विनिमय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

विनिमय का अर्थ हैं ;

जब किसी वस्तु के बदले मे कोई वस्तु का आदान-प्रदान होता हैं, तो वह विनिमय कार्य कहलाता हैं। विनिमय को दो वर्गोँ में विभाजित किया गया हैं।

१. क्रय २. विक्रय

क्रय- जब कोई वस्तु हम खरीदते हैं तो उसके बदले में जो भी मूल्य देते हैं क्रय विनिमय कहलाता है।

विक्रय विनिमय - जब कोई वस्तु बेचते हैं और इसके बदले मे जो मूल्य प्राप्त करते हैं, विक्रय विनिमय कहलाता है।