"पंचांग": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
284 बाइट्स जोड़े गए ,  14 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
छो (robot Adding: lij:Lûnäio)
No edit summary
'''पंचांग''' (पंच + अंग = पांच अंग) [[हिन्दू]] काल-गणना की रीति से निर्मित पारम्परिक [[कैलेण्डर]] को कहते हैं।
पंचांग काल ,दिन को नामंकित करने कि एक प्रणाली है। पन्चाग के चक्र को खगोलकीय तत्वों से जोड जाता है.
[[चित्र:Hindu_calendar_1871-72.jpg|200px|thumb|पंचांग का एक पृश्ठ 1871-72.]]12 मास का एक वर्ष और 7 दिन का एक सप्ताह रखने का प्रचलन।प्रचलन [[विक्रम संवत]] से शुरू हुआ | महीने का हिसाब [[सूर्य]] व [[चंद्रमा]] की गति पैर रखा जाता है | यह 12 [[राशियाँ]] बारह सौर मास हैं | जिस दिन सूर्य जिस राशि मे प्रवेश करता है उसी दिन की संक्रांति होती है | पूर्णिमा के दिन चंद्रमा जिस नक्षत्र मे होता है उसी आधार पैर महीनो का नामकरण हुआ है | चंद्र वर्ष, सौर वर्ष से 11 दिन 3 घाटी 48 पल छोटा है | इसीलिए हर 3 वर्ष मे इसमे 1 महीना जोड़ दिया जाता है |
 
 
|-
| [[फाल्गुन]]
| पूर्वफाल्गुनपूर्व फाल्गुन , उत्तरफाल्गुनउत्तर फाल्गुन , हस्त
|}
----
 
==वाह्य सूत्र==
*[http://www.abhivyakti-hindi.org/snibandh/2008/calender.htm भारतीय कैलेंडर की विकास यात्रा] - गुणाकर मुले ( अभिव्यक्ति इ-पत्रिका)
 
 
{{हिन्दू काल गणना}}
[[श्रेणी:पंचांग]]
गुमनाम सदस्य

नेविगेशन मेन्यू