"सालासर बालाजी" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
4 बैट्स् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो
106.207.202.126 (Talk) के संपादनों को हटाकर 14.139.59.35 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (106.207.202.126 (Talk) के संपादनों को हटाकर 14.139.59.35 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
{{Infobox Indian Jurisdiction
|type = town
|native_name = सालासर हनुमान जीबालाजी
|other_name =
|district = चूरू
 
'''सालासर बालाजी''' भगवान [[हनुमान]] के भक्तों के लिए एक धार्मिक स्थल है। यह [[राजस्थान]] के [[चूरू जिला|चूरू जिले]] में स्थित है। वर्ष भर में असंख्य भारतीय भक्त दर्शन के लिए सालासर धाम जाते हैं। हर वर्ष [[चैत्र]] पूर्णिमा और आश्विन पूर्णिमा पर बड़े मेलों का आयोजन किया जाता है। इस समय 6 से 7 लाख लोग अपने इस देवता को श्रद्धांजलि देने के लिए यहाँ एकत्रित होते हैं। भारत में यह एकमात्र बालाजी का मंदिर है जिसमे बालाजी के दाढ़ी और मूँछ है। बाकि चेहरे पर राम भक्ति में राम आयु बढ़ाने का सिंदूर चढ़ा हुआ है। कहा जाता है इस मंदिर का निर्माण मुस्लिम कारीगरों ने किया था, जिसमे मुख्य थे फतेहपुर से नूर मोहम्मद व दाऊ।
हनुमान सेवा समिति, मंदिर और मेलों के प्रबन्धन का काम करती है। यहाँ रहने के लिए कई धर्मशालाएँ और खाने-पीने के लिए कई जलपान-गृह (रेस्तराँ) हैं। श्री हनुमान मंदिर सालासर कस्बे के ठीक मध्य में स्थित है। वर्त्तमान में सालासर हनुमान सेवा समिति ने भक्तों की तादाद बढ़ते देखकर दर्शन के लिए अच्छी व्यवस्था की है।
 
== स्थान ==
सालासर कस्बा, राजस्थान में [[चूरू|चूरू]] जिले का एक हिस्सा है और यह [[जयपुर]] - [[बीकानेर]] राजमार्ग पर स्थित है। यह [[सीकर]] से 57 किलोमीटर, सुजानगढ़ से 24 किलोमीटर और लक्ष्मणगढ़ से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। सालासर कस्बा सुजानगढ़ पंचायत समिति के अधिकार क्षेत्र में आता है और राजस्थान राज्य सड़क परिवहन निगम की नियमित बस सेवा के द्वारा [[दिल्ली]], जयपुर और बीकानेर से भली प्रकार से जुड़ा है।

दिक्चालन सूची