विजयसारथी श्रीभाष्यम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
श्रीभाष्यम् विजयसारथी
चित्र:File:Vijayasarathi Sribhashyam.jpg
जन्म 10 मार्च 1936 (1936-03-10) (आयु 85)[1]
करीमनगर जिला, तेलंगण
राष्ट्रीयता भारतीय
शिक्षा प्राप्त की राष्ट्रीय संस्कृत विद्यापीठ, तिरुपति
श्री विश्वेश्वर संस्कृत महाविद्यालय (UG & PG), वरांगल (KU)
प्रसिद्धि कारण संस्कृत साहित्य
जीवनसाथी हेमलता[2]
बच्चे वरप्रसद[2]
पुरस्कार पद्मश्री
महामहोपाध्याय
वाचस्पति पुरस्कार

विजयसारथी श्रीभाष्यम् (जन्म : ) एक भारतीय लेखक, संस्कृत वैयाकरण, दार्शनिक और आलोचक हैं। वह साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए वर्ष 2020 के लिए भारत के अत्यधिक प्रतिष्ठित पुरस्कार पद्म श्री के प्राप्तकर्ता हैं।[3][4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Sribhashyam Vijayasarathi felicitated". The Hindu (अंग्रेज़ी में). 30 January 2020.
  2. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; Toi नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  3. "Sribhashyam Vijayasarathi felicitated". The Hindu (अंग्रेज़ी में). 30 जनवरी 2020.
  4. "Sons of Telugu soil elated and humbled by Padma Shri honour | Hyderabad News - Times of India". The Times of India (अंग्रेज़ी में).