"राजा हरिश्चन्द्र" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
271 बैट्स् जोड़े गए ,  7 वर्ष पहले
छो
छो (Bot: Migrating 7 interwiki links, now provided by Wikidata on d:q3519217 (translate me))
 
इनकी पत्नी का नाम तारा था और पुत्र का नाम रोहित। इन्होने अपने दानी स्वभाव के कारण विश्वामित्र जी को अपने सम्पूर्ण राज्य को दान कर दिया था, लेकिन दान के बाद की दक्षिणा के लिये साठ भर सोने में खुद तीनो प्राणी बिके थे, और अपनी मर्यादा को निभाया था,सर्प के काटने से जब इनके पुत्र की मृत्यु हो गयी तो पत्नी तारा अपने पुत्र को शमशान में अन्तिम क्रिया के लिये ले गयी। वहाँ पर राजा खुद एक डोम के यहाँ नौकरी कर रहे थे और शमशान का कर लेकर उस डोम को देते थे। उन्होने रानी से भी कर के लिये आदेश दिया, तभी रानी तारा ने अपनी साडी को फाड़कर कर चुकाना चाहा,उसी समय आकाशवाणी हुयी और राजा की ली जाने वाली दान वाली परीक्षा तथा कर्तव्यों के प्रति जिम्मेदारी की जीत बतायी गयी।
==इन्हें भी देखें==
 
* [[राजा हरिश्चन्द्र (फ़िल्म)|राजा हरिश्चन्द्र]] – पूर्ण लम्बाई की प्रथम भारतीय फ़िल्म।
{{अयोध्या के सूर्यवंशी राजा}}
 

दिक्चालन सूची