"जलसम्भर" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  9 वर्ष पहले
जलविभाजक तीन मुख्य प्रकार के होते हैं -
*'''[[महाद्वीपीय विभाजक]]''' - इस विभाजन में किसी [[महाद्वीप]] के एक जलसंभर का जल एक ओर के महासागर की तरफ बहता है और उसके पड़ौसी जलसंभर का जल दूसरी ओर के महासागर की तरफ बहता है। मिसाल के लिए [[अफ़्रीका]] के महाद्वीप पर [[नील नदी]] के जलसंभर का पानी उत्तर की ओर बहकर [[भूमध्य सागर]] में विलय हो जाता है लेकिन उसके पड़ौसी [[कांगो नदी]] के जलसंभर का पानी पश्चिम की ओर बहकर [[अन्ध महासागर]] में विलय हो जाता है।
*'''बृहद् विभाजक''' - यह वो बड़े विभाजक हैं जिनमें जल दो भिन्न और एक-दुसरे से कभी न मिलने वाली नदियों में अलग-अलग तो बहतेबहता हैं, लेकिन दोनों नदियाँ अंत में जाकर एक ही सागर या महासागर में विलय हो जाती हैं। चीन की [[ह्वांगहो]] और [[यांग्त्सीक्यांग]] नदियों के जलविभाजक इसका उदहारण हैं - दोनों नदिया अलग-अलग बहतीं हैं लेकिन अंत में जाकर दोनों [[प्रशांत महासागर]] में ही मिल जाती हैं।
*'''लघु विभाजक''' - यह वो छोटे पैमाने के विभाजक होते हैं जिनमें जल अलग-अलग नदियों में एकत्रित तो होता है लेकिन वे नदियाँ स्वयं ही आगे चलकर मिल जाती हैं। इसकी मिसाल गंगा और यमुना के जलविभाजक हैं।
 

दिक्चालन सूची