वार्ता:बनाफर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बनाफर वंश  भारतीय राजपुत जाति है, जिसका संबंध चंद्रवंशी राजपूत वंश से है। इन्हें स्थानीय रूप से बनाफर कहा जाता है। आल्हा और ऊदल इस समुदाय से थे और वे एक राजपूत राजा की सेना में प्रमुख या सेनापति थे।

इसका वर्णन राजपूत वंशावली मे मिलता है चार हुतासन सों भये कुल छत्तिस वंश प्रमाण भौमवंश से धाकरे टांक नाग उनमान चौहानी चौबीस बंटि कुल बासठ वंश प्रमाण." अर्थ:-दस सूर्य वंशीय क्षत्रिय दस चन्द्र वंशीय,बारह ऋषि वंशी एवं चार अग्नि वंशीय कुल छत्तिस क्षत्रिय वंशों का प्रमाण है,बाद में भौमवंश नागवंश क्षत्रियों को सामने करने के बाद जब चौहान वंश चौबीस अलग अलग वंशों में जाने लगा तब क्षत्रियों के बासठ अंशों का पमाण मिलता है।

सूर्य वंश की दस शाखायें:- १. गहलोत/सिसोदिया २. राठौड ३. बडगूजर/सिकरवार ४. कछवाह ५. दिक्खित ६. गौर ७. गहरवार ८. डोगरा ९.बल्ला १०.वैस

चन्द्र वंश की दस शाखायें:- १.जादौन२.भाटी३.तोमर४.चन्देल५.छोंकर६.झाला७.सिलार८.वनाफ़र ९.कटोच१०. सोमवंशी

अग्निवंश की चार शाखायें:- १.चौहान२.सोलंकी३.परिहार ४.पमार.

ऋषिवंश की बारह शाखायें:- १.सेंगर२.कनपुरिया३.गर्गवंशी(हस्तिनापुर के राजा दुष्यन्त के वंशज)४.दायमा५.गौतम६.अनवार (राजा जनक के वंशज)७.दोनवार८.दहिया(दधीचि ऋषि के वंशज)९.चौपटखम्ब १०.काकन११.शौनक १२.बिसैन

चौहान वंश की चौबीस शाखायें:- १.हाडा २.खींची ३.सोनीगारा ४.पाविया ५.पुरबिया ६.संचौरा ७.मेलवाल८.शम्भरी ९.निर्वाण १०.मलानी ११.धुरा १२.मडरेवा १३.सनीखेची १४.वारेछा १५.पसेरिया १६.बालेछा १७.रूसिया १८.चांदा१९.निकूम २०.भावर २१.छछेरिया २२.उजवानिया २३.देवडा २४.बनकर.

चेतावनी[संपादित करें]

@Uday singh jadeja जी और @ThakurSahab05 जी, आप दोनों को यह अन्तिम चेतावनी दी जाती है कि आपके इस तरह के सम्पादन युद्ध के लिए दोनों को अनन्तकाल के लिए प्रतिबन्धित कर दिया जायेगा। इस लेख में आप दोनों सदस्यों द्वारा भविष्य में इस लेख में सम्पादन युद्ध नहीं होना चाहिए। ☆★संजीव कुमार (✉✉) 06:31, 31 अगस्त 2021 (UTC)[उत्तर दें]