वार्ता:वेद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

वेद ४००० या ५००० नही बल्कि अरबो सालो से जब सृष्टि का नि‍र्माण हुआ‌



सही कहा | और जब प्रलय के बाद सृष्टि फिर से उत्पन्न होती है तो भी वेद का ज्ञान इसी प्रकार बहती नदी के पानी के तरह बहेता है और ऋषि इसे फिर से ग्रहण करते हैं |