"रासायनिक समीकरण" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
573 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
[[चित्र:Combustion reaction of methane.jpg|right|thumb|300px|[[मिथेन]] का [[दहन]]]]
किसी [[रासायनिक अभिक्रिया]] के प्रतीकात्मक निरूपण को '''रासायनिक समीकरण''' कहते हैं। इसे समीकरण इसलिये कहा जाता है कि इसमें समता चिन्ह ('''=''') का प्रयोग किया जाता है ('''=''' के स्थान पर '''→''' का भी प्रयोग किया जाता है)। समता चिन्ह के बायीं ओर क्रिया करने वाले ([[अभिकारक]]) (reactants) लिखे जाते हैं तथा इसके दायीं ओर '''[[उत्पाद]]''' (products) लिखे जाते हैं। समीकरण का अधार यह है कि किसी रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेने वाले भिभिन्न तत्वों के परमाणुओं की संख्या अभिक्रिया के उपरान्त भी अपरिवर्तित रहती है।
 
 
==रासायनिक समीकरणों को संतुलित करना==
[[File:H3PO4 balancing chemical equation phosphorus pentoxide and water becomes phosphoric acid.gif|thumb|[[Phosphorus pentoxide|P<sub>4</sub>O<sub>10</sub>]] + 6 [[water|H<sub>2</sub>O]] → 4 [[Phosphoric acid|H<sub>3</sub>PO<sub>4</sub>]]<br>This chemical equation is being balanced by first multiplying H<sub>3</sub>PO<sub>4</sub> by four to match the number of P atoms, and then multiplying H<sub>2</sub>O by six to match the numbers of H and O atoms.]]
किसी रासायनिक अभिक्रिया को संतुलित करने का अर्थ है कि अभिकारकों और उत्पादों के न्यूनतम पूर्णांक अणुओं की संख्या लिखना ताकि रासायनिक अभिक्रिया में जिन शर्तों का पालन होता है, समीकरण में भी उन नियमों का पालन हो। उदाहरण के लिए निम्नलिखित अभिक्रिया को देखिए-
:<math>a\,\mathrm{Na_2CO_3}+b\,\mathrm{C}+c\,\mathrm{N_2} \longrightarrow d\,\mathrm{NaCN}+e\,\mathrm{CO_2}</math>

दिक्चालन सूची