वार्ता:बीस बीस प्रतियोगिता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

Twenty20 का हिन्दी नाम[संपादित करें]

Is this the standard hindi name for Twenty20 cricket. I think in hindi it should also be Twenty20 and not बिसबिसवा. --गुंजन वर्मासंदेश ०६:०२, २२ सितंबर २००९ (UTC)

मेरे विचार से ट्वेन्टी२० कहना बिल्कुल ठीक नहीं है। यह नया शब्द है, इसका उपयुक्त हिन्दी शब्द अभी से 'उछाल' दिया जायेगा तो सदा के लिये काम बन जायेगा नहीं तो शदियों तक अंग्रेजी का ही शब्द ढ़ोना पड़ेगा। मराठी वालों ने अपना शब्द गढ़ा है। अनुनाद सिंह ०६:१९, २२ सितंबर २००९ (UTC)
मराठी में २०-२० सामने का मतलब २०-२० प्रतियोगिता होता है. यह कोई नया शब्द नहीं है एक परिभाषा है --गुंजन वर्मासंदेश ०६:३०, २२ सितंबर २००९ (UTC)
"यह नया शब्द नहीं है, एक परिभाषा है" - इसका मतलब क्या है? जब वे माराठी में बोलेंगे तो क्या " ट्वेन्टी-ट्वेन्टी सामने " बोलेंगे? क्या अंग्रेजी में 'Twenty20' पहले से किसी डिक्शनरी में एक शब्द था जिसे जरूरत पड़ने पर उठा लिया गया? या आवश्यक होने पर एक नया शब्द गढ़ लिया गया? प्रथा यही है कि किसी नयी घटना/फेनॉमेनन/कंसेप्ट/प्रक्रिया का पता लगने या पर उसे अपनी भाषा में दनादन कोई व्यक्ति एक 'नाम' दे देता है। इसके लिये कोई कमेटी नहीं बनी होती है। बाद में दूसरी भाषाओं के साहित्यकार/पत्रकार/वैज्ञानिक/समाजविज्ञानी/कोशकार/आम आदमी आदि उसे अपनी भाषा में उपयुक्त शब्द देने की कोशिश करते हैं। अनुनाद सिंह ०६:४७, २२ सितंबर २००९ (UTC)
जैसे आप हिंदी में इसे ट्वेंटी ट्वेंटी प्रतियोगिता बोलेंगे उस ही तरह मराठी व्यक्ती इसे ट्वेंटी ट्वेंटी सामने बोलेगा. महत्वपूर्ण यह है की क्या एक हिंदी खोजकर्ता विकी पर कभी भी बिसबिसवा नाम से सर्च करेगा. जब यह नाम प्रचालन में ही नहीं है तो नया नाम गाड़ने से क्या फायदा. --गुंजन वर्मासंदेश ०८:५६, २२ सितंबर २००९ (UTC)
विकिपीडिया पर लेख का शीर्षक देने से किसी नए शब्द का प्रचलन नही होगा। बल्कि प्रचलित शब्द का शीर्षक देना होगा। ट्वेन्टी-20 ट्वेन्टी-ट्वेन्टी ज्यादा प्रचलन मे होता मालूम होता हैं (गूगल हिट्स के अनुसार)। बिसबिसवा के तो कोई भी हिट्स नही मिलें (इस लेख को छोड़ कर)। --मितुल ०५:२०, २३ सितंबर २००९ (UTC)
एक चीज के कई नाम होने स्वाभाविक हैं। इसके लिए अनुप्रेषण लेखों का उपयोग करें। या तो बिसबिसवा या फिर ट्वेंटी२० पर मुख्य लेख डाल दें और दूसरे को इसकी तरफ अनुप्रेषित कर दें। मेरे हिसाब से गुंजन और अनुनाद दोनों की बातें सही हैं। एक तरफ लोकप्रियता तो दूसरी तरफ creativity पर प्रश्न है। -- सौरभ भारती (वार्ता) ०५:२५, २३ सितंबर २००९ (UTC)
dear अनुनाद सिंह , and all otehrs,Some words and names are automatically adopted to a language as its use in the language increases , eg क्रिकेट , पिस्तौल , राशन कार्ड आदि । same way T20 hase been adopted in hindi communication language .. . I dont think anyone uses "बिसबिसवा" in hindi communication language ... and the other point is ,who has made this, illgrammard translation "बिसबिसवा" .. uniquely funny --Kirti ny १४:५९, २३ सितंबर २००९ (UTC)
Kirti ny आर यू ट्राइंग टु से दैट ट्वेंटी ट्वेंटी इन अंग्रेज़ी इज़ ए लॉजिकल ऍण्ड ग्रामाटिकली करेक्ट कंस्ट्रक्ट? इट शोर्ली इज़ण्ट ऍण्ड देयर इज़ नो रीज़न फॉर दि हिन्दी वर्ज़न टु बी सो ईदर। «आलोक» (, ) ⌛ ०४:२७, २४ सितंबर २००९ (UTC)
सौरभ का मत बिलकुल सही है। बिसबिसवा हटाना नहीं चाहिए। यह नया शब्द नहीं कई जगह प्रयोग किया जाता है। यह अलग बात है कि जो लोग इसका प्रयोग करते हैं वे कंप्यूटर पर हिन्दी नहीं लिखते, इसलिए फिलहाल यह शब्द कंप्यूटर पर नहीं है पर जल्दी ही आ जाएगा। हम पहले शुरू कर दें तो कोई बुराई नहीं है।--सुरुचि १८:३६, २३ सितंबर २००९ (UTC)
सुरुचि जी विकीपीडिया इंवेंशन करने की नहीं डिस्कवरी करने की जगह है। संसार में विद्यमान तथ्य यहाँ शामिल करते हैं; काल्पनिक चीज, शोध प्रबंध यहाँ नहीं लिखे जाते। यह लेख पढ़ियेगा - दस चीजें जो विकिपीडिया नहीं है --देबाशीष १७:४०, ६ अक्टूबर २००९ (UTC)
अगर ट्वेंटी ट्वेंटी नाम का पन्ना भी है तो उसे बिसबिसवा की ओर अग्रेषित किया जा सकता है। अगर ट्वेंटी ट्वेंटी या ट्वेंटी २० की खोज करना वाला इस पन्ने तक पहुँच पाता है तो कोई दिक्कत की बात नहीं है। «आलोक» (, ) ⌛ ०४:२७, २४ सितंबर २००९ (UTC)
for आलोकji , dear the issue is not weather t20 is gramatically correct or not, the issue is weather we in hindi wikipedia are going in a right way or not , see , we say "पेंसिल " for pencil not any other thing , we say "मेरी कार खराब हो गई " not " मेरी चौपहिया गाड़ी खराब हो गई " ,train has a hindi word "लौह पथ गामिनी" and "रेलगाड़ी" but we say " २ बजे कि ट्रेन है " not " २ बजे कि लौह पथ गामिनी/रेलगाड़ी है " (proof : रेलगाड़ी ६२००० रिसल्ट ,लौह पथ गामिनी ११२ रिसल्टट्रेन २३००००० रिसल्ट ... the words and sentences which are so much used in our day-today hindi conversation are to be used in wikipedia . now for सुरुचिji if we google search for "ट्वेंटी ट्वेंटी" (in quotes) we get more than 13000 results which includes blogs (where common man writes in his common words) , media links ( where media uses what fits in hindi conversation language ). I think if बिसबिसवा would have been used in hindi , it would have been at least used in one place other than wikipedia . And as this is not happening, kindly rename the page to "ट्वेंटी ट्वेंटी" and if wish make " बिसबिसवा" a redirect page for it , and if in future बिसबिसवा gets more usage than the prior then rename it again to बिसबिसवा.Remember wikipedia is not a plase to stablish new terms its a place to define exusting terms in the language of people. thanks--Kirti ny ०४:३३, २७ सितंबर २००९ (UTC)
यू आर कंट्रडिक्टिंग युअर्सेल्फ़। फ़र्स्ट यू से दैट बिसबिसवा इज़ ग्रामाटिकली इन्करेक्ट एंड यूनीक्ली फ़नी, नाओ यू से ग्रामर इज़ नॉट इंपोर्टेंट। दिस इज़ अम्यूज़िंग। माई ऑब्जेक्शन वाज़ टु युअर कंसर्न अबाउट ग्रामर बट नाऊ यू से इट इज़ नॉट ए कंसर्न।«आलोक» (, ) ⌛ ०९:१५, ५ अक्टूबर २००९ (UTC)
mr alok ji , now I have learnt that you couldnt understand my words.... The gist of my above post is " the popular and more often used word by hindi speaking person, known to all hindi speaking persons ,ie twentytwenty , should be used ,not the "never-ever" used बिसबिसवा . :) ... see dear we dont have to check its grammar in english .. english terms which are adopted in hindi (or say any language) are judged by their usage in hindi conversation language --Kirti ny १६:३१, ५ अक्टूबर २००९ (UTC)
कीर्ति जी ने एकदम सही कहा " wikipedia is not a plase to stablish new terms its a place to define exusting terms " बिसबिसवा बहुत ही बचकाने तरीके से बनाया गया लगता है . ट्वेंटी ट्वेंटी को तो कब का हिंदी भाषियों द्वारा अपना लिया गया है --सुमित सिन्हावार्ता १७:३७, ७ अक्टूबर २००९ (UTC)

हास्यास्पद[संपादित करें]

अनुनाद आपका यह कदम हास्यास्पद है। लगता विकीपीडिया के पेज बनाते बनाते आपको भाषाविद होने का भ्रम हो गया है। शब्द बहु प्रचलित होने पर शब्दकोशों में जाते हैं, अपने घर के ड्राईंग रूम में "रच देने" से नहीं। कृपया यह ग़लत परिपाटी न शुरु करें वरना बहुत से हिन्दी शब्द हम सभी रोज़मर्रा सोते जागते बनाते रहते हैं वह सभी यहाँ जगह बनाने लगेंगे। --देबाशीष १७:०२, ५ अक्टूबर २००९ (UTC)

यदि हम कोई नया शब्द रचें, जिसके लिए कोई पूर्व निर्धारित शब्द प्रयोग में न हो, और वह नया शब्द तकनीकी दृष्टि से सही हो, तो उसे लिखने में गलत क्या है। क्या आपको लगता है, कि किसी भाषा के कुल शब्द उस भाषा के सृजन के समय ही लिखे गये होते हैं। नहीं, बल्कि समय के साथ साथ उसमें जुड़ते जाते हैं। जिस किसी शब्द का हिन्दी रूपान्तर एकदम ही न मिले, या कोई शब्द किसी भाषा विशेष का मानक होने के साथ साथ वहीं जन्मा हो तब उसे जस का तस ले लिया जाता है, जैसे सूनामी। किंतु यदि हम किसी भाषा के गठित शब्द को प्रयोग करना चाहें, तो उसके लिए अपना शब्द भी सृजित कर सकते हैं। --आशीष भटनागर  वार्ता  १८:१३, ७ अक्टूबर २००९ (UTC)
आशीष जी विकीपीडिया इंवेंशन करने की नहीं डिस्कवरी करने की जगह है। संसार में विद्यमान तथ्य यहाँ शामिल करते हैं; काल्पनिक चीज, शोध प्रबंध यहाँ नहीं लिखे जाते। यह लेख पढ़ियेगा - दस चीजें जो विकिपीडिया नहीं है--देबाशीष ०४:१८, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)
देबाशीश, आप जरा अपने तर्कावली को केन्द्रित कीजिये और विकिपिडिया 'जो दस चीजें नहीं है' उसमें से सर्वाधिक सशक्त एक या दो की तरफ मुझे ले चलिये ताकि मैं भी देखूँ कि कौन से सिद्धान्त का उलंघन हो रहा है। विकिपिडिया यदि दस चींजें नहीं है तो वह हजार चीजें है - यह मत भूलिये। अनुनाद सिंह ०४:५९, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)

हास्य इतना आसान नही है![संपादित करें]

देबाशीश, 'भाषाविद' के कोई सींग नहीं होते या कोई लंदन और वाशिंगटन में ही भाषाविद नहीं जनमते। आवश्यकता पड़ने पर नये-नये श्बद रचना किसी समाज के आत्मविश्वास की निशानी है। पिछड़ा समाज सदा नकल करने के लिये अभिशप्त रहता है। गीता का यह श्लोक कितना कुछ कहता है -

"यद् यद् आचरति श्रेष्ठ: तद् तद् एव इतरो जन: | स यद प्रमाणं कुरुते, लोक: तद् अनुवर्तते ||" (श्रेष्ठ व्यक्ति जो कुछ आचरण करता है वैसा ही दूसरे लोग करते हैं। वह जो चीज कह या कर देता है लोक उसी के पीछे-पीछे चलता है।)

यह बात श्रेष्ठ व्यक्ति और सामान्य व्यक्तियों के विषय में कही गयी है किन्तु यह एक श्रेष्ठ समाज और पिछड़े समाज पर भी उतना ही सटीक तरह से लागू होता है। आपके दिमाग को इस तरह से प्रोग्राम कर दिया गया है कि एक देसी शब्द आपको हास्यास्पद लग रहा है। कल आप अन्यत्र कहते हुए पाये जायेंगे कि हिन्दी में तकनीकी शब्दों की बहुत कमी है; हममे कोई नयी चीज करने की क्षमता नही है- यह कोई बड़ी बात नहीं है किन्तु नई चीजों के लिये 'अपने शब्द' तक बनाने की क्षमता (या संस्कार) गायब हैं। और इसके आगे कोई दूसरा व्यक्ति एक वाक्य और जोड़ देगा - जब अधिकांश वैज्ञानिक और तकनीकी शब्द अंग्रेजी में ही हैं तो अंग्रेजी भाषा में शिक्षा देने में क्या बुराई है?अनुनाद सिंह ०३:५०, ७ अक्टूबर २००९ (UTC)

अनुनाद जी , आप तो विषय से ही अलग जाने लगे , यहाँ कोई श्रेष्ठ व तुच्छ की बात ही नहीं हो रही है , मामला सिर्फ यह है की क्या " बिसबिसवा" सही शब्द है या नहीं .मैं भी यही कहूँगा की इस लेख को कायदे से ट्वेंटी ट्वेंटी होना चाहिए न की बिसबिसवा . --सुमित सिन्हावार्ता १७:३३, ७ अक्टूबर २००९ (UTC)
सुमित जी, क्या "कायदे से" विशेषण जोड़ देने से तर्क की इतिश्री हो जाती है? कम से कम अपनी बात के समर्थन में तर्कपूर्ण एक वाक्य तो लिख सकते थे? अनुनाद सिंह ०४:४५, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)
अनुनाद जी विकीपीडिया इंवेंशन करने की नहीं डिस्कवरी करने की जगह है। Wikipedia is not a place to write fiction or publish your PhD thesis. संसार में विद्यमान तथ्य यहाँ शामिल करते हैं; काल्पनिक चीज, शोध प्रबंध यहाँ नहीं लिखे जाते। Wikipedia mentions substantiated facts. यह लेख पढ़ियेगा - दस चीजें जो विकिपीडिया नहीं है The objection is not on your creation of the word but that you chose Wikipedia for expressing this. Appropriate locations for your 'imaginative' word are your blog or sister sites such as http://future.wikia.com. Hope you get the point! --देबाशीष ०४:१८, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)
देबाशीश, ये घिसी-पिटी बातें क्यों लिख रहे हैं? कृपया साफ-साफ बताइये कि "बिसबिसवा" से विकिपिडिया के किस सिद्धान्त का उलंघन हो रहा है? क्या आपको 'डिसकवरी' और 'इंवेंशन' में अन्तर बिल्कुल साफ है?अनुनाद सिंह ०४:४५, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)
देबाशीश, आपसे एक और चीज जानने की इच्छा है। यह मुर्गी और अण्डे वाला चिरपरिचित सवाल है। यह बताइये कि शब्द पहले प्रयोग किये जाते हैं तब शब्दकोश में जाते हैं या पहले शब्दकोश में जाते हैं फिर प्रयोग किये जाते हैं। आप अपना उत्तर देते समय विभिन्न देशों में बने 'शब्दावली आयोगों' को मत भूल जाइयेगा। (उनका घोषित उद्देश्य ही है 'शब्दों का आविष्कार करना')
तो आप किस शब्दावली आयोग के सदस्य हैं? और यह आयोग क्या विकीपीडिया पर अपना काम कर रहा है?--देबाशीष १५:०५, ९ अक्टूबर २००९ (UTC)
एक तीसरा प्रश्न भी है। यदि मैं कहूँ कि विकिपिडिया में गिने-चुने लेखों का योगदान करके आप अपने को विकिपिडिया का पण्डित मामने का भ्रम पाल लिये हैं तो आपके पास इसका क्या उत्तर होगा? अनुनाद सिंह ०५:१९, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)
तो अब समझ आया, दरअसल आप मेरे द्वारा कहे भ्रम शब्द से आहत हो गये। चलिये हिसाब बराबर हो गया। हम दोनों ही यह भ्रम पालें रहें :) यह भी जान कर खुशी हुई कि मेरे और अपने दोनों के योगदान गिनते रहते हैं। --देबाशीष १५:०५, ९ अक्टूबर २००९ (UTC)

बिसबिसवा को हटा कर ट्वेंटी ट्वेंटी[संपादित करें]

क्या अन्य सदस्यों की भी यही राय है ?
 Yes check.svg समर्थन -ऊपर के संवादों में कारण दे दिया है --सुमित सिन्हा

कारण कहाँ है, जरा मुझे भी दिखाइये प्रबन्धक महोदय ! अनुनाद सिंह ०५:२३, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)

वार्ता १७:४२, ७ अक्टूबर २००९ (UTC)
 Yes check.svg समर्थन - Wikipedia mentions substantiated facts. Wikipedia is not a place to write fiction or publish your PhD thesis. The objection is not on Anunad's creation of the word but that he chose Wikipedia for expressing this. Appropriate locations for his 'imaginative' word are his blog or sister sites such as http://future.wikia.com. --देबाशीष ०४:२२, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)

कहीं आप 'प्रभाव पैदा करने के लिये' तो अंग्रेजी में नहीं लिख रहे हैं। आपको तो हिन्दी लिखने में कोई समस्या नहीं होनी चाहिये! मैं भी 'कुछ-कुछ' अंग्रेजी जानता हूँ। मेरा पक्का विश्वास है कि जब किसी के पास 'ठोस' तर्क नहीं होता है तो वह 'अंग्रेजी' का सहारा लेता है जबकि अंग्रेजों के सामने 'म्यायूं-म्यायूं' भी नहीं कर पाते।अनुनाद सिंह ०५:३२, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)
अनुनाद लगता है भाषाविद तो आप बन ही गये थे, अब मनोवैज्ञानिक भी बनने की ठान ली है। मैं भाषा को किसी पर दहाड़ने या खंभा नोंचने का साधन नहीं बनाना चाहता। वैसे भी विकीपीडिया को आप और पूर्णिमा जैसे लोग अपनी मिल्कियत मान कर चला ही रहे हैं तो मैं आगे तर्क नहीं करुंगा। हैरत यह है कि प्रबंधक बन जाने वाला विकीपीडियन यहाँ क्या सामग्री जा सकती है, यहाँ के क्या नियम है जैसी मूल बातों से नासमझ ही नहीं बल्कि गलत चीजों की शुरुवात कर उसी लगातार गलत वकालत भी किये जाता है। इस विषय पर यह मेरा आखिरी संदेश।--देबाशीष १४:५१, ९ अक्टूबर २००९ (UTC)
 X mark.svg विरोध देवाशीष जी के लिए अपनी पत्रिका के लिंक हिंदी विकिपीडिया के बाह्यसूत्रों में भरने के अतिरिक्त सब कुछ हास्यास्पद है। यह शब्द निर्माण की बात नहीं है बल्कि लोक से लिये गए शब्द को उचित सम्मान देने की है। आपको तो अपने नाम की सही वर्तनी तक मालूम नहीं। लोक में क्या प्रचलित है कैसे जानेंगे। शायद आप भारत में रहते भी न हों।--सुरुचि १२:४१, १७ अक्टूबर २००९ (UTC)


 X mark.svg विरोध -कारण नीचे दिया गया है।--आशीष भटनागर  वार्ता  १८:०५, ७ अक्टूबर २००९ (UTC)

चाहे बिसबिसवां नहीं, किंतु हिन्दी नाम हो[संपादित करें]

ऊपर के वार्तालापों में अनुनाद जी की बात से ये स्पष्ट होता है, कि उन्होंने बिसबिसवां शब्द पर नहीं बल्कि हिन्दी शब्दों के प्रयोग पर जोर दिया है। कृति जी के अनुसार यदि हम गूगल के सर्च परिणामों पर जायें, तब हमें हिन्दी अंकों के बजाय अंग्रेज़ी अंकों के कई गुने परिणाम मिलेंगे, किंतु हम हिन्दी अंक ही प्रयोग करते हैं, जो कि एक लंबे चर्चा का परिणाम है।
यहां हम चाहे बिसबिसवां शब्द विशेष न प्रयोग करें, इसे बीस-बीस क्रिकेट नाम दें, या कोई और, किंतु हिन्दी मान ही दें। क्रिकेट शब्द के अंग्रेज़ी से हिन्दी में ज्यों का त्यों लिये जाने का कारण स्पष्ट है, कि तब एक तो क्रिकेट अंग्रेज़ी खेल ही था, और हिनी में इसके लिए न तो कोई शब्द था, न हिन्दी भाषियों को तब इतने अधिकार ही थे, कि परतंत्रता की जंजीरों में जकड़े हुए वे ऐसे इंपीरियल शब्द का हिन्दी अनुवाद कर पाते। किंतु अब जब हिन्दी और हिन्दी भाषियों का विश्व में उल्लेखनीय स्थान है, तब जो शब्द आये हैं, उन्हें यथा-संभव हम हिन्दी में अनुवाद कर प्रयोग तो कर ही सकते हैं।
यहां कोई भी भाषाविद हो सकता है, और किसी का भी अन्वेषित शब्द कभी विश्व में हिन्दी भाषियों के मुंह पर जा सकता है। तब कोई नया शब्द अन्वेषण करना कोई गलत बात नहीं होगी। हां ट्वेन्टी-ट्वेन्टी व ऐसे ही अन्य शब्दों को बिसबिसवां पर पुनर्निर्देशित किय़ा जा सकता है। --आशीष भटनागर  वार्ता  १८:०२, ७ अक्टूबर २००९ (UTC)

इति मे मतिः[संपादित करें]

मेरे विचार से समस्या यहाँ दो कारणों से आ रही है। एक तो ट्वेंटी ट्वेंटी का अनुवाद कर दिया गया है, दूसरा अनुवाद याथातथ्य (straightforward) नहीं है। उसमें भी हमारा टंकारबिन्दु (triggering point) इसका याथातथ्य न होना है। यकीन मानिये यदि अनुनाद जी ने "बीस-बीस क्रिकेट" शब्द लिखा होता तो वह "हाल में हुए परिवर्तन" में अनदेखा ही नीचे सरक जाता। परन्तु बिसबिसवा जाल में फँस गया, और अब अनुवाद होना चाहिये या नहीं यही मूल प्रश्न बन गया जो अन्यथा न होता। मेरा मत यह है कि यहाँ अनुवाद तो होना चाहिये परन्तु अपेक्षाकृत मानक तरीके से। देखिये हिन्दी में मैंने तो निम्न विधियों से अंग्रेजी के समकक्ष शब्द बनते देखे हैं:

  • या तो वह अंग्रेजी शब्द इतना अनुशासित होता है कि हिन्दी में उसका सीधा अनुवाद हो जाता है। जैसे- आर्टिफ़िशियल इन्टेलीजेन्स जब आई तब हमारे पास दोनों शब्दों का देशज था अतः कृत्रिम बुद्धिमत्ता आसानी से बन गया, पार्टिकल फ़िज़िक्स का कण भौतिकी आदि।
  • या फिर वह शब्द आधिकारिक प्रयोग से रिसकर नीचे आता है- जैसे मानित विश्वविद्यालय (डीम्ड यूनिवर्सिटी), मानद उपाधि (ऑनरेरी डिग्री), इनपर इसलिए मतभेद नहीं हुआ क्योंकि जो इसके मालिक हैं, या दाता हैं (सरकार) उन्होंने ही यह नाम चुना।
  • या फिर वह शब्द सबसे पहले अखबार प्रयोग करते हैं। हाँ सारे अखबारी लेख जिम्मेदार भाषा में नहीं लिखे जाते, परन्तु अनेक बार वे अच्छे शब्द हिट करते हैं, तथा जनता उन्हें स्वीकारती है। जैसे लैफ़्ट हैंडेड बैट्समैन को खब्बू (थोड़ा बहुत तो चला है), मिस यूनीवर्स को विश्व सुन्दरी आदि।
  • या फिर वह शब्द अच्छे शब्दकोश में आते हैं।
  • पाँचवाँ तरीका आजकल जोर पकड़ रहा है, जो मुख्यतया इंटर्नेट के कारण है। इसमें वेब या चिट्ठा प्रयोजक जनता में से कोई व्यक्ति अपनी कल्पना व विद्वत्ता का मिश्रण कर बनाये शब्द का प्रयोग अपने किये धरे (साइट या चिट्ठे) में करता है, तथा जब कोई अन्य प्रयोक्ता जो गूगल पर हिन्दी शब्द ढूँढ रहा होता है, तब उसे वह मिलता है, वह उसे अच्छा लग जाता है।

अब सवाल यह है कि अनुनाद जी यह पाँचवाँ तरीका विकिपीडिया पर अपनाना चाह रहे हैं, जो हममें से अधिकांश को मान्य नहीं है। यदि मुद्दे को व्यापक रूप से देखा जाये तो उपर्युक्त में से तरीका (1) तो कठिन शब्दों के लिए लागू नहीं होता। तरीका (2) कभी-कभार ही काम करता है, क्योंकि सरकारी भाषिक प्राधिकरण (यदि हैं तो) शीतनिद्रा में रहते हैं (और उनके लिए हमेशा शीतऋतु रहती है) तरीका (3) चान्स पर निर्भर है, क्योंकि सारे पत्रकार भाषाविद् नहीं होते, और उन्हें अपना धन्धा भी चलाना है। तरीका (4) तो मैंने बस लिख दिया है होता नहीं है। आप "मानक" शब्दकोश देखिये शायद इन्टर्नेट की हिन्दी भी न मिले (एन्ट्री ही न मिलेगी)। और यह व्यथा हमारे कई साथी व्यक्त कर चुके हैं। तरीका (5) तो मैं न कहूँ तब भी चल ही रहा है।

मुझे लगता है कि हमें बीस-बीस क्रिकेट शब्द अपना लें। ट्वेंटी ट्वेंटी को रीडायरेक्ट कर दें। क्योंकि तरीके (3) व (5) पर ही हिन्दी के शब्दनिर्माण की आशा टिकी है, भले ही यह विकि की सामान्य प्रथा न हो, कहीं तो शब्द बनाना ही होगा। यह शब्द यदि अखबार वाले बनाते तो बीसबीसिया क्रिकेट या बीसबीसा क्रिकेट लिखते। परन्तु बिसबिसवा में पूर्वी हिन्दी की झलक है, जो इसका स्वरूप अपकेन्द्रीय कर रही है (पूर्वी हिन्दी के प्रति पूर्ण आदर के साथ)। परन्तु अभी या तो इनपर सर्वसम्मति बने,यदि सर्वसम्मति न हो तो सबसे सरल बीस-बीस क्रिकेट ही है। बाद में अगर कोई शब्द मीडिया में उछलता है, तो आसानी से पाच्य होगा। सर्वसम्मति को नमस्कार के साथ। -Hemant wikikosh ०५:५१, ८ अक्टूबर २००९ (UTC)

हेमंत भाई बहस यहाँ ट्वेंटी ट्वेंटी का हिन्दी शब्द बनाने की नहीं है, बल्कि इस बात पर है कि क्या यह विकीपीडिया पर होना चाहिये। अनुनाद को पूरा हक है कि वे शब्द रचें, कहानियाँ पद्य भी रचें, पर यह करने का मंच विकीपिडिया नहीं हो सकता। मेरा कहना हैः नहीं क्योंकि आप विकीपीडिया पर वहीं बातें लिखते हैं जिनका सत्यापन किया जा सके। शब्द मानक हों, अगर बहुप्रचलित शब्द है तो भी किसी स्थापित मान्य प्रकाशन में इसका ज़िक्र हो यानि आप स्रोत को उद्धरित या संदर्भित करें तब बात मानी जाती है विकीपीडिया पर। भोपाल में एक बड़ा लोकप्रिय लतीफा चलता है जिसमें कहा गया है कि विलियम शेक्सपीयर दरअसल एक भोपाली शायर वली शेख पीर थे, तो क्या हम यह उनका हिंदुस्तानी नाम मान लें? हैरी पॉटर को मैं मजाक में हरी दा पुत्तर कहता हूँ तो क्या यह उसका हिन्दी तजुर्मा हो जायगा? ट्रेडनेम जैसे विंडोज़, एप्पल के पृष्ठ क्या हिन्दी में खिड़कियाँ और सेब नाम से बनें? मेरे ख्याल से ट्वेंटी ट्वेंटी भी शायद ट्रेडनेम हो। वैसे बता दूं की सीडैक जैसे संस्थाओं ने इटरनेट का हिन्दी समानार्थी ही नहीं कंप्यूटर संबंधित अनेक मानक शब्द हिन्दी में बनाये हैं, ये सरकारी "मानक" शब्द हैं। यहाँ देखें http://www.cdacnoida.in/itterms/default.htm--देबाशीष १५:००, ९ अक्टूबर २००९ (UTC)

बहस[संपादित करें]

जब भी अंग्रेजी मे कोई शब्द सर्जना होती है तो बाकी सारी विकसित भाषाओं मे तभी की तभी उसके लिए नये शब्दों का सर्जन किया जाता है (यदि यह कार्य किसी अन्य यूरोपीय भाषा, चीनी, जापानी या कोरियाई में होता है ते यही प्रक्रिया अंग्रेजी मे दोहराई जाती है, पर भारतीय भाषाओं और विशेषकर के हिन्दी में सभी चाहें भाषाविद हों या सरकारी नौकर या आम जनता अंग्रेजी शब्दों को जस का तस अपनाने की सलाह देते हैं, यदि आज जो स्थिति है वो 200 साल पहले होती तो सभी आज अंग्रेजी ही बोल रहे होते क्योंकि कोई भी नया शब्द हिन्दी में आता ही नहीं.

आज कुछ भी नया होता है हम बड़ी आसानी से अंग्रेजी शब्दों का प्रयोग हिन्दी में कर लेते हैं, (मुझे पता नहीं केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय में बैठे लोग जो सरकार से हर महीने मोटी तनख्वाह झटकते हैं वो क्या करते हैं?) क्योंकि हिन्दी का कोई भी काम अधिकृत तो होता नहीं ना सरकार में ना न्यायालय मे इसलिए किसी को कोई चिंता भी नहीं होती.

जब कभी भी ट्वेंटी ट्वेंटी क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया या दक्षिण अफ्रीका या इंग्लैंड मे खेला गया होगा तो खेल के प्रारूप के आधार पर इसका नाम ट्वेंटी ट्वेंटी रखा गया होगा जो सभी गुलामों बिना किसी सवाल के अपना लिया होगा.

आज इस बात पर बहस हो रही है कि इसका क्या नाम हो, तो सीधा सरल उत्तर है इसे बीस बीस ही कहना उचित होगा, बिसबिसवा तो कहीं से मानक शब्दावली से मेल नहीं खाता और गंवारू प्रतीत होता है.


इसी तरह से अगर "अंडर-19" को यदि "19-से कम" कहा जाए तो कैसा रहे? -दिनेश स्मिता 13:33, 9 अक्टूबर 2009 (UTC)

नाम का सुधार[संपादित करें]

विकिपीडिया के नियमों के द्वारा : en:Wikipedia:What_Wikipedia_is_not#Wikipedia_is_not_a_publisher_of_original_thought,en:Wikipedia:Wikipedia is not for things made up one day । इस लेख का नाम बिसबिसवा से ट्वेन्टी ट्वेन्टी किया जा रहा है --सुमित सिन्हावार्ता १४:०२, १० अक्टूबर २००९ (UTC)

कई सदस्यों ने इस सुधार के कारण का खुलासा पूछा है , जो कि मैं नीचे लिख रहा हूं :
बिसबिसवा को हटा कर ट्वेन्टी ट्वेन्टी करना कोई निजी कारण नहीं था , यह विकिपीडिया के नियम (en:Wikipedia:What_Wikipedia_is_not#Wikipedia_is_not_a_publisher_of_original_thought , en:Wikipedia:Wikipedia is not for things made up one day) हैं जो ट्वेन्टी ट्वेन्टी के पक्ष में हैं । विकिपीडिया का कहना है कि "Wikipedia is not a place to publish your own thoughts and analyses or to publish new information not previously published." व en:Wikipedia:No original research के तहत "it aims to be a summary of information that has already been published. It does not seek to be a place where new information is published for the first time – for that we have newspapers, academic journals, publishers of books and so on. It does not exist to promote new things and spread new knowledge." बिसबिसवा एक ऐसा शब्द है जो अभी कहीं पब्लिश नहीं किया गया है व नियम के तहत विकि में वह जानकारी लिखी जानी चाहिए जो पहले से पब्लिश की जा चुकी है व विकी में आप स्वयं से बनाया कोई नया शब्द नही लिख सकते हैं। धन्यवाद--सुमित सिन्हावार्ता ०४:५०, १४ अक्टूबर २००९ (UTC)
बिसबिसवा कोई नया शब्द नहीं है सुमित जी। लोक में हजारों जगह इसका प्रयोग हो रहा है। लेकिन बिना मतदान के नाम बदलना ठीक नहीं है मैंने मराठी की तरह इसका हिंदी अनुवाद रखा है। आशा है बिसबिसवा के बहुमत में आने तक बीस बीस प्रतियोगिता शीर्षक का कोई विरोध नहीं होगा।
चर्चा का गला घोंटने के बाद 'स्पष्टीकरण' का कोई मतलब नहीं है। हो सके तो यह बता दीजिये कि आपको इतनी जल्दी क्या थी? अनुनाद सिंह १:०१, १७ अक्टूबर २००९ (UTC)
Suruchi, Anunad: Kya aapko do batein samajh nahi aa rahin? (1) Wikipedia per aa naye shabd nahi rach sakte. Aap apne blog per yeh kaam karein kissi ko koi aapatii nahi hogi. (2) "Twenty Twenty" standard trade-name hei, jiska anuvad nahi kiya ja sakta, theek waise hi jaise 'Windows", "Apple" ko hum "Khikiyan" aur "Seb" nahi pukar sakte. Mein "Twenty Twenty" ka prithak page bana raha hoon, kyonki aap log shayad ab bhi nahi samajhenge.--देबाशीष ०४:०१, २७ अक्टूबर २००९ (UTC)
अच्छी बात है कि 'वाक-ओवर' देने के बाद आप फिर लौट आये। पहले इस बात का खुलासा करिये कि 'ट्वेन्टी-ट्वेन्टी' ट्रेडनाम है। यदि यह ट्रेड नाम है तो 'वन-डे' को एकदिवसीय किस मूर्ख ने कर दिया। अरे भैया जो स्वाभिमानी लोग हैं वे दूसरों का दिया हुआ और विश्व भर में प्रचलित नाम तक बदल देते हैं। सिलोन --> श्रीलंका, बर्मा --> म्यांमार, इन्डोचीन --> वियतनाम, कलकत्ता --> कोलकाता, बॉम्बे --> मुम्बई आदि। अंग्रेज लोग जर्मनी को 'जर्मनी' कहते रहें लेकिन जर्मन लोग उसे ड्युशलैण्ड ही कहेंगे - वे भी कह सकते थे कि कौन जानता है ड्यूश्लैण्ड, शुरू करो 'जर्मनी' कहना।
बिना दस्तखत के बेनामी टिप्पणीकारः विषयांतर न हो अतः http://www.cricket20.com/ वेबसाईट पर तव्वजोह देने की गुजारिश करुंगा, सबसे नीचे पढ़ियेगा, "Twenty20 and Twenty20 Cup are registered trade marks of the England and Wales Cricket Board Limited (the “ECB”)." शायद अब बात समझ आये। अगर यह बात न भी होती तो मेरा प्रतिवाद होता कि आपकोया अनुनाद को किसने यह हक दिया कि विकीपीडिया पर आप मानक शब्द रचें? आप यहाँ अनुवाद या संदर्भित विषय ही समाविष्ट कर सकते हैं, यह स्थान रचना करने का नहीं है। --देबाशीष १८:२४, ७ नवंबर २००९ (UTC)

आशा है कि इस बार आप बीच में चर्चा से नहीं भागेंगे। अनुनाद सिंह ०४:४२, २७ अक्टूबर २००९ (UTC)

अनुनादः क्या आप यह समझते है कि हिन्दी विकीपीडिया की स्थिति आप लोगों के चलते अब ऐसी हो चुकी है कि मेरे जैसे लोगों को यहाँ से भागना पड़े? अगर हाँ, तो कारण आपको ही सोचना होगा। --देबाशीष १८:२४, ७ नवंबर २००९ (UTC)

देवाशीष जी आपको और कोई काम नहीं बचा है क्या? बस सूर्खियों एवं विवादों में ही रहना चाहते हैं क्या। आप जैसा बुद्धिमान व्यक्ति जिसने हिन्दी का वेब पर विकाश के लिए इतना कुछ किया है ये सब करते शोभा देता है क्या। धर्म की आलोचना में भी आपका वही हाल था यहाँ बीस बीस या ट्वेंटी ट्वेटी में भी यही हाल है। अपनी क्षमता और शक्तियों का सही प्रयोग करें इससे हिन्दी एवं हिन्दी विकि दोनों का भला होगा।--Munita Prasadवार्ता ०५:१०, २७ अक्टूबर २००९ (UTC)

मुनीता जी अपने लहजे पर ध्यान दें, अगर बराबरी के साथ मैंने भी जवाब दिया तो अप्रिय स्थिति बन जायेगी। किसी भी विवादास्पद पृष्ठ को लॉक कर देने से समस्या का हल नहीं निकाला जा सकता। दूजे हर कोई यहाँ स्वयंसेवी के तौर पर अपना योगदान देता है, मुझे किसी को यह सफाई देने की दरकार नहीं कि यहाँ मेरा कितना या क्या काम है। मैं यहाँ पर किसी की पीठ खुजाने नहीं आता। --देबाशीष १८:२४, ७ नवंबर २००९ (UTC)

धन्यवाद--Munita Prasadवार्ता ०३:००, ८ नवंबर २००९ (UTC)

हर जीवित भाषा में नए नए शब्द बनते रहते हैं परन्तु प्रचलन में वही शब्द स्वीकार्य होते हैं जिन्हे जन मानस या लोकमानस स्वीकारता है। बीस बिसवां भी ऐसा ही शब्द है। लेकिन ट्वेंटी-ट्वेंटी का स्थानापन्न नहीं हो सकता। "बिसवा" जैसे शब्द का प्रयोग दो रूप में होता है- एक तो भूमि की माप (एक बीघे में बीस बिसवा होते हैं, और दूसरा ब्राह्मणौं की उपजाति जैसे बीस बिसवा, आठ बिसवा का ब्राह्मण आदि......) इसलिए इस शब्द का प्रयोग क्रिकेट के लिए करना नितान्त बेमानी है। इसे कोई स्वीकार नहीं करेगा। दूसरी बात यह कि शब्द निर्माण सामूहिक रूप से होता है..... कोई व्यक्ति इसका निर्माता नहीं होता है पूरा समाज निर्माता होता है...... यही नए शब्दों के बनने व स्वीकार होने की प्रक्रिया होती है। आप लोग जिस तरह के तर्क और कुतर्क वकि पर लिख कर समय खराब कर रहे हैं वह ठीक नहीं है और भाषा विषयक अनुभव का अभाव इसके मूल में है। देबाशीष और अनुनाद दोनों विद्वान हैं पर अभी धैर्य की दोनों में कमी है, आप किसी शब्द को जोर देकर लोक जीवन में स्वीकृत नहीं करवा सकते हैं....... क्योंकि लोक मानव भाषा का डिक्टेटर होता है उसे जो शब्द ठीक लगता है उसी को स्वीकारता है और जो ठीक नहीं लगता है उसे एक झटके में अस्वीकार कर देता है। भाषा की पहचान उसके परसर्ग चिह्नों से होती है। यदि हिन्दी का विभक्ति चिह्न लगा है तो माना जाएगा कि उस शब्द विशेष का हिन्दीकरण कर लिया गया है। चाहे वह- रेल, स्टेशन, कालेज, तौलिया, चाकू जैसे विदेशी शब्द क्यों न हों प्रयोंग के अनुसार ये सब हिन्दी के शब्द हैं। --आलोचक ०३:५९, ८ नवंबर २००९ (UTC)

नया नाम[संपादित करें]

मेरे विचार में इस लेख का नाम बीसम बीस या बीस बीस प्रतियोगिता ठीक रहेगा। कोष्टक में ट्वेन्टि-ट्वेन्टि भी लिख सकते हैं। रोहित रावत ०६:२१, ८ नवंबर २००९ (UTC)

मै रोहित के सुझाव से सहमत हूँ। अगर हिंदी नाम ही देना है तो बीस बीस प्रतियोगीता ही उचित रहेगा। इस नाम मे किसी प्रान्त विशेष का प्रभाव भी नजर नही आता है और एक सरल एवं सुगम नाम है। हिंदी विकि पर खोजने वाला व्यक्ति इस नाम को type करे, इसकी अधिक संभावना है। --गुंजन वर्मासंदेश ०७:२७, ८ नवंबर २००९ (UTC)

विकिपीडिया के नियम[संपादित करें]

प्रबन्धक कृपया ध्यान दें , मै फिर से लिखता हूं, इस लेख का नाम बीस बीस या बिसबिसवा न होने का कारण है - विकिपीडिया के नियम जिन्हे मै पहले ही ऊपर बता चुका हूँ, कृपया इस लेख का नाम पुनः बिसबिसवा या बीस बीस क्रिकेट कर विकिपीडिया के नियमों का उल्लंघन न करें --सुमित सिन्हावार्ता १७:३४, १४ मार्च २०१० (UTC)