वार्ता:तुलसीदास

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अति सुदंर. --मात्रा १५:४९, ७ अक्टूबर २००६ (UTC)

प्रेरणास्पद[संपादित करें]

यह लेख प्रेरणास्पद है । लिखने वाले(वालों) का यत्न सराहना के योग्य है और लेख प्रेरणा लेने के काबिल । जय हो ....

Amitprabhakar १२:२५, १२ जनवरी २००७ (UTC)


सुन्दर लेख है। साधुवाद। हिन्दी साहित्य की दृष्टि से भी विवेचन करें। Shishirmit ११:५५, ७ अक्टूबर २००९ (UTC)

copied[संपादित करें]

this article has been copied from the introduction of ramcharitmanas book.

कौनसी क़िताब से?--85.226.192.197 १७:५९, २८ मई २००७ (UTC)