वार्ता:झलकारी बाई

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह पृष्ठ झलकारी बाई लेख के सुधार पर चर्चा करने के लिए वार्ता पन्ना है। यदि आप अपने संदेश पर जल्दी सबका ध्यान चाहते हैं, तो यहाँ संदेश लिखने के बाद चौपाल पर भी सूचना छोड़ दें।

लेखन संबंधी नीतियाँ

कुछ प्रश्न[संपादित करें]

नमस्कार! पिछले कुछ दिनों से मैं झलकारीबाई के बारे में अंग्रेजी विकीपीडीयापर आलेख लिख रहा था. उनके जीवन के संबंध में कुछ प्रश्न है, वह उपस्थित करना चाहता हूं:

मुख्य प्रश्न उनकी मृत्यू तिथी के बारे में है. जैसे के यह विकीपीडीया लिखता है, उनकी मृत्यू अप्रैल ४, १८५७ को हुई. यहा शायद कोई गलतफ़हमी हुई है. ह्यु रोज ने झांसी पर हल्ला किया था वह तारिख थी अप्रैल ३-४, १८५८ (न की १८५७). The advanced history of India (McMillan Publications) में रोज़ के झांसी पहुंचने की तारिख अप्रैल ३, १८५८ दी है और रानी के कालपी के लिये छुपकर निकलने की घटना को ३ और ४ की रात्री को बताया गया है (तथापि यहा झलकारीबाई का उल्लेख नहीं है).

इसके बाद भी उनकी मृत्यू तिथी के बारे में मतभेद हैं. वृंदावनलाल वर्मा जिन्होने पहली बार झलकारीबाई का उल्लेख उनकी "झांसी की रानी" पुस्तक में किया था उनके अनुसार रानी और झलकारीबाई के संभ्रम का खुलासा होने के बाद ह्यु रोज़ ने झलकारीबाई को मुक्त कर दिया था. उनके अनुसार झलकारी बाई का देहांत एक लंबी उम्र जीने के बाद हुआ था (उन्होने खुद झलकारीबाई के नाती से जानकारी ली थी). श्रीकृष्ण सरल ने मात्र अपनी Indian revolutionaries: a comprehensive study, 1757-1961, Volume 1‎ पुस्तक में उनकी मृत्यू लढाई के दौरान हुई थी ऐसा वर्णन किया है. बद्री नारायण अपनी Women heroes and Dalit assertion in north India: culture, identity and politics‎ किताब में वर्मा से सहमत दिखते है.

अगर उनकी मृत्यू एक लंबी उम्र के बाद हुई थी तो क्या उनके उत्तरकालीन जीवन के बारे में कुछ जानकारी उपलब्ध है? उत्तरप्रदेश में कई जगह उनके स्मरण में शहिद दिवस मनाया जाता है ऐसा मैने पढा - अगर ऐसा है तो वह किस तिथी पर मनाया जाता है?

आपमें से कई लोग इस संबंध में जानकारी रखते होंगे उनसे प्रश्नॊंका समाधान चाहता हूं. आपके विचार जानने में मुझे खुशी होगी.

मैंने जिन पुस्तकों का उल्लेख किया है उन्हे google books मे यहा पाया जा सकता हैं. मेरी मातृभाषा हिंदी नहीं हैं और मै उच्च दर्जे की हिंदी लिख नहीं पाता हूं, अगर कोई गलती हुई हो तो क्षमा चाहता हूं.

मैं हिंदी विकीपिडिया का नियमित सदस्य नहीं हूं. आप अगर अंग्रेजी विकी पर मेरे लिये सुचना रख सके तो खुशी होगी. यहा क्लिक करे]. Shivashree ०४:००, १७ मार्च २०१० (UTC)

प्रथम तो आपका हिन्दी विकीपीडिया पर हार्दिक स्वागत करना चाहुंगा। इसके बाद धन्यवाद, कि आपने यहां लेख पढ़े, व उनमें कुछ गलत लगने पर प्रश्न किया। हां ये लेख मेरा तो बनाया हुआ नहीं है, किन्तु इसमें दिये गए संदर्भ के अनुसार में वीरांगना - झलकारी बाइ पर देख सकता हूं, कि उसमें इनकी मृत्यु तिथि ४ अप्रैल, १८५७ ही बतायी गई है। साथ ही वहां ये भी लिखा है:
अखिल भारतीय युवा कोली राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ॰ नरेशचन्द्र कोली के अनुसार ४ अप्रैल १८५७ को झलकारी बाई ने वीरगति प्राप्त की। तत्कालीन इतिहासकारों ने लम्बे समय तक झलकारी बाई के योगदान को नजरअन्दाज किया, किन्तु बुन्देलखण्ड के अनेक लेखकों ने उनकी शौर्य गाथा गाई हैं। जिनमें चोखेलाल ने उनके जीवन पर एक वृहद् काव्य लिखा है और भवानी शंकर विशारद ने उनके जीवन परिचय को लिपिबद्ध किया है।
हां यदि आपके पास कुछ बेहतर सूचना उपलब्ध है, तो आपका स्वागत है, उसे संदर्भ सहित अवश्य बदलें, और हाम विवाद होने पर चर्चा कर सकते हैं, या कम से कम विवादित तिथियों को दोनों के संदर्भ सहित २-५ वाक्यों में अंतिम अनुच्छेद में दे सकते हैं। इस बारे में अधिक चर्चा के लिये सुरुचि जी से संपर्क किया जा सकता है। उन्हें ई-मेल भेजने हेतु पता तो उपलब्ध नहीं है, किन्तु सदस्य वार्ता:सुरुचि पर उन्हें एक संदेश लिख सकते हैं। आगे भी आपका योगदान अपेक्षित रहेगा। भाषा में कमजोरी है तो कोई बात नहीं, सरल भाषा का प्रयोग करें।--प्र:आशीष भटनागर  वार्ता  ०९:३०, १८ मार्च २०१० (UTC)