"मीनास्य तारा" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
133 बैट्स् जोड़े गए ,  9 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (फ़ुमलहौत का नाम बदलकर मीनास्य तारा कर दिया गया है।)
[[File:Fomalhaut with Disk Ring and extrasolar planet b.jpg|thumb|फ़ुमलहौत तारे के इर्द-गिर्द के [[आदिग्रह चक्र]] के [[खगोलीय धूल|धूल के बादल]] में [[फ़ुमलहौत बी]] ग्रह परिक्रमा करता हुआ पाया गया ([[हबल अंतरिक्ष दूरबीन]] द्वारा ली गई तस्वीर)]]
'''मीनास्य''' या '''फ़ुमलहौत''', जिसे [[बायर नामांकन]] के अनुसार α पाइसिस ऑस्ट्राइनाइ कहा जाता है, [[दक्षिण मीन तारामंडल]] का भी सब से रोशन [[तारा]] है और [[पृथ्वी]] के आकाश में [[सबसे रोशन तारों की सूची|नज़र आने वाले तारों में से भी सब से ज़्यादा रोशन तारों]] में गिना जाता है। यह पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध (हॅमिस्फ़ेयर) में पतझड़ और सर्दी के मौसम में शाम के वक़्त दक्षिणी दिशा में आसमान में पाया जाता है। यह पृथ्वी से २५ [[प्रकाश-वर्ष]] की दूरी पर है और इस से अत्यधिक [[अधोरक्त]] (इन्फ़्रारॅड) प्रकाश उत्पन्न होता है, जिसका अर्थ यह है के यह एक मलबे के चक्र से घिरा हुआ है।
 
[[ग़ैर-सौरीय ग्रहों]] की खोज में फ़ुमलहौत का ख़ास स्थान है क्योंकि यह पहला [[ग्रहीय मण्डल]] है जिसके एक ग्रह ([[फ़ुमलहौत बी]]) की तस्वीर खीची जा सकी थी।
*[[ग़ैर-सौरीय ग्रह]]
*[[दक्षिण मीन तारामंडल]]
*[[सबसे रोशन तारों की सूची]]
 
[[श्रेणी:तारे]]

दिक्चालन सूची