वार्ता:चित्रांग मौर्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

चित्रांगत मोरी[संपादित करें]

गायरी वंस 2409:4043:69B:85BF:0:0:2C6:A8AD (वार्ता) 18:09, 2 जुलाई 2021 (UTC)[उत्तर दें]

चित्रांगद मोरी राजपूत क्षत्रिय वंश चर्चा[संपादित करें]

मोरी राजपूत वंश है, ये किस आधार पर गडरिया लिखा गया इस पेज पर इनको ?? Amansinghmurao (वार्ता) 16:27, 10 सितंबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

राजपूतों के छत्तीस वंश दोहा

दस सूरज , दस चन्द्र ते , द्वादस रिसी प्रमांण । चार अगन ते जानिये , छत्तीस वंस बखांण ॥

सूर्यवंश

कमधज काठी कठेरिया , मौर्य (मोरी) पणिहार बैस । कूरम गुहिल बडगुजर , जोया दस ही वंस दिनेस ॥

चन्द्रवंश

जादव(यदु) झाला कलचुरी , गुप्त वंस पलवार । गौड़ तंवर अर चावड़ा , दहिया ने कटुचार ॥

रिसीवंश

देवळ सेंगर- दाहिमा , गौतम उदमतिया बांण । पल्लव नाग भृगु गर्ग , कदम जेठवा जांण ॥

अग्निवंश आबू परबत ऊपरै , ब्रह्मा मुख ते चार । चहुवांण पंवार पुनि , सोलंकी पड़िहार ॥ Amansinghmurao (वार्ता) 16:34, 10 सितंबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]

होते होंगे राजपूतों में भी मोरी लेकिन चित्रांगत मोरी चंद्रगुप्त मौर्य वंशज है जोकि धनगर गडरिया वंस से ताल्लुक रखते हैं । संसद भवन के द्वार संख्या 5 के सामने प्रांगण में लाल बलुआ पत्थर की पीठिका पर चन्द्रगुप्त मौर्य की 2 1/3 फुट ऊँची प्रतीकात्मक प्रतिमा स्थापित है। इस प्रतिमा के नीचे निम्नलिखित अभिलेख अंकित है:-

बालक अजापाल चन्द्रगुप्त मौर्य भावी भारत निर्माता की कल्पना में

अजापाल का अर्थ होता है भेड़ पालक

चंद्रगुप्त मौर्य ब्राह्मण चाणक्य के पद चिन्हों पर चलकर एक गडरिया से देश का राजा बना ।

Choudhary Shrikant singh (वार्ता) 12:39, 24 सितंबर 2021 (UTC)[उत्तर दें]