विकिपीडिया वार्ता:लेखों से संबंधित शिकायतें

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी को बचायें[संपादित करें]

मैं कभी कभी हिन्दी के छोटे ज्ञानवर्धक लेख पढ़ने हिन्दी विकिपीडिया में आया करता था। इस ही वर्ष आरंभ किये गए आज का आलेख के लेखों से मेरी रुचि बढ़ी थी। किंतु कुछ दिनों से यहां देखा है कि आज का आलेख के अन्तर्गत जो लेख प्रदर्शित होते हैं, उनके मुखपृष्ठ पर प्रदर्शित अंश में या मुख्य लेख में बहुत सी कमियाँ दिखाई देती हैं। क्या कोई संपादक या इनका लेखक बदला है, अथवा कुछ और कारण है। एक डोडो लेख देखा था जो शायद बिना पूर्ण सम्पादन के ही मुखपृष्ठ पर दिखाई दिया। आज ये शायद प्रोटीन का लेख है, जो कि अपने विस्तार से कड़ी द्वारा जेट विमान पर जाता है। ये तकनीकी खराबी है, या कोई जान-बूझ कर कर रहा है या किसी की जल्दबाजी का परिणाम है, किंतु बहुत ही हास्यास्पद है। इसके अलावा प्रोटीन लेख में किसी प्रकार पहुंचने पर वहां भी बहुत सी सामान्य गलतियाँ दिखती हैं। लगता है कि लेखक का उच्चारण ही सही नहीं है। उदाहरण के लिए एन्टीवाडीज जिसका सही उच्चारण एवं वर्तनी एन्टीबॉडीज़ होगा (इसके लिए हिन्दी में शब्द है: प्रतिरक्षी), टर्सरी जिसका सही उच्चारण व वर्तनी टर्शियरी होगा (वैसे इसके लिए हिन्दी में तृतीयक शब्द भी है), अमीनो अम्ल को कहीं अमीनो तो कहीं ऐमीनो लिखा है तथा पोलिमराइजेसन (पॉलीमराईजेशन) जिसके लिए भी हिन्दी में बहुलकीकरण शब्द है। कृपया यहां का स्तर बनाए रखने हेतु इतनी छोटी गलतियाँ करने से बचें। हिन्दी को पंगु बनाने के लिए आज के टेलीवीजन कार्यक्रम ही बहुत हैं, कृपया विकिपीडिया को इसका भागी ना बनाएं। वाग भक्त

वाग भतक्त जि आप्को अपने हस्ताक्षर तो करने हि चाहिये थे।
--122.162.54.104 ०३:३३, ६ जुलाई २००९ (UTC)

जैन दर्शन के ५-७ खन्ड मे आपने नव तत्व लिखा है जो कि सात होता है। पुण्य व पाप हटने से सात तत्व बचते है।

सप्त तत्त्व

जीव, अजीव, आस्रव, बन्ध, संवर, निर्जरा, मोक्ष,

प्रवीण

"http://hi.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%B8%E0%A4%A6%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%AF_%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A4%E0%A4%BE:Parveen.1957" से लिया गया

विकिपीडिया पर कुछ लोग कर रहे हैं बौद्धिक संपदा सरंक्षण एंव कॉपीराइट कानून का उल्लंघन[संपादित करें]

बौद्धिक संपदा एंव कॉपीराइट कानून का दुर्पयोग व उल्लंघन न करें।[संपादित करें]

कृपया निम्नलिखित लिंक्स पर जाकर देखे कि एक सदस्य ने मेरे ब्लॉग से जो तथ्य लिए हैं, उनके लिए न तो इस सदस्य ने मुझसे इजाजत लेने की जरूरत समझी और कुछ में सन्दर्भ देने की जहमत भी नही की। याद रहे कि ज्ञान के स्वंतन्त्र प्रचार प्रसार में विकिपीडिया के इस पवित्र और वृहद कार्यक्रम में इस तरह की गतिविधियां बाधा बन सकती हैं। इस सदस्य ने हुबहू मेरे वाक्यों का इस्तेमाल किया हैं। इस सदस्य से विनम्र अनुरोध है कि ऐसी गतिविधियों में लिप्त न हो, नही तो भारतीय कॉपीराइट कानून एंव अन्तर्राष्ट्रीय/कॉमनवेल्थ कॉपीराइट कानून व साइबर लॉ के तहत आप पर कार्यवाही करने के लिए बाध्य हो जाऊंगा। मेरी सामग्री मेरी वेबसाइट एंव मेरे ब्लॉग्स से लेकर बिना मेरी इजाजत के विकिपीडिया पर न डाले। मैं स्वंय विकिपीडिया को समृद्ध करने के लिए तत्पर हूँ, एंव आप भी मेरे कार्य को विकिपीडिया पर डाल सकते है, मेरी इजाजत लेने के उपरान्त।

यहाँ से यह सामग्री ली गयी. कृपया देखें----

बिली अर्जन सिंह के लेख को भी मेरे ब्लॉग से कॉपी किया गया, एंव इस तस्वीर का विवरण दे कि आप ने इसे कब और कहां खींचा।

यहाँ से यह सामग्री ली गयी. कृपया देखें----

धन्यवाद कृष्ण कुमार मिश्र --manhan ०९:०१, ३० अक्टूबर २०१० (UTC) --manhan ०९:०२, ३० अक्टूबर २०१० (UTC) --manhan ०९:०७, ३० अक्टूबर २०१० (UTC) --manhan ०९:०९, ३० अक्टूबर २०१० (UTC)


[1] इस पृष्ठ पर "गोस्वामी" से व्यक्त आशय पूरी तरह गलत दिया गया है इस कृत्या से लेखक पाठकों को भ्रमित कर रहा है, इस लेखा को पड़ने के uprant हमें सिवा छोभ के अन्य कोई भी अनुभूति नहीं हुई, nischay ही इसे किसे अल्पज्ञानी के लिखा कर सभी का उपहास किया है कृपया इस पृष्ठ को प्रतिबंधित करें वास्तविक जानकारी गोस्वामी वन्शुपर भी उपलब्ध है किन्तु हम पूर्ण जानकारी जल्द ही उपलब्ध कराएँगे

हिंदी ब्लॉगजगत के तीन बड़ी धुरिओं द्वारा अपनी सेवाएं समाप्त कर ली गयीं हैं। परन्तु सभी जगह उनक[संपादित करें]

मान्यवर! सभी वरिष्ठ हिंदी प्रेमिओं को अनुज कनिष्क का प्रणाम ! हिंदी चिट्ठाकारी से मेरी सामीप्यता कुछ ४ वर्षों से है. विकिपीडिया पर सक्रिय संपादकों से यह आग्रह है कि हिंदी ब्लॉगजगत के तमाम उल्लेख नारद, चिटठाजगत और ब्लॉगवाणी से ही भरे हुए है. जबकि सच्चाई यह है कि इन तीनों ने ही अपनी सेवाएं समाप्त कर दी हैं. संपादकों से आग्रह है कि इसे अपडेट किया जाए. "ब्लॉगप्रहरी नेटवर्क " http://www.blogprahari.com नाम से एक नया (किन्तु १ वर्ष से ) एक अभूतपूर्व सेवा हिंदी ब्लॉग को केंद्र में रखकर सक्रिय है. हालाँकि इसे सुविधा और समर्पण की हद देखते बनती है. हालिया दिनों में फेसबुक और गुटबाजी ने अभी हिंदी ब्लॉगजगत का ध्यान खिंचा है, जिससे स्तरीय लेखन और ब्लॉगरों की सक्रियता की कमी के रूप में देखा जा सकता है. कृपया इस प्रयास को अपना समर्थन दें और इसे शामिल कर एक नया पन्ना इसके नाम बनाने की अनुमति दें. आप सभी से बहुत कुछ सिखने को लालायित आपका कनिष्क कश्यप

व्हेल पर लेख[संपादित करें]

कृपया व्हेल लेख देखें। यह लेख यकायक शुरु होता है और व्हेल प्राणी को छोड़कर बाकी सब विषय इसमें सम्मिलित हैं। लेख की को formatting नहीं है। इस लेख का सम्पादन आवश्यक है।--Somesh virgo (वार्ता) 04:44, 28 फ़रवरी 2012 (UTC)

पिंडारी ग्लेशियर[संपादित करें]

पिंडारी ग्लेशियर जाने के रास्ता में धाकुरी आता है. तब धाकुरी के तस्बीर क्यों हटाया गया ? कृपा कर व्याख्या करे. धन्यवाद.

पिंडारी ग्लेशियर जाने के रास्ता में धाकुरी आता है. तब धाकुरी के तस्बीर क्यों हटाया गया ? कृपा कर व्याख्या करे. धन्यवाद. https://hi.wikipedia.org/wiki/पिण्डारी_हिमनद Sumita Roy Dutta (वार्ता) 10:11, 31 अगस्त 2015 (UTC)

@Sumita Roy Dutta: जी ! क्योंकि तस्वीर में प्रमुखता से ज्ञानकोष के लायक जानकारी होने की बजाय यह किसी की व्यक्तिगत तस्वीर अधिक थी! धाकुरी के बारे में कोई महत्वपूर्ण जानकारी नहीं थी सिवाय एक बोर्ड के! यह धाकुरी की तस्वीर कम और उसमें दिख रही पर्यटक की तस्वीर अधिक प्रतीत हो रही थी; यहाँ ऐसी तस्वीरें नहीं लगाई जातीं! धन्यवाद!--त्यम् मिश्र बातचीत 12:05, 31 अगस्त 2015 (UTC)