वियना सम्मेलन (1985)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

वियना संधि (कन्वेंशन) यह ओज़ोन परत के संरक्षण के लिए एक बहुपक्षीय पर्यावरण समझौता है। इस पर 1985 के वियना सम्मेलन में सहमति बनी और 1988 में यह लागू किया गया। 196 देशों (सभी संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों के साथ-साथ ही होली सी, निउए और कुक द्वीपसमूह) के साथ-साथ यूरोपीय संघों द्वारा इसे मंजूर किया जा चुका है।

वियना संधि, ओजोन परत की रक्षा के लिए अंतरराष्ट्रीय प्रयासों के लिए एक ढांचे के रूप में कार्य करता है।हालांकि इसमें सीएफसी के इस्तेमाल के लिए कानूनी रूप से बाध्यकारी न्यूनता के लक्ष्य शामिल नहीं हैं, ओज़ोन परत रिक्तीकरण का मुख्य कारण रासायनिक कारक हैं। उपरोक्त बातें मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल में रखी गयींहैं।

सन्दर्भ[स्रोत सम्पादित करें]