विज्ञान नगरी, कोलकाता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
विज्ञान नगरी

विज्ञान नगरी कोलकाता का विहंगम दृश्य
ध्येय विज्ञान संचार
स्थापना 1 जुलाई 1997
प्रकार विज्ञान केन्द्र
वैधानिक स्थिति सरकारी
उद्देश्य शैक्षणिक
मुख्यालय कोलकाता
स्थान Flag of भारत भारत
सेवित  क्षेत्र कोलकाता
निदेशक अरिजित दत्ता चौधरी
पितृ संगठन राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद्
कर्मचारी 72[1]
जालपृष्ठ sciencecitykolkata.org.in
टिप्पणी आगंतुक: 1,522,726 [As on 31 मार्च 2011][2] Floor space: 32064 M²[3]

कोलकाता की विज्ञान नगरी विज्ञान से सम्बन्धित एक प्रदर्शनी एवं संग्रहालय है। यह भारतीय उपमहाद्वीप में अपने तरह का सबसे बड़ा विज्ञान केन्द्र है। यह भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के अन्तर्गत आता है।

इसमें दो सुविधाएँ हैं– विज्ञान केन्द्र एवं सम्मेलन केन्द्र। विज्ञान नगरी परिसर में स्पेस ओडीसी, डायनामोशन, क्रम-विकास पार्क, समुद्रवर्ती केन्द्र और एक विज्ञान पार्क है। स्पेस ओडीसी में प्रथम दीर्घाकार फार्मेट चलचित्र प्रेक्षागृह, समय यंत्र, 3-विमीय दृश्य प्रेक्षागृह, दर्पण का जादू और अंतरिक्ष विज्ञान, गतिविद्युत एवं कल्पित सत्य पर प्रदर्श (मॉडल) हैं। दर्शकों की शिक्षा तथा उनके मनोरंजन दोनों के लिए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी कोना, जल जीवशाला, भीमकाय रोबोटिक कीड़ों पर एक प्रदर्शनी तथा अनेक अन्त:क्रियात्मक प्रदर्श हैं।

सम्मेलन केन्द्र परिसर में एक बड़ा प्रेक्षागृह (2232 आसन क्षमता वाला), एक छोटा प्रेक्षागृह (392 आसन क्षमता) और एक संगोष्ठी कक्ष है जिसमें 15 से लेकर 100 की आसन क्षमता, अन्त: गृह (270 वर्ग मीटर) और मुक्त प्रांगन प्रदर्शनी स्थल (20000 वर्ग मीटर) है। प्रेक्षागृह एवं संगोष्ठी कक्ष पूर्णत: वातानुकुलित हैं। कम्पनी की वार्षिक आम सभाओं तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए विज्ञान नगरी का सम्मेलन केन्द्र सर्वाधिक पसंदीदा स्थल है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Activity report 2010-11. p-80 राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद् प्रकाशन
  2. Activity report 2010-11. p - 80 National Council of Science Museums publication.
  3. National Council of Science Museums. N.p., n.d. Web. 21 Nov. 2010. <http://www.ncsm.org.in/units1.aspx>.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]