"कानपुर नगर जिला" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
3 बैट्स् नीकाले गए ,  4 वर्ष पहले
ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: । → । (13), नही → नहीं (2), है की → है कि (3), → (5)
छो (2405:204:A28A:1C53:5222:1519:2983:3422 (Talk) के संपादनों को हटाकर [[User:Hindustanilanguage|Hindust...)
(ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: । → । (13), नही → नहीं (2), है की → है कि (3), → (5))
*[[घाटमपुर]]
*[[बिल्हौर]]
*[[बिठूर ]]
*[[शिवराजपुर]]
 
*चमन गंज
*[[घाटमपुर]]
*[[बिल्हौर ]]
*[[नर्वल]]
 
 
== औद्योगिक द्रष्टिकोण ==
औद्योगिक द्रष्टिकोण से देखा जाए तो भारत में चेन्नई के बाद चमड़े का सबसे जादा उत्पादन कानपुर में ही होता है ।है। यही कारण है कीकि कानपुर नगर को लेदर सिटी के नाम से जाना जाता है , और उत्तर भारत का मैनचेस्टर भी कहा जाता है ।है।
 
यहाँ लगभग 400 चमड़े की टेनरीज है तथा 1000 घरेलु इकाईयां है ।है। जहा मुख्यतः भैस के चमड़े का कार्य होता है। यहाँ 1200 करोड़ रुपये का वार्षिक सामग्री चमड़ा तैयार किया जाता है। 6500 करोड़ रुपये के चमड़े का वार्षिक निर्यात किया जाता है तथा 1000 करोड़ रूपए का सालाना निर्यात घरेलु इकाईयों द्वारा किया जाता है ।है।
 
यहाँ सबसे जादा टेनरियां जाजमऊ में है जो की टेनरीयों का गढ़ के नाम से जानना जाता है ।है। यहाँ की टेनरीयो का गन्दा पानी व कचरा गंगा नदी में छोड़ा जाता है जो की गंगा नदी के पानी को बहुत गन्दा करता है ।है। आने वाले समय में चमड़ा उद्योग की ओर से 400 करोड़ रूपए का जलशोधक प्लांट का निर्माण प्रस्तावित है ।है।
 
== सन्दर्भ ==
कानपुर अपने मंडल में आने वाले अन्य जिलो से आर्थिक द्रष्टि से काफी मजबूत माना जाता है। परन्तु इसके बावजूद भी यहाँ विकास कुछ खास देखने को नहीनहीं मिलतामिलता। ।अधिकतरअधिकतर जगहों पर बहुत गन्दगी है , ग्रैंड ट्रक रोड यहाँ से होकर गुजरती है जो सबसे अधिक यातायात वहन करती है ।है।
 
शैक्षिक द्रष्टि से देखा जाए तो यहाँ इंटर कॉलेज तो भरपूर मात्रा में है , जो अच्छे भी है। विज्ञान ,वाणिज्य व कला संकाय के उत्क्रिस्ट स्नातकोत्तर महाविद्यालय भी है ।है। आई आई टी भी के भी अलावा अन्य अच्छे सरकारी तकनीकी विद्यालयों की भी कमी नही हैनहीं है।
 
हैलट यहाँ का बहुत अच्छा अस्पताल है इसका सबूत इससे मिला है कीकि यहाँ भिखारी से लेकर चार्टर एकाऊंटेंट तक दवा लेने आते हैहैं , '''ऐसा कहा जाता है कीकि इस अस्पताल में मरे हुए व्यक्ति को जिन्दा कर दिया जाता हैहै। ''' फिलहाल इसका सञ्चालन केंद्र सरकार कर रही हैहै। {{टिप्पणीसूची}}
 
== बाहरी कड़ियाँ==

दिक्चालन सूची