"प्रकाशानुपात": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
6 बाइट्स हटाए गए ,  11 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश नहीं है
(नया पृष्ठ: [[File:Ceres 2003 2004 clear sky total sky albedo.png|thumb|200px|२००३-२००४ में पृथ्वी के भिन्न क्षेत्रों...)
 
No edit summary
[[File:Ceres 2003 2004 clear sky total sky albedo.png|thumb|200px|२००३-२००४ में पृथ्वी के भिन्न क्षेत्रों का औसत ऐल्बीडो - ऊपरी चित्र बिना बादलों के ऐल्बीडो दर्शाता है और निचला चित्र बादलों के साथ]]
'''ऐल्बीडो''' किसी सतह के अपने ऊपर पड़ने वाले [[प्रकाश]] या अन्य [[विद्युतचुंबकीय विकिरण]] (इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन) को प्रतिबिंबित करने की शक्ति के माप को बोलते हैं। अगर कोई वस्तु अपने ऊपर पड़ने वाले प्रकाश को पूरी तरह वापस चमका देती है तो उसका ऐल्बीडो १।०१.० या प्रतिशत में १००% कहा जाता है। [[खगोलशास्त्र]] में अक्सर [[खगोलीय वस्तुओं]] का एल्बीडो जाँचा जाता है। [[पृथ्वी]] का ऐल्बीडो ३० से ३५% के बीच में है। पृथ्वी के वायुमंडल के बादल बहुत रोशनी वापस चमका देते हैं। अगर बादल न होते तो पृथ्वी का ऐल्बीडो कम होता।<ref>वातावरण का ज्ञानकोष, तीसरा संस्करण (ऍन्वारमॅन्टल ऍन्साएक्लोपीडिया, अंग्रेज़ी में), थ़ॉमसन गैल, २००३, [[आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰]] संख्यांक ०-७८७६-५४८६-८</ref>
 
==भिन्न पदार्थों का ऐल्बीडो==
नयी गिरी बर्फ़ का ऐल्बीडो बहुत ऊँचा होता है (लगभग ०।९०.९ यानि ९०%) जबकि कोयले का ऐल्बीडो सिर्फ़ ०।०४०.०४ (यानि ४%) होता है।
 
==शब्द की उत्पत्ति==

नेविगेशन मेन्यू