"याज्ञवल्क्य" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
29 बैट्स् जोड़े गए ,  5 वर्ष पहले
छो
टैग जोड़ा।
छो (टैग जोड़ा।)
{{स्रोतहीन}}
'''याज्ञवल्क्य''', [[वैदिक साहित्य]] में [[शुक्ल यजुर्वेद]] की वाजसनेयी शाखा के द्रष्टा हैं। याज्ञवल्क्य का दूसरा महत्वपूर्ण कार्य [[शतपथ ब्राह्मण]] की रचना है। [[बृहदारण्यक उपनिषद]] बहुत महत्वपूर्ण उपनिषद है जिसके प्रमुख [[ऋषि]] '''याज्ञवल्क्य''' हैं। इनका काल लगभग १८०० ई पू माना जाता है।
 

दिक्चालन सूची