विकिपीडिया:WikiProject Medicine/Translation task force/RTT/Simple Childbirth

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
प्रसव
वर्गीकरण एवं बाह्य साधन
Postpartum baby2.jpg
Newborn infant and mother

प्रसव, को प्रसव पीड़ा और प्रसव भी कहा जाता है, एक या एकाधिक शिशुओं के महिला के गर्भाशय से बाहर आना गर्भावस्था की समाप्ति है।[1] 2015 में विश्वभर में 13 करोड़ 50 जन्म हुए थे।[2] सगर्भता]] के 37 सप्ताह से पहले लगभग 1.5 करोड़ जन्म हुए थे, [3] जब कि 3 से 12% 42 सप्ताह के बाद [[गर्भावस्था समय पश्चात| जन्म हुए थे।[4] विकसित दुनिया में सबसे अधिक प्रसूतियाँ अस्पताल में होती हैं, [5][6] जबकि विकासशील दुनिया में सबसे अधिक जन्म एक पारंपरिक जन्म परिचर के समर्थन से घर पर होता है।[7]

प्रसव का सबसे आम तरीका योनि प्रसव है।[8] इसमें प्रसव के तीन चरण शामिल हैं:घटाव और गर्भाशय ग्रीवा का खुलना, नीचे आना और शिशु का जन्म, और गर्भनाल का बाहर निकलना।[9] पहला चरण आम तौर पर बारह से उन्नीस घंटे तक रहता है, दूसरा चरण बीस मिनट से दो घंटों तक रहता है, और तीसरा चरण पांच से तीस मिनट का होता है।[10] पहला चरण पेट में सख्त दर्द या पीठ दर्द से शुरू होता है, जो लगभग आधा मिनट तक होता है और हर दस से तीस मिनट में होता है।[9] सख्त दर्द समय के साथ अधिक तेज और करीब होते जाते हैं।[10] दूसरे चरण के दौरान ढकेलने के साथ संकुचन हो सकता है।[10] तीसरे चरण में आम तौर पर गर्भनाल के डिलेड क्लैम्पिंग की अनुशंसा की जाती है।[11] दर्द में कई विधियों जैसे विश्राम तकनीकें, ओपिओइड, और स्पाइनल ब्लॉक से सहायता मिल सकती है।[10]

अधिकतर शिशु सर के बल; तथापि लगभग 4% पहले पैर या नितंब के बल जन्म लेते हैं, जिसेनितंब के बल कहते हैं।[10][12] प्रसव के दौरान कोई महिला आमतौर पर खा सकती है और आस पास टहल सकती है जैसा उसे पसंद हो, धक्का पहले चरण या सिर के बाहर निकलने के दौरान अनुशंसित नहीं है, और एनिमा अनुशंसित नहीं हैं।[13] योनि द्वार पर कट लगाना, जिसे भगछेदन (Episiotomy) के रूप में जाना जाता है, समान्य है, आम तौर पर इसकी आवश्यकता नहीं होती है।[10] 2012 में, लगभग 2 करोड़ 30 लाख प्रसव एक शल्य प्रक्रिया से हुई जिसे शल्‍यजनन के रूप में जाना जाता हैं।[14] शल्‍यजनन जुड़वा, बच्चे में संकट के लक्षण, या नितंब के बल की स्थिति के लिए अनुशंसा की जा सकती है।[10] प्रसव की इस पद्धति से ठीक होने में अधिक समय लग सकता है।[10]

हर साल गर्भ और गर्भावस्था से प्रसव में जटिलताओं के परिणामस्वरूप लगभग 500,000 मातृ मृत्यु, 70 लाख महिलाओं में गंभीर दीर्घकालिक समस्याएं, और 5 करोड़ महिलाओं में प्रसव के बाद स्वास्थ्य नकारात्मक परिणाम होते हैं। [15] इनमें से अधिकांश विकासशील दुनिया में होते हैं।[15] विशिष्ट जटिलताओं में शामिल हैं बाधित प्रसव , प्रसूति रक्तस्राव, एक्लम्पसिया, और प्रसवोत्तर संक्रमण[15] शिशु में जटिलताओं में शामिल हैं जन्म एफ़्फ़िक्सिया[16]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Martin, Elizabeth. Concise Colour Medical Dictionary (अंग्रेज़ी में). Oxford University Press. पृ॰ 375. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780199687992.
  2. "The World Factbook". www.cia.gov. जुलाई 11, 2016. अभिगमन तिथि 30 July 2016.
  3. "Preterm birth Fact sheet N°363". WHO. नवम्बर 2015. अभिगमन तिथि 30 July 2016.
  4. Buck, Germaine M.; Platt, Robert W. (2011). Reproductive and perinatal epidemiology. Oxford: Oxford University Press. पृ॰ 163. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780199857746.
  5. Co-Operation, Organisation for Economic; Development (2009). Doing better for children. Paris: OECD. पृ॰ 105. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9789264059344.
  6. Olsen, O; Clausen, JA (12 September 2012). "Planned hospital birth versus planned home birth". The Cochrane database of systematic reviews (9): CD000352. PMID 22972043.
  7. Fossard, Esta de; Bailey, Michael (2016). Communication for Behavior Change: Volume lll: Using Entertainment–Education for Distance Education. SAGE Publications India. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9789351507581. अभिगमन तिथि 31 July 2016.
  8. Memon, HU; Handa, VL (मई 2013). "Vaginal childbirth and pelvic floor disorders". Women's health (London, England). 9 (3): 265–77, quiz 276-7. PMID 23638782.
  9. "Birth". The Columbia Electronic Encyclopedia (6 संस्करण). Columbia University Press. 2016. अभिगमन तिथि 2016-07-30 from Encyclopedia.com. |accessdate= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  10. "Pregnancy Labor and Birth". Women's Health. सितम्बर 27, 2010. अभिगमन तिथि 31 July 2016.
  11. McDonald, SJ; Middleton, P; Dowswell, T; Morris, PS (11 July 2013). "Effect of timing of umbilical cord clamping of term infants on maternal and neonatal outcomes". The Cochrane database of systematic reviews (7): CD004074. PMID 23843134.
  12. Hofmeyr, GJ; Hannah, M; Lawrie, TA (21 July 2015). "Planned caesarean section for term breech delivery". The Cochrane database of systematic reviews (7): CD000166. PMID 26196961.
  13. Childbirth: Labour, Delivery and Immediate Postpartum Care (अंग्रेज़ी में). World Health Organization. 2015. पृ॰ Chapter D. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-92-4-154935-6. अभिगमन तिथि 31 July 2016.
  14. Molina, G; Weiser, TG; Lipsitz, SR; Esquivel, MM; Uribe-Leitz, T; Azad, T; Shah, N; Semrau, K; Berry, WR; Gawande, AA; Haynes, AB (1 December 2015). "Relationship Between Cesarean Delivery Rate and Maternal and Neonatal Mortality". JAMA. 314 (21): 2263–70. PMID 26624825. डीओआइ:10.1001/jama.2015.15553.
  15. Education material for teachers of midwifery : midwifery education modules (PDF) (2nd संस्करण). Geneva [Switzerland]: World Health Organisation. 2008. पृ॰ 3. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-92-4-154666-9.
  16. Martin, Richard J.; Fanaroff, Avroy A.; Walsh, Michele C. Fanaroff and Martin's Neonatal-Perinatal Medicine: Diseases of the Fetus and Infant (अंग्रेज़ी में). Elsevier Health Sciences. पृ॰ 116. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780323295376.