"सदस्य:Chaitranaidu/प्रयोगपृष्ठ" के अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
सम्पादन सारांश रहित
No edit summary
No edit summary
करने वाले एजेंट वाणिज्यिक कागज के मुद्दे से संबंधित सभी मूल दस्तावेजों के संरक्षक हैं । भारतीय रिजर्व बैंक के मुताबिक केवल एक शेड्यूल बैंक वाणिज्यिक पेपर के मुद्दे के लिए जारी करने और भुगतान करने वाला एजेंट बन
सकता है। वाणिज्यिक पत्र केवल अग्रणी क्रेडिट योग्य संस्थानों द्वारा जारी किया जा सकता है। वाणिज्यिक एपीर को वित्त पत्र या कॉरपोरेट पेपर के रूप में भी जाना जाता है । इन दिनों व्यावसायिक कागजात प्राथमिक डीलरों
सकता है।
 
द्वारा भी जारी किए जा सकते हैं । गैर निवासी भारतीय केवल गैर-हस्तांतरणीय और गैर-रिपेर्टेबल आधार पर निवेश करने के लिए पात्र हैं । एक वाणिज्यिक पत्र जारी करने और भुगतान एजेंट नियुक्त करना अनिवार्य है।
 
विदेशी संस्थागत निवेश वाणिज्यिक पत्रों में निवेश कर सकते हैं, लेकिन प्रतिभूतियों और भारत की विनिमय बोर्ड द्वारा निर्धारित सीमाओं के भीतर निवेश कर सकते हैं । इन दिनों वाणिज्यिक पत्र एक डीमैट फॉर्म में जारी किए जा
 
सकते हैं । वाणिज्यिक पत्र में स्टाम्प ड्यूटी को आकर्षित करती है । भारतीय रिजर्व बैंक से पूर्व अनुमोदन के लिए वाणिज्यिक पत्र जारी करने की आवश्यकता नहीं है ।
एक वाणिज्यिक पत्र की परिपक्वता अवधि के न्यूनतम 7 दिनों के लिए और एक वर्ष की अधिकतम अवधि है । एक वाणिज्यिक पत्र का न्यूनतम मूल्य पांच लाख है। केवल कॉरपोरेट्स जिनका नेट वर्थ चार करोड़ से ऊपर है
 
एक वाणिज्यिक पत्र जारी करने की अनुमति है ।
42

सम्पादन

दिक्चालन सूची