विंडोज़ टास्क मैनेजर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
Task Manager
माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ का एक घटक
250px
Screenshot of Task Manager under Windows 7
Details
प्रकार Task manager application
के संग Microsoft Windows NT 4.0 and onwards
के स्थान पर System Monitor, TASKMAN.EXE

विंडोज टास्क मैनेजर (Windows Task Manager), ऑपरेटिंग सिस्टम्स की माइक्रोसॉफ्ट विंडोज एनटी फैमिली के साथ संलग्न एक कार्य प्रबंधक (टास्क मैनेजर) एप्लीकेशन है जो कंप्यूटर की कार्यक्षमता और चालू एप्लीकेशनों, प्रक्रियाओं और सीपीयू के उपयोग, कमिट चार्ज और मेमरी संबंधी जानकारी, नेटवर्क की गतिविधि और आंकड़ों, लॉग-इन किये गए उपयोगकर्ताओं और सिस्टम की सेवाओं के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करता है। टास्क मैनेजर का इस्तेमाल प्रक्रिया की प्राथमिकताओं, प्रोसेसर की एफिनिटी (समानता) को निर्धारित करने और प्रक्रियाओं को बलपूर्वक समाप्त तथा विंडोज से शट-डाउन, रीस्टार्ट, हाईबरनेट या लॉग ऑफ के लिए भी किया जा सकता है। विंडोज टास्क मैनेजर (Windows Task Manager) को विंडोज एनटी 4.0 के साथ पेश किया गया था। विंडोज एनटी के पिछले संस्करणों में काफी कम सुविधाओं वाले टास्क लिस्ट एप्लीकेशन शामिल थे। टास्क लिस्ट वर्तमान में संचालित प्रक्रियाओं को सूचीबद्ध करने और उन्हें समाप्त करने या एक नई प्रक्रिया का निर्माण करने में सक्षम थी।

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज के पिछले संस्करणों (माइक्रो सॉफ्ट विंडोज 3.x, विंडोज 95, विंडोज 98) में वर्तमान में चल रहे प्रोग्रामों को दिखाने के लिए टास्क्स के रूप में जाना जानेवाला एक प्रोग्राम मौजूद होता था। इस फाइल को C:\Windows डाइरेक्टरी से taskman.exe फ़ाइल की रनिंग के जरिये निष्पादित किया गया था।[1]

टास्क मैनेजर की शुरुआत[संपादित करें]

चित्र:System idle process.png
एक्सपी विन्डोज़ में टास्क मैनेजर

टास्क मैनेजर को निम्नलिखित चार तरीकों द्वारा शुरू किया जा सकता है:

  1. टास्कबार में कॉन्टेक्स्ट मीनू का उपयोग कर और "स्टार्ट टास्क मैनेजर" को सेलेक्ट कर.
  2. कंट्रोल+शिफ्ट+एस्केप (Ctrl+Shift+Esc) के संयुक्त बटनों का उपयोग कर.
  3. विंडोज एनटी, विंडोज 2000 और विंडोज विस्टा में विंडोज सिक्योरिटी डायलॉग को खोलने के लिए कंट्रोल+ऑल्ट+डिलीट (Ctrl+Alt+Del) के संयुक्त बटनों का उपयोग करें और उसके बाद "टास्क मैनेजर" पर क्लिक करें। विंडोज एक्सपी और विंडोज 7 में सीधे कंट्रोल+शिफ्ट+एस्केप (Ctrl+Shift+Esc) को दबाकर टास्क मैनेजर को लांच किया जाता है जैसा कि कंट्रोल+ऑल्ट+डिलीट (Ctrl+Alt+Del) से होता है अगर आपने वेलकम स्क्रीन को निष्क्रिय कर दिया है।
  4. एक कमांड लाइन जीयूआई (C:\Windows\System32\taskmgr.exe में स्थित) या एक शॉर्टकट से "Taskmgr.exe" को शुरू करते हुए.

प्रॉपर्टी शीट्स[संपादित करें]

एप्लिकेशन[संपादित करें]

टास्क मैनेजर में एप्लिकेशंस टैब वर्तमान में चल रहे प्रोग्रामों की एक सूची को दर्शाता है। नियमों का एक सेट यह निर्धारित करता है कि इस टैब में कोई प्रक्रिया दिखाई देती है या नहीं। टास्कबार एंट्री वाले ज्यादातर एप्लिकेशन इस टैब में दिखाई देते हैं, लेकिन हमेशा ऐसा नहीं होता है।

सूची में मौजूद किसी भी एप्लिकेशन पर राईट-क्लिक करने से (अन्य सामग्रियों के बीच) उस एप्लिकेशन में जाने, एप्लिकेशन को समाप्त करने और प्रोसेसेज टैब पर एप्लिकेशन के जुड़ी प्रक्रिया को दिखाने की अनुमति मिलती है।

एप्लिकेशंस टैब से एंड टास्क को चुनकर इसे समाप्त के लिए एप्लिकेशन को एक अनुरोध भेजा जा सकता है। यह प्रोसेसेज टैब से एंड प्रोसेस को चुने जाने की प्रतिक्रिया से अलग है।

प्रक्रियाएं (प्रोसेसेज)[संपादित करें]

प्रोसेसेज टैब सिस्टम पर चल रही सभी प्रक्रियाओं की एक सूची को दर्शाता है। इस सूची में अन्य खातों की सेवाएं (सर्विसेज) और प्रक्रियाएं (प्रोसेसेज) शामिल हैं। विंडोज एक्सपी से पूर्व में 15 अक्षरों से अधिक लंबे प्रक्रिया संबंधी नामों (प्रोसेस नेम्स) को संक्षेपित कर दिया जाता था।[2]

सूची में मौजूद किसी भी प्रक्रिया (प्रोसेस) पर राईट क्लिक करने से प्रक्रिया की प्राथमिकता को बदलने, प्रोसेसर की एफिनिटी सेट करने (यह सेट करना कि कौन से सीपीयू की प्रक्रिया पर अमल किया जा सकता है) और प्रक्रिया को समाप्त किये जाने की अनुमति मिलती है। एंड प्रोसेस के विकल्प को चुनने पर विंडोज प्रक्रिया को तुरंत समाप्त कर देगा। "एंड प्रोसेस ट्री" के विकल्प को चुनने पर विंडोज, इस प्रक्रिया के साथ-साथ उसके द्वारा प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से शुरू की गयी अन्य सभी प्रक्रियाओं को भी तुरंत समाप्त कर देगा। एप्लिकेशन टैब से एंड टास्क को चुने जाने के विपरीत जब प्रोग्राम को एंड प्रोसेस करने के लिए चुना जाता है तो प्रक्रिया को समाप्त करने से पहले ना तो कोई चेतावनी दी जाती है और ना ही इसकी सफाई (क्लीन अप) का मौक़ा दिया जाता है। हालांकि जब एक ऐसी प्रक्रिया जो सिक्योरिटी कंटेक्स्ट के अधीन चल रही है, टर्मिनेट प्रोसेस का आदेश जारी करने वाली एक प्रक्रिया से अलग होती है तो किल (KILL) कमांड लाइन की उपयोगिता की आवश्यकता होती है।[3]

डिफ़ॉल्ट के रूप में प्रोसेसेज टैब उपयोगकर्ता के खाते को यह दिखाता है कि यह किस प्रक्रिया के तहत चल रही है, सीपीयू की मात्रा और प्रक्रिया द्वारा वर्तमान में उपयोग की जा रही मेमरी कितनी है। व्यू (View) मीनू से सेलेक्ट कॉलम्स.... का विकल्प चुनकर कई अन्य कॉलमों को दिखाया जा सकता है।

प्रदर्शन[संपादित करें]

परफॉर्मेंस टैब सिस्टम की कार्यक्षमता के बारे में समग्र आंकड़ों को दर्शाता है जिसमें सबसे ज्यादा उल्लेखनीय है सीपीयू की उपयोगिता की कुल मात्रा और कितनी मेमरी का इस्तेमाल किया जा रहा है। इन दोनों मूल्यों के लिए हाल ही में किये गए उपयोग का एक चार्ट दिखाया जाता है। मेमरी के विशिष्ट क्षेत्रों के बारे में विवरण भी दिखाया जाता है।

सीपीयू की उपयोगिता के ग्राफ को दो खंडों में बाँटने का विकल्प भी मौजूद होता है: कर्नल मोड टाइम और और यूजर मोड टाइम. कई डिवाइस ड्राइवर और ऑपरेटिंग सिस्टम के मुख्य भाग कर्नल मोड में संचालित होते हैं जबकि यूजर एप्लिकेशन यूजर मोड में चलते हैं। इस विकल्प को व्यू मीनू से शो कर्नल टाइम्स का विकल्प चुनकर खोला जा सकता है। इस विकल्प को खोले जाने के बाद सीपीयू उपयोगिता ग्राफ एक हरा और एक लाल क्षेत्र दिखाएगा. लाल क्षेत्र कर्नल मोड में बिताया गया समय है और हरा क्षेत्र यूजर मोड में बिताए समय को दर्शाता है।

नेटवर्किंग[संपादित करें]

नेटवर्किंग टैब कंप्यूटर में मौजूद प्रत्येक नेटवर्क एडोप्टर से संबंधित आंकड़ों को दर्शाता है। डिफ़ॉल्ट के रूप में एडाप्टर के नाम, नेटवर्क के उपयोग का प्रतिशत, लिंक की गति और नेटवर्क एडाप्टर की अवस्था को हाल की गतिविधि के एक चार्ट के साथ दिखाया जाता है। व्यू मीनू से सेलेक्ट कॉलम्स... को चुनकर और अधिक विकल्पों को दर्शाया जा सकता है।

उपयोगकर्ता (यूजर)[संपादित करें]

यूजर्स टैब कंप्यूटर पर वर्तमान सत्र में मौजूद सभी उपयोगकर्ताओं को दर्शाता है। सर्वर कंप्यूटरों पर, यह संभव है कि टर्मिनल सर्विसेज का उपयोग करने वाले कई उपयोगकर्ता कंप्यूटर के साथ जुड़े हों. विंडोज एक्सपी के अनुसार फास्ट यूजर स्विचिंग फीचर का उपयोग कर एक ही समय में कंप्यूटर पर कई उपयोगकर्ताओं को लॉग ऑन रखा जा सकता है। उपयोगकर्ता इस टैब से संपर्क तोड़ सकता है या लॉग ऑफ हो सकता है।

टाइनी फुटप्रिंट मोड[संपादित करें]

टास्क मैनेजर में एक यूजर इंटरफ़ेस होता है जो संचालित किये जा रहे कार्यों के विस्तृत विवरणों को दिखाता है। साथ ही साथ इस मोड में किसी मीनू विकल्प या टैब के बगैर एक वैकल्पिक इंटरफेस भी मौजूद होता है। यह केवल यही दिखाता है कि कौन से एप्लिकेशन संचालित हो रहे हैं और यह वही जानकारी है जिसे विस्तृत विवरणों को दिखाये जाते समय एप्लीकेशंस टैब पर दिखाया जा रहा होगा। इसे टाइनी फुटप्रिंट मोड कहा जाता है। टास्क मैनेजर में कुछ ख़ास क्षेत्रों पर डबल-क्लिक कर आप दो मोडों के बीच अदला-बदली कर सकते हैं।[4]

विंडोज विस्टा के बदलाव[संपादित करें]

विंडोज टास्क मैनेजर (Windows Task Manager) को विंडोज विस्टा में नई सुविधाओं के साथ नवीनीकृत किया गया है, जिनमें शामिल हैं:

  • वर्तमान में चल रही सेवाओं को देखने और/या संशोधित करने के लिए और किसी सेवा को शुरू करने या रोकने के साथ-साथ यूएसी फ़ाइल को इनेबल/डिसेबल करने के लिए और किसी प्रक्रिया की रजिस्ट्री वर्चुअलाइजेशन के लिए एक "सर्विसेस" टैब.
  • किसी प्रक्रिया का पूरा नाम और पाथ, इसकी डीईपी एवं वर्चुअलाइजेशन की स्थिति को देखने के लिए नया "डिस्क्रिप्शन" कॉलम.
  • किसी भी प्रक्रिया पर राईट-क्लिक कर निष्पादन योग्य प्रक्रिया या प्रक्रिया वाली डायरेक्टरी (फोल्डर) की "प्रोपर्टीज " को सीधे तौर पर खोला जा सकता है।
  • टास्क मैनेजर को दूरदराज के सूत्रों (रिमोट सोर्सेस) या वायरसों के आक्रमण के लिए अपेक्षाकृत कम संवेदनशील बनाया गया है क्योंकि कुछ ख़ास कार्यों को पूरा करने के लिए अनिवार्य रूप से इसे एडमिनिस्ट्रेटिव राइट्स के तहत संचालित किया जाता है, जैसे कि अन्य जुड़े हुए उपयोगकर्ताओं को लॉग ऑफ करना या संदेश भेजना. उपयोगकर्ता को अनिवार्य रूप से "प्रोसेसेज" टैब में जाना होता है और एडमिनिस्ट्रेटिव राइट्स को सत्यापित करने एवं इन विशेषाधिकारों को अनलॉक करने के क्रम में "शो प्रोसेसेज फ्रॉम दर यूजर्स" पर क्लिक करना होता है। सभी उपयोगकर्ताओं से प्रक्रियाओं को दिखाने के क्रम में यूएसी प्रॉम्प्ट को स्वीकार करने के लिए एडमिनिस्ट्रेटरों सहित सभी उपयोगकर्ताओं की आवश्यकता होती है, जब तक कि यूएसी निष्क्रिय नहीं है। अगर उपयोगकर्ता एक एडमिनिस्ट्रेटर नहीं है तो एडमिनिस्ट्रेटिव खाते में आगे बढ़ने के लिए प्रॉम्प्ट किये जाने पर उन्हें पासवर्ड डालना अनिवार्य होता है।
  • किसी चालू प्रक्रिया पर राईट-क्लिक कर एक डंप तैयार किया जा सकता है। यह सुविधा तब उपयोगी साबित होती है जब किसी एप्लिकेशन या प्रक्रिया से कोई जवाब नहीं मिलता है जिससे कि ज्यादा जानकारी के लिए डंप फ़ाइल को डीबगर में खोजा जा सके।
  • शटडाउन मीनू जिसमें स्टैंडबाई, हाईबरनेट, टर्न ऑफ, रीस्टार्ट, लॉग ऑफ और स्विच यूजर शामिल था उसे हटा लिया गया है।
  • परफॉर्मेंस टैब सिस्टम के अपटाइम को दिखाता है।

सुरक्षा मुद्दे[संपादित करें]

टास्क मैनेजर कंप्यूटर वायरसों और मैलवेयर के अन्य स्वरूपों का एक आम लक्ष्य होता है; आम तौर पर टास्क मैनेजर के स्टार्ट होते ही मैलवेयर इसे तुरंत बंद कर देता है जिससे कि इसे उपयोगकर्ताओं से छुपा लिया जाए. उदाहरण के लिए, जोटोब और स्पाइबोट वर्म्स के वेरिएंट्स ने इस तकनीक का उपयोग किया है।[5] समूह नीति (ग्रुप पॉलिसी) का उपयोग कर टास्क मैनेजर को निष्क्रिय किया जा सकता है। कई प्रकार के मैलवेयर भी रजिस्ट्री में इस पॉलिसी सेटिंग को सक्रिय कर देते हैं। रूटकिट्स स्वयं को टास्क मैनेजर में सूचीबद्ध होने से बचा सकते हैं जिससे इनका उपयोग करने के लिए इनकी पहचान और समाप्ति को रोका जा सकता है।

पारिभाषिक शब्दावली[संपादित करें]

एप्लिकेशंस टैब[संपादित करें]

  • टास्क मैनेजर एप्लिकेशन और टास्क को एक विशिष्ट थ्रेड के स्वामित्व वाली विंडो के रूप में पारिभाषित करता है। इस दृश्य (व्यू) में सभी विंडोज को नहीं दिखाया जाता है। उदाहरण के लिए मॉडल डायलॉग्स (विंडोज़ जिसके लिए एक अलग थ्रेड मौजूद नहीं है) दिखाई नहीं देते हैं। यही वजह है कि कई डायलॉग्स और त्रुटि संदेश नहीं दिखाए जाते हैं। पहले कॉलम में इस्तेमाल किया गया टास्क शब्द भ्रामक है क्योंकि विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम पर समयबद्ध तरीके से संचालित करने के लिए टास्क शिड्यूलर में संलग्न को छोड़कर टास्क्स का कोई स्वाभाविक सिद्धांत नहीं होता है।
  • विंडोज मैसेज प्रोसेसिंग के मामलों में स्टेटस कॉलम विंडोज के स्वामित्व वाले थ्रेड की स्थिति को दर्शाता है। जब किसी एप्लिकेशन की स्थिति रनिंग के रूप में दिखाई देती है तो इसका मतलब यह होता है कि यह थ्रेड विंडोज के संदेशों के लिए उत्तरदायी है। जब स्थिति नॉट रेस्पोंडिंग के रूप में दिखाई देती है तो इसका मतलब है कि थ्रेड इस समय विंडोज में शामिल संदेशों के लिए उत्तरदायी है। इसमें अन्य घटनाओं जैसे कि आई/ओ अनुरोधों के लिए या कम्प्यूट-बाउंड कोड को निष्पादित करने के लिए इंतज़ार करना पड़ सकता है (जिसे कभी-कभी "ब्लॉक्ड" के रूप में संदर्भित किया जाता है).

प्रक्रियाओं का (प्रोसेसेज) टैब[संपादित करें]

  • प्रोसेसेज टैब पर मेम यूसेज कॉलम वास्तव में प्रक्रिया का वर्किंग सेट है। प्रक्रिया (प्रोसेस) का इसके वर्किंग सेट पर थोड़ा या कोई भी प्रत्यक्ष नियंत्रण नहीं होता है जो इस कॉलम को यह निर्धारित करने के लिए बेकार बना देता है कि कोई भी प्रक्रिया कितनी मेमरी का उपयोग कर रही है।
  • वीएम साइज कॉलम (जिसे डिफ़ॉल्ट के रूप में प्रदर्शित नहीं किया जाता है) प्रक्रिया द्वारा उपयोग की जा रही वर्चुअल मेमरी की मात्रा नहीं है; वास्तव में यह प्रक्रिया के निजी बाइट्स हैं।
  • सीपीयू कॉलम की गणना दो-अंकों की शैली में फिट होने के लिए सीपीयू के उपयोग की ट्रिमिंग के जरिये की जाती है जो गलत भी हो सकता है। सीपीयू के 0.9% का उपयोग करने वाली प्रक्रिया को टास्क मैनेजर में 00 के रूप में सूचित किया जाएगा.
  • सिस्टम आइडल प्रोसेस वह पहली प्रक्रिया है जो विंडोज को लोड किये जाते समय तैयार होती है और इसमें हमेशा 0 की एक प्रोसेस आईडी मौजूद होती है। सिस्टम में प्रत्येक सीपीयू के लिए सिस्टम आइडल प्रोसेस में एक थ्रेड मौजूद होता है। जब सीपीयू के पास अन्य कोई काम नहीं होता है तो विंडोज शिड्यूलर निष्पादन के लिए सीपीयू के संबंधित निष्क्रिय थ्रेड को सेलेक्ट करता है। इसीलिये इस प्रक्रिया में संचित सीपीयू का समय, सीपीयू के इस्तेमाल नहीं किये गए कुल समय को दिखाता है। विंडोज एनटी के प्रारंभिक संस्करणों में निष्क्रिय थ्रेड मुख्य रूप से एक "हॉल्ट" निर्देश से बने छोटे निष्क्रिय लूप्स होते थे; बाद के विंडोज संस्करणों में निष्क्रिय थ्रेड सीपीयू उर्जा की बचत के अधिक परिष्कृत तरीकों का उपयोग करते हैं।

उपयोगकर्ता द्वारा मीनू से पहले "व्यू" और उसके बाद "सेलेक्ट कॉलम्स..." को चुन कर लेआउट को विन्यस्त (कॉन्फ़िगर) किया जा सकता है। डिस्प्ले के लिए विभिन्न मेमरी और आई/ओ विकल्पों तथा उपयोग किये जा रहे हैंडल्स एवं थ्रेड्स सहित तीस कॉलमों तक (विंडोज के संस्करण के आधार पर) को चुना जा सकता है।

परफॉर्मेंस टैब[संपादित करें]

  • रुकावटों और डीपीसी टाइम को सीपीयू ग्राफ में दिखाया जाता है जो भ्रामक परिस्थितियाँ पैदा कर सकता है जहाँ परफॉर्मेंस टैब महत्वपूर्ण सीपीयू उपयोगिता को दर्शाता है जबकि प्रोसेसेज टैब यह दिखाता है कि सिस्टम पूरी तरह से निष्क्रिय है।
  • विंडोज विस्टा से पहले दूसरे ग्राफ को पीएफ यूसेज और पेज फ़ाइल यूसेज हिस्ट्री का नाम दिया गया था, जब इसने वास्तव में कमिट चार्ज और कमिट चार्ज हिस्ट्री का प्रतिनिधित्व किया था।
  • विंडोज मेमोरी मैनेजर एक साझा मेमरी तकनीक का प्रयोग कर सबसे अच्छी कार्यक्षमता प्राप्त करने के लिए फिजिकल मेमरी को और अधिक अनुकूल बना देता है। कई प्रक्रियाओं द्वारा इस्तेमाल की गयी मैप्ड फाइलें जैसे कि डीएलएल फाइलें फिजिकल मेमरी में केवल एक ही बार दर्शायी जाती हैं और इसके बाद इन्हें सभी संदर्भित प्रक्रियाओं में साझा कर दिया जाता है। चूंकि प्रत्येक प्रक्रिया के लिए मेमरी के उपयोग की गणना व्यक्तिगत रूप से की जाती है, सभी प्रोसेस वर्किंग सेट का कुल योग आम तौर पर उपयोग की जा रही कुल वास्तविक मेमरी से कहीं अधिक होता है।

विंडोज 9x में शामिल कार्य[संपादित करें]

विंडोज 9x में कंट्रोल+ऑल्ट+डिलीट (Ctrl+Alt+Del) दबाने पर एक क्लोज प्रोग्राम का डायलॉग बॉक्स निकलकर सामने आता है। इसके अलावा विंडोज 9x में विंडोज डायरेक्टरी में टास्क्स (TASKMAN.EXE) नामक एक प्रोग्राम मौजूद होता है। TASKMAN.EXE अल्पविकसित है और इसमें कम सुविधाएं मौजूद हैं। विंडोज 9x में सिस्टम मॉनिटर की उपयोगिता में विंडोज टास्क मैनेजर (Windows Task Manager) की तरह ही प्रक्रिया और नेटवर्क संबंधी निगरानी की कार्यक्षमता होती है। (इसके अलावा अगर एक्स्प्लोरर की प्रक्रिया बंद रहती है तो डेस्कटॉप पर दो बार क्लिक कर टास्क प्रोग्राम को शुरू किया जा सकता है।)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • प्रोसेस एक्सप्लोरर
  • एक्टिविटी मॉनिटर

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. कम्प्यूटर होप वेब साइट.
  2. मैजिक 15 विथ गेटप्रोसेस्सेसबायनेम ऑन विन्डोज़ 2000
  3. http://support.microsoft.com/kb/155075
  4. "Task Manager Menu Bar and Tabs Are Not Visible", Help and Support, Microsoft, 2007-05-07, अभिगमन तिथि 2007-08-07
  5. टास्क मैनेजर, MSCONFIG और REGEDIT डिसअपेयर्स वाइल ओपनिंग

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

साँचा:Windows Components