"रेलगाड़ी": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
5 बाइट्स जोड़े गए ,  4 वर्ष पहले
→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: मे → में (2), उपर → ऊपर
छो (2405:204:A19C:FACF:0:0:2804:C0AD (Talk) के संपादनों को हटाकर Sanjeev bot के आखि...)
(→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: मे → में (2), उपर → ऊपर)
[[चित्र:Tren a las nubes cruzando Viaducto la Polvorilla.jpg|right|thumb|300px|रेलगाड़ी]]
'''रेलगाड़ी''' शब्द दो शब्द रेल और गाड़ी से मिलकर बना है जिसका अर्थ होता है रेल (अब हिन्दी मेमें इसे रेल की [[पटरी]] या सिर्फ पटरी कहते हैं) पर चलने वाली गाड़ी। दूसरे शब्दों मेमें एक रेलगाड़ी या ट्रेन वाहनों (डिब्बों) की एक जुड़ी हुई श्रृंखला है जो एक निश्चित स्थायी पथ पर चलकर माल और सवारियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुँचाती है। यह पथ आमतौर पर दो पटरियों से बना होता है, लेकिन यह एक पटरीय या मेग्लेव गाइडवे भी हो सकता है। ट्रेन के लिए प्रणोदन एक अलग लोकोमोटिव या स्वयं-प्रणोदित एकाधिक ईकाइयों की विशिष्ट मोटरों के द्वारा प्रदान किया जाता है। अधिकतर आधुनिक गाड़ियों डीजल इंजन या बिजली के इंजन जिन्हें रेलगाड़ी के उपरऊपर से जा रहे बिजली के तारों से बिजली मिलती है, द्वारा चलाई जाती हैं पर 19 वीं सदी के मध्य से 20 वीं शताब्दी तक यह भाप के इंजनों से चलती थीं। ऊर्जा के अन्य स्रोत जैसे घोड़े, रस्सी या तार, गुरुत्वाकर्षण, न्युमेटिक और गैस टर्बाइन के द्वारा भी रेलगाड़ी चलाना संभव हैं।
 
== चित्रदीर्घा ==

नेविगेशन मेन्यू