‎लागत और GMOs के लाभ: clean up, romoving depricated parameters AWB के साथ)
छो (बॉट: date प्रारूप बदला।)
 
[[कार्बनिक खेती|कार्बनिक कृषि]] के विकास ने वैकल्पिक तकनीकों जैसे [[एकीकृत कीट प्रबंधन]] और [[चयनात्मक प्रजनन]] में अनुसंधानों का नवीनीकरण किया है। हाल ही के मुख्यधारा प्रौद्योगिकीय विकास में शामिल है [[आनुवांशिक रूप से परिष्कृत खाद्य|आनुवंशिक रूप से संशोधित भोजन]]। 2007 के अंत में, कई कारकों की वजह से मुर्गी, डेयरी की गाय और अन्य मवेशियों को खिलाये जाने वाले अनाज और भोजन की कीमतों में वृद्धि आई, जिसके कारण इस वर्ष में गेहूं (58% से अधिक), सोयाबीन (32% से अधिक) और मक्के (11% से अधिक) के दाम बहुत बढ़ गए।<ref>''न्यूयॉर्क टाइम्स'' (सितंबर 2007) [http://www।nytimes।com/2007/09/06/business/06tyson।html?n=Top/Reference/Times%20Topics/Subjects/W/Wheat एट टायसन एंड क्राफ्ट, अनाज की लागत मुनाफे को सीमित कर देती है]।</ref><ref>[14] ^ [http://www।financialpost।com/story।html?id=213343 तेल भूल जाओ, नई वैश्विक संकट है भोजन]।</ref> हाल ही में पूरी दुनिया के बहुत से देशों में खाद्य को लेकर [[दंगा|हंगामा]] हुआ है।<ref name="guardian।co।uk">[http://www।guardian।co।uk/world/2007/dec/04/china।business दंगों और भूख की वजह से अनाज की की मांग बढ़ गयी और उसकी कीमतों मैं बढोतरी हुई]</ref><ref name="timesonline।co।uk">[http://www।timesonline।co।uk/tol/news/environment/article3500975।ece आलरेडी वी हेव रायट्स, होर्डिंग्स, पेनिक: दी साइन ऑफ़ थिंग्स टू कम?]</ref><ref>[17] ^ [http://www।guardian।co।uk/environment/2008/feb/26/food।unitednations फीड दी वर्ल्ड?][http://www।guardian।co।uk/environment/2008/feb/26/food।unitednations हम एक हारी हुई जंग लड़ रहे हैं, संयुक्त राष्ट्र ने कहा। ]</ref> वर्तमान में [[महामारी|गेहूं]] की [[तने में रस्ट (रतुआ)|Ug99]] प्रजाति के द्वारा पूरे अफ्रीका और एशिया में इसके [[गेहूं|तने के रस्ट]] की [[Ug99 (यू जी 99)|महामारी]] फ़ैल रही है, जो मुख्य चिंता का विषय है।<ref>[18] ^ [http://www।guardian।co।uk/science/2007/apr/22/food।foodanddrink मिलियन फेस फेमाइन अस क्रोप डिजीज रेजेस]</ref><ref name="NewSci">{{cite journal | url = http://environment।newscientist।com/channel/earth/mg19425983। 700-billions-at-risk-from-wheat-superblight।html
|journal = New Scientist Magazine |title=Billions at risk from wheat super-blight |year=3 अप्रैल 2007-04-03
|accessdate = 2007-04-19 अप्रैल 2007 |issue=issue 2598 |pages = 6–7}}</ref><ref>''[http://www।ars।usda।gov/Main/docs।htm?docid=10755 लियोनार्ड, के जे ब्लैक स्टेम रस्ट बायोलोजी एंड थ्रेट टू व्हीट ग्रोवेर्स, USDA ARS]''</ref> दुनिया की लगभग 40% कृषि भूमि गंभीर रूप से बंजर हो गयी है।<ref>[http://www।guardian।co।uk/environment/2007/aug/31/climatechange।food जलवायु में परिवर्तन के कारन वैश्विक खाद्य संकट उत्पन्न हो सकता है और जनसंख्या वृद्धि के कारण उपजाऊ भूमि में कमी आती जा रही है]</ref> अफ्रीका में, यदि वर्तमान में हो रहा मिटटी का अपरदन जारी रहता है, तो यह देश 2025 में केवल अपनी 25% जनसंख्या को ही भोजन उपलब्ध करा पायेगा। यह अनुमान अफ्रीका में प्राकृतिक संसाधनों के लिए [[संयुक्त राष्ट्र विश्वविद्यालय|UNU]] के घाना आधारित संस्थान ने लगाया है।<ref>[http://news।mongabay।com/2006/1214-unu।html अफ्रीका में 2025 तक अपनी जनसंख्या के केवल 25% भग को ही भोजन उपलब्ध करा पायेगा]।</ref>
 
== इतिहास ==
| align="right"|30
|-
| colspan="2"|''स्रोत:'' <br />''[[खाद्य और कृषि संगठन]] (FAO)''<ref name="FAO">{{cite web |url=http://faostat।fao।org/ |title=संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन of the संयुक्त राष्ट्र (FAOSTAT) |accessdate= 2007-10-11 अक्टूबर 2007 |format= |work= }}</ref>
|}
 
सावधानी पूर्वक चयन और प्रजनन ने फसली पौधों की विशेषताओं पर भारी प्रभाव डाला है। 1920 और 1930 के दशक में, पौधों के चयन और प्रजनन ने, न्यूजीलैंड में चरागाहों (घास और तिपतिया घास) में काफी सुधार किया।
 
1950 के दशक के दौरान एक पराबैंगनी व्यापक X-रे के द्वारा प्रेरित उत्परिवर्तजन प्रभाव (आदिम आनुवंशिक अभियांत्रिकी) ने गेहूं, मकई (मक्का) और जौ जैसे अनाजों की आधुनिक किस्मों का उत्पादन किया।<ref>{{cite journal | last = Stadler| first = L। J। | authorlink = Lewis Stadler |author2= G। F। Sprague | title = Genetic Effects of Ultra-Violet Radiation in Maize। I। Unfiltered Radiation | journal = Proceedings of the National Academy of Sciences of the United States of America | volume = 22 | issue = 10 | pages = 572–578 | publisher = US Department of Agriculture and Missouri Agricultural Experiment Station | date= 1936-10-15 अक्टूबर 1936 | url = http://www।pnas।org/cgi/reprint/22/10/579.pdf |format=PDF| doi = 10। 1073/pnas। 22। 10। 572| id = | accessdate = 2007-10-11 अक्टूबर 2007 }}</ref><ref>{{cite book | last = Berg | first = Paul |author2=Maxine Singer | title = George Beadle: An Uncommon Farmer। The Emergence of Genetics in the 20th century | publisher = Cold Springs Harbor Laboratory Press | date= 2003-08-15 अगस्त 2003 | isbn = 0-87969-688-5 }}</ref>
 
[[हरित क्रांति]] ने "उच्च-उत्पादकता की किस्मों" के निर्माण के द्वारा उत्पादन को कई गुना बढ़ाने के लिए पारंपरिक [[संकरण]] के उपयोग को लोकप्रिय बना दिया।
उदाहरण के लिए, संयुक्त राज्य अमेरिका में मकई ([[मक्का]]) की औसत पैदावार 1900 में 2। 5 टन प्रति हेक्टेयर (t/ha) (40 बुशेल्स प्रति एकड़) से बढ़कर 2001 में 9। 4 टन प्रति हेक्टेयर (t/ha) (150 बुशेल्स प्रति एकड़) हो गयी।
 
इसी तरह दुनिया की औसत गेंहू की पैदावार 1900 में 1 टन प्रति हेक्टेयर से बढ़ कर 1990 में 2। 5 टन प्रति हेक्टेयर हो गई है। सिंचाई के साथ दक्षिण अमेरिका की औसत गेहूं की पैदावार लगभग 2 टन प्रति हेक्टेयर है, अफ्रीका की 1 टन प्रति हेक्टेयर से कम है, [[मिस्र]] और अरब की 3। 5 से 4 टन प्रति हेक्टेयर तक है। इसके विपरीत, फ़्रांस जैसे देशों में गेंहू की पैदावार 8 टन प्रति हेक्टेयर से अधिक है। पैदावार में ये भिन्नताएं मुख्य रूप से जलवायु, आनुवांशिकी और गहन कृषि तकनीकों (उर्वरकों का उपयोग, रासायनिक [[कीट नियंत्रण]], अवांछनीय पौधों को रोकने के लिए वृद्धि नियंत्रण) के स्तर में भिन्नताओं के कारण होती हैं।<ref>{{cite journal | last = Ruttan | first = Vernon W। | title = Biotechnology and Agriculture: A Skeptical Perspective | journal = AgBioForum | volume = 2 | issue = 1 | pages = 54–60 | publisher = | month = December | year = 1999 | url = http://www।mindfully।org/GE/Skeptical-Perspective-VW-Ruttan।htm | accessdate = 2007-10-11 अक्टूबर 2007 | format = {{Dead link|date=April 2009}} – <sup>[http://scholar।google।co।uk/scholar?hl=en&lr=&q=author%3ARuttan+intitle%3ABiotechnology+and+Agriculture%3A+A+Skeptical+Perspective&as_publication=AgBioForum&as_ylo=1999&as_yhi=1999&btnG=Search Scholar search]</sup> }}</ref><ref>{{cite journal | last = Cassman | first = K। | authorlink = |author2= | title = Ecological intensification of cereal production systems: The Challenge of increasing crop yield potential and precision agriculture | journal = Proceedings of a National Academy of Sciences Colloquium, Irvine, California | volume = | issue = | pages = | publisher = University of Nebraska | date= 5 दिसंबर 1998-12-05 | url = http://www।lsc।psu।edu/nas/Speakers/Cassman%20manuscript।html | doi = | id = | accessdate = 2007-10-11 अक्टूबर 2007 }}</ref><ref>रूपांतरण नोट: गेहूं का एक बुशेल = 60 पाउंड (पौंड) ≈ 27। 215 किलोग्राम। एक बुशेल मक्का = 56 पाउंड 25। 401 किलोग्राम</ref>
 
=== आनुवंशिक अभियांत्रिकी ===
आर्थिक विकास, जनसंख्या घनत्व और संस्कृति में अंतर का अर्थ है कि दुनिया भर के किसान बहुत अलग अलग परिस्थितियों में काम करते हैं।
 
को अमरीकी डालर 230 [119]<ref name="BBC">{{cite news | title=Cotton subsidies squeeze Mali| publisher= बीबीसी न्यूज़, Africa| url = http://news।bbc।co।uk/2/hi/africa/3027079।stm | accessdate = 2009-02-18 फरवरी 2009
}}</ref> सरकारी सब्सिडी (2003 में), माली और अन्य तीसरी दुनिया के देशों में किसानों को हो बिना लगाया प्राप्त हो सकती है। जब कीमतों में कमी आती है, बहुत अधिक सब्सिडी प्राप्त करने वाले संयुक्त राज्य के किसान पर अपने उत्पादन को कम करने का दबाव नहीं होता है। जिससे कपास की कीमतों को बनाये रखना मुश्किल हो जाता है, इसी समय में
 
दक्षिण कोरिया में एक पशु किसान, एक बछडे के लिए (बहुत अधिक सब्सिडी से युक्त) 1300 अमेरिकी डॉलर बिक्री मूल्य की गणना कर सकता है।<ref name="beefsite">{{cite news | publisher= megaagro।com।uy | url = http://www।megaagro।com।uy/scripts/templates/portada।asp?nota=portada/faena| accessdate = 2009-02-18 फरवरी 2009}}</ref> एक दक्षिण अमेरिकी मेर्कोसुर कंट्री रेंचर एक बछडे के लिए 120-200 अमेरिकी डॉलर बिक्री मूल्य की गणना कर सकता है (दोनों 2008 के आंकड़े)।<ref name="megaagro">{{cite news| title= mercado de faena| language = es| publisher= megaagro।com।uy | url = http://www।megaagro।com।uy/scripts/templates/portada।asp?nota=portada/faena| accessdate = 2009-02-18 फरवरी 2009}}</ref>
पहले वाली स्थिति में, भूमि की उंची लागत की क्षतिपूर्ति सार्वजनिक सब्सिडी के द्वारा की जाती है। बाद वाली स्थिति में, सब्सिडी के अभाव की क्षतिपूर्ति भूमि की कम लागत और पैमाने के अर्थशास्त्र के साथ की जाती है।
 
चीन के गणवादी राज्य में, एक ग्रामीण घरेलु उत्पादक संपत्ति, खेती की भूमि का एक हेक्टेयर हो सकती है।<ref name="Kansas">{{cite news | title= China: Feeding a Huge Population| publisher= Kansas-Asia (ONG)| url = http://www।asiakan।org/china/china_ag_intro।shtml|quote= average farming household in China now cultivates about one hectare| accessdate = 2009-02-18 फरवरी 2009}}</ref>
ब्राजील, पेराग्वे और अन्य देश जहां स्थानीय विधायिका ऐसी खरीद की अनुमति देती है, अंतरराष्ट्रीय निवेशक प्रति हेक्टेयर कुछ सौ अमेरिकी डॉलर की कीमत पर हजारों हेक्टेयर कच्ची भूमि या खेती की भूमि खरीदते हैं।<ref name="Paraguay">{{cite news | title= Paraguay farmland real estate| publisher= Peer Voss| url = http://www।ventacamposparaguay।com/farmland।htm |accessdate = 2009-02-18 फरवरी 2009}}</ref><ref>{{cite news | title = Cada vez más Uruguayos compran campos Guaranés (।।no hay tierras en
el mundo que se compren a los precious de Paraguay।।।)| language = es| publisher = Consejo de Educacion Secundaria de Uruguay| date = 26 जून 2008| url = http://www।ces।edu।uy/Relaciones_Publicas/BoletinPrensa/2007-08/20070824.pdf }}</ref><ref name="Brazil">{{cite news | title= Brazil frontier farmland| publisher= AgBrazil| url = http://agbrazil।com/frontier_land_for_sale।htm| accessdate = 2009-02-18 फरवरी 2009}}</ref>
 
== कृषि और पेट्रोलियम ==
|title=Food, Land, Population and the U।S। Economy, Executive Summary
|author=Pimentel, David and Giampietro, Mario
|date=1994-11-21 नवंबर 1994
|publisher=[[Carrying Capacity Network]]
|accessdate=8 जुलाई 2008-07-08
}}</ref> यद्यपि यह आंकडा पेट्रोलियम आधारित कृषि के समर्थन का विरोधी है।<ref>
{{cite journal
|format=pdf
|journal=Ethics in science and environmental politics
|date=2001-01-23 जनवरी 2001
|volume=9
|issue=18
|url=http://www।princeton।edu/hubbert/current-events।html
|title=Current Events - Join us as we watch the crisis unfolding
|date=2007-01-19 जनवरी 2007
|publisher=[[Princeton University|Princeton University: Beyond Oil]]
|author=Kenneth S। Deffeyes
|title=Yes, We're in Peak Oil Today
|publisher=Raise the Hammer
|date=2007-10-22 अक्टूबर 2007
|author=Ryan McGreal
|author=Dave Cohen
|publisher=ASPO-USA
|date=2007-10-31 अक्टूबर 2007
}}</ref><ref name="koppelaar092006">
|date=7 फ़रवरी 2004
|title=Monsanto's showcase project in Africa fails
|accessdate=2008-04-18 अप्रैल 2008
|volume=Vol 181 No। 2433
}}</ref> इसके अतिरिक्त, अफ्रीका में सब्सिसटेंस के जैव प्रोद्योगिकी उद्योग के द्वारा किये गए एक सर्वेक्षण में खोजा गया कि कौन सा GMO अनुसंधान सबसे स्थायी कृषि के लिए लाभकारी होगा और गैर ट्रांसजेनिक मुद्दों की पहचान करेगा।<ref>{{cite web
|title=Genetically Modified Crops in Africa: Implications for Small Farmers
|author=Jeremy Cooke
|accessdate=6 जून 2008-06-06
}}</ref>
 
 
=== संयुक्त राज्य अमेरिका ===
कृषि सबसे खतरनाक उद्योगों में से एक है।<ref>{{cite web|url=http://www।cdc।gov/niosh/topics/agriculture/|title=NIOSH- Agriculture|accessdate=10 अक्टूबर 2007-10-10|publisher=United States National Institute for Occupational Safety and Health}}</ref> किसानों को ऎसी चोटों का खतरा होता है, जो उनके लिए घातक भी हो सकती हैं, या घातक नहीं हो सकती है। उन्हें काम से सम्बंधित फेफडों की बीमारियां, [[शोर से होने वाला बहरापन या श्रवण शक्ति का ह्रास|शोर से होने वाला बहरापन]], त्वचा रोग और रसायनों के उपयोग और लम्बे समय तक धूप में रहने के कारण कैंसर हो सकता है।
 
कृषि उन गिने चुने उद्योगों में से है जिनमें परिवार को भी चोट, बीमारी या मृत्यु का खतरा बना रहता है। (क्योंकि परिवार वाले अक्सर साथ ही रहते हैं और काम में हाथ बंटाते हैं)। एक औसत वर्ष में, अमेरिका में 516 श्रमिकों की मृत्यु खेती का कार्य करने के दौरान होती है। 1992-2005)। इन मौतों में से, 101 ट्रैक्टर पलटने के कारण होती हैं। प्रति दिन लगभग 243 कृषि मजदूर कार्य-समय-चोट-क्षति को झेलते हैं और इनमें से लगभग 5% स्थायी रूप से विकलांग हो जाते हैं।<ref name="NIOSH_AgInj">{{cite web|url=http://www।cdc।gov/niosh/topics/aginjury/|title=NIOSH- Agriculture Injury|accessdate=10 अक्टूबर 2007-10-10|publisher=United States National Institute for Occupational Safety and Health}}</ref>
 
कृषि युवा श्रमिकों के लिए सबसे खतरनाक उद्योग है, अमेरिका में 1992 और 2000 के बीच कार्य से सम्बंधित होने वाली मौतों में से 42% युवा श्रमिकों की थीं।
{{Refbegin}}
 
* अल्वारेज़, राबर्ट ए (2007), [http://caliber।ucpress।net/doi/pdf/10। 1525/gfc। 2007। 7। 3। 28 दी मार्च ऑफ़ अम्पायर: मेंगोज, आवोकाडोज, एंड पोलिटिक्स ऑफ़ ट्रांसफर।] गेस्ट्रोनोमिका, खंड 7, संख्या 3, 28-33। 2008-11-12 नवंबर 2008 को पुनः प्राप्त।
* बोलेंस, एल (1997), गैर पश्चिमी संस्कृतियों में विज्ञान, प्रौद्योगिकी और चिकित्सा के इतिहास के विश्वकोश में 'कृषि', संपादक: हेलैने सेलिन; क्लुवर एकेडमिक पब्लिशर्स।
 
5,706

सम्पादन

दिक्चालन सूची