"मापिकी" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
11 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (r2.7.2+) (Robot: Adding war:Metrolohiya)
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
चिह्नांकित गज या धातु पैमानों के उपविभागों के अंशाकन की पूरी लंबाई के पदों (terms) में 0.000005 इंच, या 0.0001 मिलीमीटर।
 
== लंबाई के मानक ==
साधारणत: प्रयोग में आनेवाले मानकों के लिये इस विषय को माप और तौल शीर्षक लेख में देखें।
 
[[माइकेल्सन का व्यतिकरणमापी|माइकेल्सन के व्यतिकरणमापी]] (interferometer) का उपयोग इस बात को जानने में भी किया गया कि एक मानक मीटर में कितनी प्रकाश की तरंगें आती है तथा उनकी संख्या क्या है? माइकेल्सन ने 150 सेंटीग्रेड ताप तथा 760 मिमी0 वायुमंडल के दबाव पर अंतरराष्ट्रीय मीटर का, जो पैरिस के पास माप और तौल के अंतरराष्ट्रीय संस्थान में रखा हुआ है, मान कैडमियम की लाल तरगों में, ज्ञात किया। यह मान 15,53,163.5 है, जो 2´106 में एक सीमा तक सही है। फैब्री पैरॉ (Fabri Perot) के बाद के प्रयोगों से ज्ञात हुआ कि 15° सें0 तथा 760 मिलीमीटर दबाव पर शुष्क हवा में एक मीटर में यह संख्या 15,53,164.13 है। यदि माइकेल्सन के प्रयोगें में जलवाष्प के प्रभाव के लिये संशोधन किया जाय, तो यह स्पष्ट होता है कि दोनों के मान में कोई अंतर नहीं है।
 
== द्रव्यमात्क मानकों का व्यवहार ==
इस बात का प्रमाण है कि द्रव्यात्मक मानक गज अपने निर्माणकाल से लेकर आज तक सभवत: 0.0002 इंच घट चुका है, लेकिन जहाँ तक अंतरराष्ट्रीय आदिप्ररूप मीटर का सवाल है वह अपरिवर्तित रहा है। माइकेल्सन तथा फैब्री पैरॉ के प्रयोगों ने इसे सिद्ध भी कर दिया है। इनकी तुलना का आधार कैडमियम की लाल रेखा थी। द्रव्य के सब सब मानक मीटर एक मिश्रधातु के बनाए जाते हैं, जिसके निर्माण में 90% प्लैटिनम तथा 10% इरीडियम नामक धातु होती है। इस प्रकार में मीटरों को आधारभूत मानकों के लिये सबसे संतोषप्रद माना जाता है।
 
=== इनवार (Invar) का व्यवहार ===
बहुत से कार्यों में, जहाँ अत्यंत ही यथार्थ माप की समस्या आ खड़ी होती है, वहाँ यह आवश्यक है कि हम ऐसे द्रव्य का व्यवहार करें जिसका तापीय प्रसार नाम मात्र का हो। ऐसी धातुओं की खोज हो चुकी है तथा इनमें से एक को 'इनवार' कहते हैं। यह निकल तथा इस्पात की मिश्रधातु है, जिसमें 36% निकल रहता है। दूसरी मिश्रधातु को स्टेबल इनवार (Stable invar) की संज्ञा दी गई है। इसमें थोड़ा क्रोमियम भी होता है। इस मिश्रधातु में साधारण इनवार की अपेक्षा यथेष्ट कम प्रसार होता है, तो भी इसको अचर के रूप में नहीं माना जा सकता।
 
=== संगलित सिलिका (frsed silica) तथा प्राकृतिक क्रिस्टल क्वार्ट्ज (crystal quartz) ===
दूसरा द्रव्य संगलित सिलिका है, जिसका प्रसार गुणांक बहुत ही कम है। यह द्रव्य एक डिग्री सें0 ताप बढ़ने पर केवल 0.4´10-6 बढ़ता है। संगलित सिलिका का मानक मीटर एक नली के आकार का होता है, जिसके सिरे पर समांतर पट्ट (plates) संलीन (fused) होते हैं। इसके प्लैटिनीकृत तल पर सीमांकित रेखाएँ खुदी होती है। इस मानक के बारे में जहाँ तक ज्ञात है, इसकी लंबाई में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है। चूँकि इस प्रकार का मानक बहुत ही नाजुक होता है, इसलिये न तो इसे मौलिक निर्देश मानक के रूप में स्वीकार किया गया और न इसका प्रचलन दैनिक कार्यों में हुआ। केवल मापविज्ञान प्रयोगशालाओं में इसे प्रयोग में लाया जाता है।
 
== द्रव्यमान (संहति) का मानक ==
किसी भी प्राकृतिक मानक द्वारा अभी तक इकाई संहति की परिभाषा देने का प्रयास नहीं किया गया। हम सभी लागों को यह ज्ञात है कि रेडियो सक्रिय पदार्थो की खोज में पहले संहति या द्रव्यमान पदार्थ का एक आवश्यक स्थिर गुण माना जाता था। बटखरों की संहति या द्रव्य मानक में परिवर्तन की आशंका अपघर्षण, ऑक्सीकरण तथा आर्द्रताग्राही अवशोषण के कारण ही संभव है। यदि द्रव्यों के मानकों का संरक्षण तथा उपयोग उचित सावधानी के साथ किया जाय, तो ये काफी हद तक भार की स्थिरता का प्रदर्शन करते हैं।
 
हवा में संहति के मानकों की तुलना करते समय ये मानक वायु के विभिन्न आयतनों को हटाते हैं। अत: संहति के मानकों की तुलना करने में ऊपरी उत्प्लावन प्रभाव का विचार अवश्य रखना चाहिए। यदि मानक का घनत्व कम होगा, तो उत्प्लावन संशोधन ज्यादा होगा। प्लैटिनम-इरीडियम मानकों की आपसी तुलना में जो शुद्धता प्राप्त होती है, वह इस सत्यांश पर आधृत है कि इनका घनत्व अधिक ही नहीं वरन्‌ बहुत पास पास होता है। इसके कारण उत्प्लावन संशोधन बहुत ही कम होता है। उन भारों की तुलना में उत्प्लावन संशोधन एक समस्या के रूप में आ खड़ा होता है जिनके घनत्व में बहुत अंतर होता है जिनके, जैसे प्लैटिनम, क्वार्ट्‌ज तथा पीतल आदि। इस दोष को दूर करने के लिये वायुरहित वातावरण में तौलना आवश्यक है। प्रतिदिन के व्यापारिक कार्यों में तौल का कार्य हवा में ही होता है, और उत्प्लावन के कारण जो अंतर बाटों तथा माल में होता है, वह व्यापारिक दृष्टिकोण से नगण्य है। निरीक्षक व्यापारिक बाटों की तुलना के लिये पीतल के, जिसका घनत्व 8.143 है, बाटों के मानक काम में लाते हैं।
 
=== तुला का उपयोग ===
जब हम वायुरहित वातावरण में तौल नहीं करते हैं, तब भी द्रव्यमान के प्राथमिक मानकों की सही तुलना के लिये तुला की बनावट उत्तम, प्रयोग की रीति दक्ष तथा सतर्क होनी चाहिए। तुला के शून्य पठनांक को स्थिर रखने के लिये यह आवश्यक है कि तापस्थिरता में अत्यंत सावधानी बरती जाय। इसलिये जिस कक्ष में तुला रखी हो उसको ताप स्थापकीय रीति से (thermostatically) नियंत्रित होना आवश्यक है और निरीक्षक को तौलने का कार्य कक्ष से बाहर से करना चाहिए, या उसे कुछ दूरी से तौलना चाहिए। बाटों को काम में लाने का कार्य तुला के बाहर से यांत्रिक नियंत्रण द्वारा, या लंबी छड़ों से चलाकर, किया जाना चाहिए। तुला की डंडी (beam) का संचलन या तो दूरदर्शी से देखना चाहिए अथवा पैमाने के आर पार डंडी से लगे हुए शीशे से परावर्तित होते एक प्रकाशपुंज की मापनी (scale) पर गति से।
 
छोटी छोटी मात्राओं को तौलने के लिये, और विशेष कर गैसों के घनत्वों की तुलना में, सूक्ष्म तुला प्रयोग में लाई जाती है, जो पूर्णतया बलित क्वार्ट्ज की बनी होती है। इस प्रकार की तुलाओं द्वारा 108 में एक भाग की शुद्धता तक 1/10 ग्राम भी तौला जा चुका है।
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[विधिक मापविज्ञान]] (लीगल मेट्रोलॉजी)
* [[मापन]]
 
== सन्दर्भ ==
* Organisation Internationale de Metrologie Legale. (2000), International Vocabulary of Terms in Legal Metrology, [Online] http://www.oiml.org/publications/V/V001-ef00.pdf. (Latest version draft can be downloaded at http://www.ncsli.org/vim/wg2_doc_N318_VIM_3rd_edition_2006-08-01%20(3).pdf)
* Bureau International des Poids et Mesures. (2005), "What is metrology", Copyright BIPM 2004, [Online] http://www.bipm.org/en/bipm/metrology/.
* Bureau International des Poids et Mesures. (2000), The International System of Units (SI), [Online] BIPM web pages: http://www.bipm.fr/enus/3_SI/
* Bureau International des Poids et Mesures. (2000), The Convention of the meter, [Online] BIPM web pages: http://www.bipm.fr/enus/1_Convention/
* Melville, D.J. (2001). Sumerian metrological numeration systems, Mesopotamian Mathematics, [Online] St. Lawrence University web pages, http://it.stlawu.edu/%7Edmelvill/mesomath/sumerian.html
* National Institute of Standards and Technology. (1999), The NIST Reference of Constants, Units, and Uncertainty, [Online] NIST web pages: http://physics.nist.gov/cuu/index.html
* National Institute of Standards and Technology / Sematech. (n.d.). Engineering Statistics Handbook. [Online] NIST web pages: http://www.nist.gov/itl/div898/handbook/
* National Physical Laboratory, UK - National Measurement Laboratory - Metrology related resources including many free PDF downloads including Good Practice Guides: [Online] http://www.npl.co.uk/
* Ken Alder, "The Measure of All Things", Little, Brown 2002. (An historical account on the origin of the metric system, the meridian project).
* Kimothi, S. K., "The Uncertainty of Measurements: Physical and Chemical Metrology: Impact and Analysis", 2002, ISBN 08738953550-87389-535-5
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
{{commons|Category:Metrology}}
* [http://www.springer.com/dal/home/generic/search/results?SGWID=1-40109-22-24419924-0 Measurement Uncertainties in Science and Technology, Springer 2005]
* [http://www.uncertainty.de Proposal for a New Error Calculus]
* [http://www.uncertainty.de/p97_s.pdf Estimation of Measurement Uncertainties — an Alternative to the ISO Guide]
* [http://www.bipm.fr/ Bureau International des Poids et Mesures (BIPM)]
* [http://www.nist.gov/ National Institute of Standards and Technology (NIST)]
* [http://www.npl.co.uk/ National Physical Laboratory]
* [http://www.usno.navy.mil/ U.S. Naval Observatory]
* [http://www.ncsli.org/ National Conference of Standards Laboratories (NCSL)]
* [http://www.wikibiopharm.com Calibration] in the pharmaceutical, biotechnology, and medical device industries.
* [http://www.iso.org/ International Organization for Standardization]
* [http://www.agilent.com/metrology/ Agilent Metrology Forum]
* [http://elsmar.com/APQP/ Presentation about Product Quality planning that includes a typical industry “Dimensional Control Plan” ]
* [http://www.metrologia.cl National Metrology Network of Chile]
* [http://www.sirim.my National Metrology Laboratory of Malaysia]
* [http://www.cpm.uncc.edu UNC Charlotte Center for Precision Metrology]
 
[[श्रेणी:मापन| ]]
74,334

सम्पादन

दिक्चालन सूची