"श्लेष अलंकार": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
8 बाइट्स जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
No edit summary
अतः यहाँ श्लेष अलंकार है।
 
कनक कनक ते सौ गुना माद कता अधिकायअधिकाय।<br |/>
जो पाये बौराय जग जो खाये बौरायबौराय।
 
{{रस छन्द अलंकार}}
[[श्रेणी:अलंकार]]
[[श्रेणी:हिन्दी साहित्य]]
कनक कनक ते सौ गुना माद कता अधिकाय |
जो पाये बौराय जग जो खाये बौराय

नेविगेशन मेन्यू