"अंग महाजनपद" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
25 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (बॉट: अनुभाग शीर्षक एकरूपता के लिए अनुभाग का नाम बदला।)
[[अंग]] प्राचीन भारत के 16 [[महाजनपद|महाजनपदों]] में से एक था। इसका सर्वप्रथम उल्लेख [[अथर्ववेद]] में मिलता है। [[बौद्ध]] ग्रंथो में ''अंग और वंग'' को प्रथम आर्यों की संज्ञा दी गई है। [[महाभारत]] के साक्ष्यों के अनुसार आधुनिक [[भागलपुर]], [[मुंगेर]] और उससे सटे [[बिहार]] और [[बंगाल]] के क्षेत्र अंग प्रदेश के क्षेत्र थे। इस प्रदेश की राजधानी चंपा[[चम्पापुरी]] थी। {{Ref_label|चंपा|क|none}} यह जनपद मगध के अंतर्गत था। प्रारंभ में इस जनपद के राजाओं ने ब्रह्मदत्त के सहयोग से मगध के कुछ राजाओं को पराजित भी किया था किंतु कालांतर में इनकी शक्ति क्षीण हो गई और इन्हें मगध से पराजित होना पड़ा।<ref>{{cite book |last=नाहर |first= डॉ रतिभानु सिंह|title= प्राचीन भारत का राजनीतिक एवं सांस्कृतिक इतिहास |year= 1974 |publisher= किताबमहल|location= इलाहाबाद, भारत|id= |page= 111-112|editor: |accessday= 19|accessmonth=मार्च| accessyear=2008}}</ref>
 
[[महाभारत]] काल मेँ यह [[कर्ण]] का राज्य था।
 
== इन्हें भी देखें ==

दिक्चालन सूची