वार्ता:अल्बर्ट आइंस्टीन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह पृष्ठ अल्बर्ट आइंस्टीन लेख के सुधार पर चर्चा करने के लिए वार्ता पन्ना है। यदि आप अपने संदेश पर जल्दी सबका ध्यान चाहते हैं, तो यहाँ संदेश लिखने के बाद चौपाल पर भी सूचना छोड़ दें।

लेखन संबंधी नीतियाँ

नाम परिवर्तन[संपादित करें]

यह एक लेख-स्थानांतरण आग्रह का ब्योरा है। कृपया इसे न बदलें। आगे की वार्ताएँ इस पृष्ठ पर नये विभागों में होनी चाहिएँ। इस विभाग में कोई बदलाव न करें।

स्थानांतरण आग्रह के नतीजे में लेख नये शीर्षक पर स्थानांतरित किया गया। ☆★संजीव कुमार (✉✉) 11:44, 2 दिसम्बर 2013 (UTC)


अमान्य अक्षर "[" प्राप्त हुआ "1" प्राचल में☆★संजीव कुमार (✉✉) 14:18, 20 नवम्बर 2013 (UTC)

  • टिप्पणी: संजीव एवं मनोज जी! इसके लिये हमें en:Help:IPA for English पृष्ठ भी देख लेना चाहिये। जिसमें दिये गये दिशा-निर्देशों पर यदि अमल किया जाये तो इस लेख की शुद्ध हिन्दी वर्तनी ऐल्बर्ट आइंस्टीन होनी चाहिये। चूँकि वह व्यक्ति एक जर्मन मूल का वैज्ञानिक था अत: हिन्दी में प्रचलित वर्तनी पर अन्य महानुभावों की राय का समादर भी किया जाना चाहिये। बेहतर होगा कि इस पर किसी ऐसे व्यक्ति का परामर्श लेना होगा जो जर्मन-हिन्दी दोनों भाषाओं का विशेषज्ञ हो। इस पृष्ठ के निर्माण का इतिहास देखने पर ज्ञात होता है कि इसे अब तक चौदह बार पुनर्प्रेषित किया जा चुका है। डॉ०'क्रान्त'एम०एल०वर्मा (वार्ता) 13:31, 29 नवम्बर 2013 (UTC)
क्रान्त जी, मेरा उच्चारण से कोई मतभेद नहीं है लेकिन प्रचलित वर्तनी को यहाँ अधिक महत्व दिया जाता है। चूँकि हिन्दी में प्रचलित वर्तनी "अल्बर्ट आइंस्टीन" है अतः मैंने यहाँ यह सुझाव दिया। उस अवस्था में भी "ऐल्बर्ट आइंस्टीन" अथवा "ऐल्बर्ट आइन्स्टाइन" को इस पृष्ठ पर अनुप्रेषित किया जा सकता है। यह चर्चा भी मैंने इसिलिए आरम्भ की थी क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि मेरे बदलाव करने के बाद पहले की तरह इसमें फिर से अनुप्रेषण परिवर्तित करना पड़े।☆★संजीव कुमार (✉✉) 18:00, 29 नवम्बर 2013 (UTC)
हिन्दी की यही विशेषता तो उसे विश्व की अन्य भाषाओं से श्रेष्ठ बनाती है कि हिन्दी में हम जैसा बोलते हैं ठीक वैसा ही लिखते भी हैं। चैकोस्लोवाकिया के विद्वान स्वर्गीय ओदोलेन स्मेकेल मेरे अच्छे मित्र थे। हम लोग नई दिल्ली में हुए दो अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में कई दिनों तक एक साथ रहे। वह भी हिन्दी की इसी विशेषता से प्रभावित होकर हिन्दी में लिखने की ओर उन्मुख हुए थे। उन दिनों कम्प्यूटर नहीं हुआ करता था। यह तब की बात है। मेरे मित्र en:Dr. George Grierson Award पृष्ठ देखिये। 1996 में उन्हें यह पुरस्कार मिला था परन्तु अंग्रेजी विकीपीडिया पर अभी तक उनके नाम पर पृष्ठ नहीं बना। डॉ०'क्रान्त'एम०एल०वर्मा (वार्ता) 18:45, 29 नवम्बर 2013 (UTC)
हिन्दी में भी उनके नाम से बना पृष्ठ डॉ ओदोलेन स्मेकल सन्दर्भहीन है। वैसे आपका उपरोक्त चर्चा पर वर्तमान विचार क्या है?

I think this should be ऐल्बर्ट आइंस्टीन because in English, in his name Albert, A is pronunced as ए instead of अ, where as Indian pronunciation will be अ, more over on Discovery Channel and NatGeo (Hindi Language) his name is pronunced as अल्बर्ट आइंस्टीन, better go through some YouTube videos related to Albert Einstein in Hindi and English languages to clear this confusion. Sushilmishra (वार्ता) 19:45, 29 नवम्बर 2013 (UTC)

★ संजीवजी! जहाँ तक मेरे विचार का प्रश्न है तो मैं इस लेख का नाम ऐल्बर्ट आइंस्टीन रखने का ही पक्षधर हूँ। अन्य लोगों की प्रतिक्रिया आ जाने दीजिये। सुशीलजी ने अपना अभिमत दे ही दिया है। वह भी मुझे तर्कसंगत लगता है। अन्त में सहमति ऐल्बर्ट आइंस्टीन पर ही बनेगी ऐसा मुझे विश्वास है। डॉ०'क्रान्त'एम०एल०वर्मा (वार्ता) 04:53, 30 नवम्बर 2013 (UTC)

  • अल्बर्ट आइंस्टीन एक प्रचलित वर्तनी है और गूगल खोज के परिणाम भी उसकी पुष्टि करते हैं। अगर उच्चारण पर ही जाना हो तो ऐल्बर्ट आइंश्टाइन अधिक उपयुक्त होना चाहिए। क्रांत जी, हिंदी में जो लिखा जाता है वही पढ़ा जाता है, इस वाक्य की यहाँ क्या प्रासंगिकता है? यहाँ चर्चा इस बात पर तो हो नहीं रही। सवाल यह है कि किसी विदेशी अथवा हिंदीतर भारतीय भाषाओं के शब्दों का हिंदी वर्तनी में कैसे व्यवहार किया जाय? अरस्तू का नाम क्या यूनानी उच्चारण का पालन करता है? आपने भाषाविज्ञान के मुखसुख और हस्तसुख का सिद्धांत तो पढ़ा ही होगा। आपकी सुझायी गयी वर्तनी भी सही है बस प्रचलन और व्यवहार के आधार पर अल्बर्ट को अधिक उपयुक्त माना जा सकता है। -- अजीत कुमार तिवारी वार्ता 15:55, 1 दिसम्बर 2013 (UTC)
  • अजीत जी! यह मेरा अपना मत है। दूसरी बात मैं कोई भाषाविज्ञानी भी नहीं जो इस विषय पर आपसे शास्त्रार्थ करूँ। मुखसुख और हस्तसुख का सूत्र यदि दे सकें तो आभारी रहूँगा। मेरा आपके माध्यम से कुछ ज्ञानबर्धन ही होगा। दूसरी बात मैं अपना विचार दूसरों पर थोपता नहीं। चूँकि चर्चा संजीवजी ने शुरू की थी अत: जितनी मेरे पास बुद्धि थी मैंने उत्तर दे दिया। डॉ॰ ओदोलेन स्मेकल नामक जिस लेख का ऊपर जिक्र उन्होंने किया है उसमें भी यथाशक्ति सुधार मैंने कर दिया है। डॉ०'क्रान्त'एम०एल०वर्मा (वार्ता) 17:35, 1 दिसम्बर 2013 (UTC)
  • समर्थन – समर्थन केवल गूगल हिट्स के आधार पर नहीं। मैं क्रांत जी की "जर्मन-हिन्दी दोनों भाषाओं [के] विशेषज्ञ" की माँग भी पूरा कर देता हूँ। डॉयचे वेले जर्मनी का सबसे प्रमुख अन्तराष्ट्रीय प्रसारणकर्ता है, विभिन्न भाषाओं में यह समाचार प्रकाशित करता है और उनमें सौभाग्य से हिन्दी भी शामिल है। इस नेटवर्क कंपनी द्वारा हिन्दी में जो लेख प्रकाशित होते हैं उनके लेखक भी 'अल्बर्ट आइंस्टीन' वर्तनी का इस्तेमाल करते हैं, उदहारण [1], [2], आदि। जब जर्मनी वाले (जर्मनी में रहने वाले भारतीय) भी इस वर्तनी का इस्तेमाल कर रहे हैं तो हम क्यों नहीं?<>< बिल विलियम कॉम्पटनवार्ता 18:06, 1 दिसम्बर 2013 (UTC)
ऊपर की वार्ता एक लेख-स्थानांतरण आग्रह से सम्बन्धित है। इसमें कोई बदलाव न करें। आगे की वार्ताएँ इस पृष्ठ पर नये विभागों में होनी चाहिएँ। इस विभाग में कोई परिवर्तन न करें। धन्यवाद।