विकिपीडिया:प्रबन्धन अधिकार हेतु निवेदन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(विकिपीडिया:Requests for adminship से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
प्रशासक
(Bureaucrat)
प्रबन्धक
(Administrator)
रोलबैकर्स
(Rollbackers)
पुनरीक्षक
(Reviewers)
स्वतः परीक्षित सदस्य
(Autopatrolled)
बॉट
(Bots)
चित्र प्रेरक
(File Movers)
वरिष्ठ संपादक
(Templateeditor)

प्रबन्धक

Admin mop.PNG

प्रबन्धक या सिस्टम ऑपरेटर वह सदस्य समूह है जिसे सामान्य सदस्यों से कुछ अधिक अधिकार एक साथ उपलब्ध रहते हैं, जिससे विकि प्रणाली के समस्त कार्य सुचारु रुप से चलते रहें। वैसे तो हिन्दी विकि पर कई नए सदस्य अधिकार बनाये गये हैं जो प्रबन्धकों को एक साथ उपलब्ध रहते है। यदि कोई सदस्य प्रबन्धकों के समस्त कार्य करने का इच्छुक है तो वह प्रबन्धक पद के लिये निवेदन कर सकता है अथवा किसी विशेष अधिकार जैसे अन्तरफलक सम्पादन, सुरक्षित पृष्ठ सम्पादन, परीक्षक जाँच अधिकार, स्वतः परीक्षित अधिकार एवं रोलबैक अधिकार इत्यादि के लिये अलग से सदस्यता ले सकता है। अतः सदस्य नामांकन के समय प्रबन्धक अधिकारों के वाँछित प्रयोग को स्पष्ट करे जिससे मतदाता को एक सकारात्मक दृष्टिकोण मिले। इन सदस्य अधिकारो के बाद निम्न कार्यों के लिये कोई भी सदस्य अपने आप को प्रबन्धक पद के लिये नामांकित कर सकता है।

प्रबन्धक दायित्व

  1. उत्पात रोकना (जिसके अन्तर्गत उत्पातियों और उनके द्वारा किए गए उत्पात पर नियन्त्रण करना सम्मिलित है)
  2. हटाने योग्य पृष्ठों/लेखों को हटाना या उन्हें सम्पादित करके विकिपीडिया के मानकों के अनुसार सही करना।
  3. महत्त्वपूर्ण पृष्ठों को सुरक्षित या अर्ध-सुरक्षित करना।
  4. इन्ण्टरफेस सुधार के लिये मीडिया विकि सञ्चिकाओं को सम्पादित करना।
  5. कुछ सदस्य समूह जैसे आइपी अवरोध मुक्त, स्वतःपरीक्षित सदस्य, स्थापित सदस्य, प्रत्याहर्ता, विशिष्ट सदस्य आदि जोड़ना एवं हटाना।
  6. दुरुपयोग छनन एवं अन्य विकि टूल्स एवं गैजेट में विकि समाज की आवश्यकता अनुसार सुधार एवं संशोधन करना इत्यादि।
  7. पृष्ठों/लेखों इत्यादि का सही नाम पर स्थानान्तरण करना।

प्रबन्धक पद हेतु आवश्यकताएँ

ध्यान रहे कि प्रबन्धक कोई पद अथवा विशेष अधिकारी नहीं अपितु कुछ अधिकार हैं जो विकि समुदाय के सक्रिय सदस्यों द्वारा केवल कुछ विश्वसनीय अतिसक्रिय सदस्यों को दिये जाते हैं जिससे विकि प्रणाली के समस्त कार्य सुचारु रुप से चलते रहें। अतः केवल इन अधिकारों के प्रयोग के लिये ही अपना नामांकन कारण सहित दें या स्वीकार करें। इस अधिकार की प्राप्ति के लिये निम्न आवश्यकताए हैं -

  1. लगभग ८०% बहुमत में समर्थन (मत गणना करते समय नए, कठपुतली एवं अवरोधित सदस्यों के मतों को छोड़ा जा सकता है अर्थात कम महत्व दिया जा सकता है। अन्य विकियों जैसे मलयालम विकि आदि में तो किसी सदस्य को अपना मत देने के लिये न्यूनतम १०० सम्पादन करना आवश्यक है। अतः हिन्दी विकि में भी सम्पादनों का कुछ अनुभव रखने वाले सदस्यों का मत मान्य होगा। ऐसे सदस्य जिन्होने यहाँ सदस्य खाता तो खोल रखा है परन्तु उन्हें बहुत ही कम सम्पादनों का अनुभव है और केवल यहाँ किसी सदस्य के नामांकन पर यहाँ मत देने आते हैं, का मत मान्य नहीं होगा)।
  2. समान्यत ४ सक्रिय प्रबंधकों एवं २ विशिष्ट सदस्य के समर्थनों के साथ स्थायी प्रबंधन अधिकार दिया जा सकता है
  3. सामान्यतः नामांकित सदस्य एवं मतदाता विकि पर अति सक्रिय होना चाहिये अर्थात लम्बे समय तक असक्रिय न रहे।
  4. सदस्य को उत्पात हटाने (रोलबैक) हेतु एवं लेख गुणवत्ता जाँच (परीक्षक) का अनुभव भी होना चाहिये।
  5. सदस्य पर समुदाय का विश्वास होना चाहिये, सदस्य को नए सदस्यों की सहायता के लिये भी तत्पर रहना चाहिये।
  6. प्रबन्धकों द्वारा निरन्तर अपने अधिकार का दुरुपयोग करने पर समुदाय के समर्थन अथवा विकिनीतियों के आधार पर उन्हें हटाया जा सकता है। यह नियम विकि पर उपलब्ध प्रत्येक सदस्यता के लिए है।
  7. इसके अतिरिक्त आवधिक (२-३ महीने) रूप से भी कुछ विशेष कार्य करने के लिए लगभग ४-५ विशेष समर्थनों (प्रबन्धक, विशिष्ट सदस्य, परीक्षक) के आधार पर यह अधिकार किसी विशिष्ट सदस्य को दिया जा सकता है। इस प्रकार कोई सदस्य प्रबंधन अधिकार में अपनी कुशलता भी सिद्ध कर सकताहै
  8. इसके अलावा किसी तकनीकी जाँच अथवा कार्य हेतु बहुत ही कम समय(१ घंटा अथवा १ दिन) के लिये यह अधिकार किसी विश्वसनीय अनुभवी सदस्य को तात्कालिक रुप से दिया जा सकता है।

प्रबन्धक/प्रशासक पद से निवृति

प्रबन्धक/प्रशासक पद से किसी सदस्य को हटाने का प्रावधान कुछ विकियों में है एवं कुछ विकियों में नहीं है। जैसे साधारण अंग्रेजी विकि [1] पर प्रशासक प्रबन्धक को हटा सकते है (On the Simple English Wikipedia bureaucrats can also remove administrator status) इस प्रकार कुछ अन्य विकि परियोजनाओं पर भी प्रबन्धक को हटाने के प्रावधान हैं। फ्राँसीसी विकिपीडिया में तो ६ महीने से अधिक निष्क्रिय रहने वाले प्रबन्धको को निरन्तर हटाया जाता रहा है जिसका कारण है कि नये कुशल सक्रिय सदस्यों को पदोनत्ति देना एवं लम्बे समय की अनुपस्थिति के कारण हैकिंग द्वारा प्रबन्धकों के खातों का दुरुपयोग न होना हैं।[2]

जैसा कि प्रबन्धन नाम से ही स्पष्ट है कि कई महत्त्वपूर्ण कार्यों का महत्त्वपूर्ण अवसरों पर प्रबन्ध करना, अतः प्रबन्धन अधिकार रखने वाले सदस्यों की विकि पर सक्रिय उपस्थिति अत्यावश्यक है। अब हिन्दी विकि पर कई सदस्यताएँ भी बना दी गयी हैं जिनसे कार्य विशेष हेतु प्रबन्धक बनना आवश्यक भी नहीं रहा। सदस्य प्रबन्धक के जिस अधिकार में स्वयं को कुशल मानते है उसे अलग से प्राप्त कर सकते है। हाँ प्रबन्धक के कई कार्य या जो कार्य नये सदस्यों की सीमा से बाहर हैं, इत्यादि के लिये प्रबन्धन अधिकार हेतु समस्त सदस्यों का स्वागत है। इन सब विकियों की तर्ज पर हिन्दी विकि पर भी प्रशासकों द्वारा प्रबन्धकों को निम्न कारणों से पद मुक्त किया जा सकता है-

  1. प्रबन्धक की लम्बे समय से विकि पर अनुपस्थिति होने पर प्रबन्धकों की अनावश्यक संख्या में वृद्धि रोकने एवं नए अति सक्रिय सदस्यों को प्रबन्धक बनने का अवसर देकर विकि की सतत रुप से प्रगति के लिये निम्न परिस्थियों में उन्हें हटाया जा सकता हैं:-
  2. २३ मार्च २०१५ को नियमावली में कुछ परिवर्तन स्वीकृत किये गये थे जिसके अनुसार प्रथम नियम को बदलकर नवीन नियम निम्न प्रकार बनाये गये हैं:
    • यदि कोई प्रबन्धक छः माह तक १८० से कम सार्थक सम्पादन करता है तो उसे प्रबन्धक पद से हटा दिया जायेगा और पुनः सक्रिय होने पर आम सहमति से ही उन्हें प्रबन्धक बनाया जायेगा।
    • यदि कोई प्रबन्धक सदस्यों के साथ हिन्दी के स्थान पर अन्य भाषा में (सदस्य की इच्छा के विपरित) चर्चा करने लगे तो उसे प्रबन्धक पद से हटा दिया जायेगा। (यह नियम नीचे दिये गये गए अन्य नियम का ही दूसरा रूप है जिसके अनुसार प्रबन्धक का दायित्व मैत्रीपूर्ण व्यवहार बनाना है।)
    • यदि किसी भी समय चुनाव में किसी प्रबन्धक को ७०% (मतदान करने वालों में) से कम सदस्यों का समर्थन प्राप्त हो तो उसे पदच्युत कर दिया जाये। (इसमें नवीन सदस्यों एवं अत्यल्प अथवा नकारात्मक योगदान रखने वाले सदस्यों की गणना नहीं की जायेगी।)
  1. प्रबन्धक को चेतावनी मिलने के बाद भी अपने अधिकारो का दुरुपयोग अथवा चेतावनी मिलयाँने के बाद भी विकि नीतियों का उल्लंघन जैसे निजी टिप्पणी, कठपुतली आदि से सदस्यों को परेशान करना। ध्यान रहे मीडियाविकि नीतियों के अनुसार प्रबन्धक का दायित्व सबसे मैत्रीपूर्ण व्यवहार बनाकर सबको उत्साहित करते हुए विकि की प्रगति करना है। अतः अपने अधिकार का बार-बार दुरुपयोग करने पर प्रबन्धक को कुछ समय या हमेशा के लिये निलम्बित किया जा सकता हैं।
  2. यदि सदस्य ने आवधिक सीमा के अन्दर प्रबन्धक पद लिया है तो उस अवधि के समाप्त होने पर उसे प्रबन्धक पद दायित्व से मुक्त किया जा सकता है।
  3. किसी प्रबन्धक द्वारा स्वयं को इस पद से निवृति हेतु आवेदन करने पर भी उसे इस पद से मुक्त (सेवानिवृत) किया जा सकता है।
  • हाँ पद मुक्त किये गये प्रबन्धकों को निम्न परिस्थियों में विकि पर पुनः सक्रिय होने पर फिर से प्रबन्धक पद दिया जा सकता है:
  1. फिर से मतदान द्वारा समर्थन प्राप्त करने पर, अथवा
  2. हिन्दी विकि में ५००० से अधिक सम्पादन रखने वाले प्रबंधक पदमुक्त अनुभवी सदस्यों/अथवा तकनीकी रुप से दक्ष सदस्यों को निरंतर (१ माह) पुनः सक्रिय रहने पर उनके आवेदन पर बिना मतदान के सीधा ही पुनः प्रबन्धक बना दिया जायेगा, अगर उनके आवेदन पर कोई विशेष विरोध न हो तो।

.

प्रबन्धक पद के लिये निवेदन की प्रक्रिया

ध्यान दें: प्रबन्धक पद के लिये जिस सदस्य को नामित किया जा रहा है, उसे यह प्रस्ताव स्वीकार होना आवश्यक है। अतः यदि आप किसी को प्रबन्धक के लिये नामित करते हैं तो सम्बन्धित सदस्य के वार्ता पृष्ट पर उनके लिये भी सन्देश लिख दीजिये और उनसे आग्रह कीजिए कि यदि वे इस प्रस्ताव से सहमत हैं तो इस पृष्ठ पर अपनी सहमति प्रकट करें। इसके साथ ही ध्यान रखें कि नये नामांकन का प्रस्ताव सबसे उपर ही लिखें।

वर्तमान समय : 04:17, 27 अगस्त 2016 (UTC)

नामांकन का प्रारूप कुछ इस तरह का होना चाहिये:


== सदस्य नाम ==
 {{sr-request
 |Status    = <!--don't change this line-->
 |user name =
}}
 (आपका मन्तव्य) ~~~~

===समर्थन===
===विरोध===
===तटस्थ===
===टिप्पणी===
===परिणाम===

आवेदन परिणाम प्रक्रिया

आपके आवेदन करने के 7 दिन बाद तक मतदान प्रक्रिया चलेगी, इसके पश्चात परिणाम को कोई भी प्रबन्धक मॅटा विकि पर लेकर जायेगा और वहाँ के परिणाम को ही यहाँ पर घोषित किया जायेगा। नामांकन के असफल घोषित होने के कारण इसे मॅटा-विकि पर नहीं ले जाया जायेगा।

संदर्भ

  1. http://simple.wikipedia.org/wiki/Wikipedia:Administrators#Bureaucrat
  2. http://fr.wikipedia.org/wiki/Wikip%C3%A9dia:Prise_de_d%C3%A9cision/Administrateur/Suspension_et_retrait_du_statut_en_cas_d%27inactivit%C3%A9_prolong%C3%A9e_ou_de_d%C3%A9mission#Proposition_1

इन्हें भी देखें

नियमावली में कुछ बदलावों का प्रस्ताव

प्रबन्धक अधिकार प्राप्त कुछ सदस्यों की सक्रियता को लेकर काफी समय से सवाल उठाये जाते रहे हैं। अतः मैं निम्नलिखित प्रस्ताव लाना चाहता हूँ:

  • कि यदि कोई प्रबन्धक छः माह तक १८० से कम सार्थक सम्पादन करता है तो उसे प्रबन्धक पद से हटा दिया जाये और पुनः सक्रिय होने पर चुनाव के माध्यम से ही उसे प्रबन्धक बनाया जाये।
  • कि यदि कोई प्रबन्धक सदस्यों के साथ हिन्दी के स्थान पर अन्य भाषा में (सदस्य की इच्छा के विपरित) चर्चा करने लगे तो उसे प्रबन्धक पद से हटा दिया जाये।
  • कि यदि किसी भी समय चुनाव में किसी प्रबन्धक को ७०% (मतदान करने वालों में) से कम सदस्यों का समर्थन प्राप्त हो तो उसे पदच्युत कर दिया जाये।

कृपया इनपर अपना निर्णय दें जिससे इसे यथाशीघ्र लागू किया जा सके।☆★संजीव कुमार (✉✉) 15:50, 16 अप्रैल 2015 (UTC)

समर्थन
  1. प्रस्तावक के रूप में।☆★संजीव कुमार (✉✉) 15:50, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
  2. Symbol support vote.svg समर्थन--सत्यम् मिश्र (वार्ता) 16:56, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
  3. Symbol support vote.svg समर्थन--मनोज खुराना 18:12, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
  4. Symbol support vote.svg समर्थन--Mr wikilover (वार्ता) 03:44, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
  5. Symbol support vote.svg समर्थन---- अनुनाद सिंहवार्ता 03:52, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
  6. Symbol support vote.svg समर्थन-----डा० जगदीश व्योमवार्ता 03:57, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
  7. Symbol support vote.svg समर्थन -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 05:33, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
  8. Symbol support vote.svg समर्थन ----माला चौबेवार्ता 05:55, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
  9. Symbol support vote.svg समर्थन----शेखर (वार्ता)शेखर 07:15, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
  10. Symbol support vote.svg समर्थन-- अह्मद निसार (वार्ता) 18:41, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
  11. Symbol support vote.svg समर्थन--Naziah rizvi (वार्ता) 11:17, 19 अप्रैल 2015 (UTC)
विरोध
टिप्पणी एवं चर्चा
  • @संजीव कुमार: i suggest instead of 50 edits per 6 months it should be 180 edits on article pages per 6 months....because we are talking about admin here....normal users have more than 50 edits per 6 months....admin should be more active and more involved on wikipedia.....6 months = 180 days so 180 edits on article pages will be correct...Sperm whale fluke.jpg Darth Whale वार्ता 16:04, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
आपकी इच्छा के अनुसार इसे १८० कर दिया गया है लेकिन ध्यान रहे ये सार्थक सम्पादनों की बात की गयी है अर्थात मुख्य नामस्थान के सम्पादन जिनमें उचित भाषा और सम्पादन सारांश दिया गया हो। एक पृष्ठ में लिपापोती करने में यदि १८० सम्पादन कर दिये तो उन्हें नहीं गिना जायेगा।☆★संजीव कुमार (✉✉) 16:44, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
@संजीव कुमार: why saying this to me mate?....further this should be audited every 1st day of month...example, on june 1, work from jan 1 to may 31 should be audited...then on july 1 work from feb 1 to june 30 should be audited...like this admins will be active every month...Sperm whale fluke.jpg Darth Whale वार्ता 03:22, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
  • तीसरा मुझे खास समझ में नहीं आया। कृपया थोड़ा विस्तृत करें। बाकी दोनों को मेरा समर्थन है।--पीयूष (वार्ता)योगदान 16:18, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
  • लोकतंत्र में केवल बहुमत को देखा जाना चाहिए । "हिन्दी के स्थान पर अन्य भाषा" की बात एक अनिवार्य नियम के बजाय "भाषा परंपरा" का मामला होना चाहिए - यानी यदि अधिकांश सदस्य किसी प्रबंधक के बार-बार "गैर-हिन्दी" टिप्पणियों से परेशान हों तो चौपाल या कोई और मंच पर खुलकर चर्चा हो और एक प्रस्ताव पारित करके उस प्रबंधक को हटा देना चाहिए। --मुज़म्मिल (वार्ता) 16:35, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
वर्तमान नियमावली के अनुसार प्रबन्धक बनते समय समर्थन ८०% प्राप्त करना होता है लेकिन हटाने के सम्बंध में मत प्रतिशत की चर्चा नहीं की गयी है। चूँकि प्रबन्धक को हटाने के पक्ष में यदि ३० प्रतिशत सदस्य भी हैं तो उसे हटाना उचित होगा।
आप प्रबन्धक बनने जा रहे हो अतः ध्यान रहे, विकिपीडिया लोकतंत्र नहीं है।☆★संजीव कुमार (✉✉)
मैंने आसफ़ बरताव से चर्चा की और वह आश्चर्यचकित थे कि कैसे प्रबन्धक के लिए "८०%" का लक्ष्य निर्धारित किया गया है? "३० प्रतिशत" सदस्य का वोट का अर्थ तो यह भी हो सकता है कोई भी तीन सदस्य कहीं चाय पर जमा हों सीधी चर्चा से किसी भी प्रबंधक को चाहे कितना ही सक्रिय क्यों न हो, निकाल दें। --मुज़म्मिल (वार्ता) 17:07, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
मुज़म्मिल जी 80% समर्थन या 30% विरोध लगभग एक ही बात है। ऐसी एक चर्चा मेटा पर स्टीवर्डस् के लिए भी चल रही है। इसमें ख़राबी क्या है? मुझे तो ठीक लग रहा है।--सत्यम् मिश्र (वार्ता) 17:22, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
1 more suggestion i have is that to have fix time period for poll....say 7 days or 10days.....after which polling should close and votes should be counted.....Sperm whale fluke.jpg Darth Whale वार्ता 17:26, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
यह समय मॅटा विकि द्वारा पहले से ही ७ दिन निर्धारित किया हुआ है।☆★संजीव कुमार (✉✉) 17:33, 16 अप्रैल 2015 (UTC)
मैं ऊपर दिये गये तीन बिन्दुओं से सहमत हूँ, विशेष रूप से 'हिन्दी में चर्चा' और 'हटाने का अधिकार'। किन्तु मैं यह भी चाहूँगा कि प्रबन्धक अधिकार अनिश्चित काल के लिये न रहे। वर्तमान स्थिति को देखते हुए मुझे ३ वर्ष का समय ठीक लगता है। बाकी अन्य सदस्यों की मर्जी। ---- अनुनाद सिंहवार्ता 03:52, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
मुझे लगता है कि प्रबंधकीय अधिकार ०१ वर्ष के लिये ही दिया जाना चाहिये जिसे बाद में एक-एक वर्ष के रूप में बढ़ाया जा सकता है, पिछले अनुभव यही बताते हैं कि कई प्रबंधकों की दादागिरी ने विकि से अनेक बहुत अच्छे सदस्यों को जाने के लिये विवश कर दिया--डा० जगदीश व्योमवार्ता 04:05, 17 अप्रैल 2015 (UTC)
डा० जगदीश जी से मैं सहमत हूँ और मेरे हिसाब से एक साल भी ज्यादा है। हर तीन या छः महीने में समीक्षा होनी चाहिए। हर एक जनवरी व एक जुलाई को समीक्षा होनी चाहिए जिसमें तीन महीने से अधिक से काम कर रहे प्रबंधकों के कार्य की समीक्षा हो और किसी के कार्य से यदि कोई हानि हो रही हो तो तुरंत उचित कदम उठाया जाए। यदि दो समीक्षाओं तक लागातार कोई निष्क्रिय हो या नगण्य काम कर रहा हो तो उसे भी पदमुक्त किया जाए। सतत् समीक्षा के उपाय से नए सदस्यों को प्रबंधक बनाने में भी कोई अड़चन नहीं आएगी। --मनोज खुराना 04:33, 17 अप्रैल 2015 (UTC)

٭ संजीव जी का यह प्रस्ताव उचित लग रहा है .... साथ साथ यह भी स्पष्ट होजाये कि ७०% का मामला किस मूल और हेतु से होगा। यानी, ७०% किस मूल संख्या का है? --अह्मद निसार (वार्ता) 18:41, 17 अप्रैल 2015 (UTC)

निसार जी, आपका मुद्दा उचित है और इसमें मुज़म्मिल जी की बात का भी समाधान है। पहले से वर्णित नियमावली में यह स्पष्ट है कि प्रबन्धकों (वर्तमान संख्या ८) और प्रशासकों (वर्तमान संख्या ०) के मतों को सर्वाधिक वरियता मिलती है। इसके बाद पुनरीक्षकों को वरियता मिलती है तथा बाद में स्वतः परिक्षित सदस्यों को। आई॰पी॰ सदस्यों अथवा नगण्य योगदान रखने वाले सदस्यों के मतों की गणना नहीं की जाती है।☆★संजीव कुमार (✉✉) 11:17, 18 अप्रैल 2015 (UTC)

मैं ऊपर सुझाये गये निश्चित समयांतराल के बाद समीक्षा का विरोध नहीं कर रहा परंतु मेरे विचार में संजीव जी द्वारा सुझावित उपरोक्त नियम लागू हो जायें तो ऐसी कोई ज़रुरत नहीं रह जायेगी। जब किसी प्रबंधक के अधिकार पर उसके आचार-व्यवहार और कृत्यों के आधार पर कभी भी चर्चा शुरू की जा सकती हो तो ऐसे में सभी प्रबंधकों के अधिकार/दायित्व के निर्वाह की नियमित/सामयिक परीक्षा ग़ैर-ज़रूरी है। इसका कोई मतलब नहीं है!--सत्यम् मिश्र (वार्ता) 18:45, 18 अप्रैल 2015 (UTC)

एक और सुझाव

"नामांकन के उपरान्त जब तक परिणाम की घोषणा नहीं हो जाती कोई नामांकित सदस्य अपने नामांकन पर हो रहे समर्थन/विरोध/टिप्पणियों पर सीधे अथवा कहीं इतर कोई टिप्पणी करने से परहेज करेगा जब तक कि उससे सीधे कोई प्रश्न न पूछा गया हो।"

चाहे आप लोग इसे नियम के रूप में शामिल करें या सामान्य आचार-संस्कार-व्यवहार के रूप में पर ऐसा कुछ होना चाहिये। कम से कम जब तक नामांकन के परिणाम नहीं आते इस तरह की अभिव्यक्ति से नामांकित सदस्य को बचना चाहिए। --सत्यम् मिश्र (वार्ता) 18:32, 18 अप्रैल 2015 (UTC)

सत्यम् जी, इसमें थोड़ी कठिनाई है क्योंकि वर्तमान नियमावली के अनुसार प्रबन्धकों को कम से कम पुनरीक्षक स्तर का अनुभव होना आवश्यक है और इस स्थिति में वह किसी चर्चा में भाग न ले, ऐसा करना मुश्किल है। हाँ, उसके नामांकन से सम्बंधित चर्चा की बात की जाये तो कुछ हद तक आपकी बात उचित लगती है लेकिन फिर वो बात अपनी ही बात का विरोधाभाष करवाती है कि सदस्य से प्रश्न पूछे गये हैं। कई बार कुछ नामांकित सदस्यों पर बेबुनियाद आरोप लगा दिये जाते हैं अतः ऐसे में चुप रहना अन्य सदस्यों के मतों को भी प्रभावित करता है अतः चुप रह पाना मुश्किल होता है।☆★संजीव कुमार (✉✉) 18:59, 18 अप्रैल 2015 (UTC)
संजीव जी यहाँ उन्हें पुनरीक्षण नहीं करना है। जब उन्हीं पर चर्चा चल रही है तो ऐसे में खुद उसमें कूदना कहाँ से निष्पक्षता है। जब उनसे पूछा जाय तो ज़वाब दें। बेबुनियादी आरोपों वाली बात कुछ हद तक ठीक है। ऐसे में नामांकित सदस्य से उसके ऊपर हुई टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने की व्यवस्था होनी चाहिये। अगर उनके बारे में अन्य सदस्यों की टिप्पणियों से दूसरे लोग प्रभावित हो सकते हों तो नामांकित सदस्य भी अपनी टिप्पणियों द्वारा अन्य लोगों के मत प्रभावित कर सकता है। क्या यह ठीक है?--सत्यम् मिश्र (वार्ता) 19:31, 18 अप्रैल 2015 (UTC)
आपकी बात मुझे बिलकुल ठीक लग रही है लेकिन यदि आप इसका एक प्रारूप तैयार करके प्रस्तुत करेंगे तो अच्छा होगा जिससे इसे एक वाक्य में लिखा जा सके।☆★संजीव कुमार (✉✉) 20:12, 18 अप्रैल 2015 (UTC)
उपरोक्त चर्चा को एक पुरालेख के रूप में संरक्षित किया गया है। कृपया इसमें कोई बदलाव न करें। आगे की वार्ताएँ इस पृष्ठ पर नये विभागों में होनी चाहिएँ


प्रबंधक पद हेतु निवेदन