विरजानन्द दण्डीश

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
महर्षि दयानंद सरस्वती के गुरु महर्षि विरजानंद दंडी का जन्म  पंजाब प्रांत में जालंधर जिले के गंगापुर(करतारपुर) नामक गांव में प० नारायण दत्त जी के यहाँ हुआ था। पांच वर्ष की आयु में शीतला रोग के कारण उनकी दोनो आँखो की दृष्टि चली गई थी। तथा बारह वर्ष की आयु में ही वह माता-पिता की छत्र छाया से वंचित हो गये ।