वार्ता:भारत की न्यायपालिका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

न्यायिक व्यवस्था और न्याय के काम के तरीको मे सुधार[संपादित करें]

न्यायालय में काम के तरीको में जबरदस्त सुधार चाहिए। काम बहुत ही ज्यादा है लेकिन काम को सम्पादित करने वाले कम है ।केवल जज ही के ऊपर सब निभर्र नही है ये एक टीम वर्क है जिसमें वकील, वहाँ के कर्मचारी,और अपने से उच्च अधिकारी ।जिनके सहयोग के बिना न्याय व्यवस्था अच्छी चल ही नही सकती।केवल एक अकेले जजके ऊपर नियम थोपने से कुछ नहीं बदलने वाला ।सभी के लिए नियम व कायदे होने चाहिये। श्वेता (वार्ता) 11:26, 9 जुलाई 2017 (UTC)