"के पी सक्सेना" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
8 बैट्स् जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
छो
बॉट: अंगराग परिवर्तन
(→‎बाहरी कड़ियाँ: {{हिन्दी के प्रमुख व्यंग्यकार}})
छो (बॉट: अंगराग परिवर्तन)
वे [[कैंसर]] से पीड़ित थे। उनका निधन 31 अक्तूबर 2013 को लखनऊ में हुआ।<ref>[http://cgkhabar.com/satirist-kp-saxena-no-more-20131031/ छतीसगढ़ खबर, 31 अक्तूबर 2013, शीर्षक: लेखक के.पी. सक्सेना नही रहे]</ref>
 
== संक्षिप्त जीवन परिचय ==
के पी सक्सेना का जन्म सन् 1934 में बरेली में हुआ था।<ref>[[डॉ. गिरिराज शरण अग्रवाल]] एवं डॉ. मीना अग्रवाल '''हिन्दी साहित्यकार सन्दर्भ कोश''' (दूसरा भाग) [[संस्करण]]:2006, ISBN: 81-85139-29-6, प्रकाशक: [[हिन्दी साहित्य निकेतन, बिजनौर]], पृष्ठ: 91</ref> उनका पूरा नाम कालिका प्रसाद सक्सेना था। केपी जब केवल 10 वर्ष के थे उनके पिता का निधन हो गया। उनकी माँ उन्हें लेकर बरेली से लखनऊ अपने भाई के पास आ गयी। केपी के मामा रेलवे में नौकरी करते थे। चूँकि मामा के कोई औलाद न थी अत: उन्होंने केपी को अपने बच्चे की तरह पाला। केपी ने वनस्पतिशास्त्र (बॉटनी) में स्नातकोत्तर (एमएससी) की उपाधि प्राप्त की और कुछ समय तक लखनऊ के एक कॉलेज में अध्यापन कार्य किया।<ref name=समय लाइव>{{cite news |title=साहित्य जगत को बड़ी क्षति, हास्‍यव्‍यंग्‍य कवि केपी सक्‍सेना नहीं रहे |url=http://www.samaylive.com/nation-news-in-hindi/237602/pics-noted-hindi-satirist-writer-kp-saxena-passes-away.html?id=32722#photo |publisher=समय लाइव |date=01 नवम्बर Nov 2013 }}</ref>
 
जीवन के अन्तिम समय में उन्हें जीभ का [[कैंसर]] हो गया था जिसके कारण उन्हें 31 अगस्‍त 2013 को लखनऊ के एक निजी अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। परन्तु इलाज से कोई लाभ न हुआ और आख़िरकार उन्होंने 31 अक्तूबर 2013 सुबह साढ़े 8 बजे दम तोड़ दिया।<ref>[http://cgkhabar.com/satirist-kp-saxena-no-more-20131031/ छतीसगढ़ खबर, 31 अक्तूबर 2013, शीर्षक: लेखक के.पी. सक्सेना नही रहे]</ref>
 
== प्रमुख कृतियाँ==
पाँच से अधिक फुटकर व्यंग्य की पुस्तकों के अलावा कुछ व्यंग्य उपन्यास उनकी धरोहर है।<ref>[[डॉ. गिरिराज शरण अग्रवाल]] एवं डॉ. मीना अग्रवाल '''हिन्दी साहित्यकार सन्दर्भ कोश''' (दूसरा भाग) [[संस्करण]]:2006, ISBN: 81-85139-29-6, प्रकाशक: [[हिन्दी साहित्य निकेतन, बिजनौर]], पृष्ठ: 91</ref>
* नया गिरगिट
* बाजूबंद खुल-खुल जाय
* श्री गुल सनोवर की कथा
== सम्मान ==
केपी की व्यंग्य रचनाओं की लोकप्रियता को देखते हुए उन्हें सन् [[2000]] में भारत सरकार का विशेष अलंकरण [[पद्मश्री सम्मान]] प्रदान किया गया।<ref>[http://www.hindustantimes.com/entertainment/tabloid/noted-satirist-kp-saxena-dies/article1-1145848.aspx Noted satirist KP Saxena dies] - 31 अक्टूबर 2013 को [[हिन्दुस्तान टाइम्स]] में प्रकाशित [[प्रेस ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया]] की एक खबर</ref>
== सन्दर्भ ==
{{टिप्पणीसूची}}
== बाहरी कड़ियाँ==
* [http://navbharattimes.indiatimes.com/articleshow/25005320.cms सचमुच नाज-ए-लखनऊ हैं केपी सक्सेना] - 1 नवम्बर, 2013 [[नवभारत टाइम्स]]
* [http://www.jagran.com/entertainment/bollywood-noted-satirist-kp-saxena-passes-away-10833610.html नहीं रहे प्रख्यात व्यंग्यकार और लेखक केपी सक्सेना] - जागरण न्यूज नेटवर्क [[नई दिल्ली]], 1 नवम्बर, 2013 [[दैनिक जागरण]]

दिक्चालन सूची