"राष्ट्रभाषा" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
367 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
छो
27.97.156.247 (Talk) के संपादनों को हटाकर VSR07 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(Thank you)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
छो (27.97.156.247 (Talk) के संपादनों को हटाकर VSR07 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
भारतीय संविधान के निर्माण करने वाले डॉ॰ अंबेडकर चाहते थे कि संस्कृत इस देश की राष्ट्र भाषा बने, लेकिन अभी तक किसी भी भाषा को राष्ट्र भाषा के रूप में नहीं माना गया है। सरकार ने 22 भाषाओं को आधिकारिक भाषा के रूप में जगह दी है। जिसमें केन्द्र सरकार या राज्य सरकार अपने जगह के अनुसार किसी भी भाषा को आधिकारिक भाषा के रूप में चुन सकती है। केन्द्र सरकार ने अपने कार्यों के लिए हिन्दी और अंग्रेजी भाषा को आधिकारिक भाषा के रूप में जगह दी है। इसके अलावा अलग अलग राज्यों में स्थानीय भाषा के अनुसार भी अलग अलग आधिकारिक भाषाओं को चुना गया है। फिलहाल 22 आधिकारिक भाषाओं में असमी, उर्दू, कन्नड़, कश्मीरी, कोंकणी, मैथिली, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, नेपाली, ओडिया, पंजाबी, संस्कृत, संतली, सिंधी, तमिल, तेलुगू, बोड़ो, डोगरी, बंगाली और गुजराती है।
 
वर्तमान में सभी 22 भाषाओं को आधिकारिक भाषा का दर्जा प्राप्त है। 2010 में गुजरात उच्च न्यायालय ने भी सभी भाषाओं को समान अधिकार के साथ रखने की बात की थी। हालांकि न्यायालयों और कई स्थानों में केवल अंग्रेजी भाषा को ही जगह दिया गया है।India is one of the best place in the world and if you live here you can learn many things like loving and sharing and caring and discipline and joy and peace and happiness most of you knows that Hindi is one of a good languages in India it's a most important of All and I must respect it and I do respect it but we must think what to learn from Hindi thanks allहै।
 
==सन्दर्भ==

दिक्चालन सूची