वार्ता:अफ़्रीका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह पृष्ठ अफ़्रीका लेख के सुधार पर चर्चा करने के लिए वार्ता पन्ना है। यदि आप आप अपने संदेश पर जल्दी सबका ध्यान चाहते हैं, तो यहाँ संदेश लिखने के बाद चौपाल पर भी सूचना छोड़ दें।

लेखन संबंधी नीतियाँ

गुंजन जी, नमस्कार, अफ़्रीका महाद्वीप पर काम काफी अच्छा चल रहा है। इसके सहायक लेख जो आपने बनाएँ वो भी काफी अच्छे बन पड़े हैं।--Munita Prasadवार्ता १०:४८, ११ जुलाई २००९ (UTC) शुभ प्रभात! मैं अंग्रेज़ी के en:Africa#Territories and regions का अनुवाद कर रहा हूं। आप मत कीजिएगा। इसकी सारणी को सांचे के रूप में लगा दूंगा। इससे वह लेख में कम स्थान (बाइट्स) लेगी, किंतु दिखेगी पूरी वैसे ही।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:२६, १५ जुलाई २००९ (UTC)

हां, ठीक है वो अनुवाद आप कर दीजिए। वो काम आप हम सबसे बेहतर कर भी सकते हैं। आप कर दीजिए मैं जलवायु, वनस्पति आदि पर ही अभी काम कर रही हूँ। चित्रों को आप लगा रहे हैं उसमें से एक मैं पहले ही लेख में प्रयोग की हूँ आप उसको हटा कर कोई अन्य चित्र लगा दीजिएगा।--Munita Prasadवार्ता ०५:४८, १५ जुलाई २००९ (UTC)
आशीष जी वो अफ़्रीका का बायोम वाला चित्र भूप्रकृति के साथ मेल नहीं खाता है। ऐसा करते हैं कि मै जलवायु के बाद अफ्रीका की वनस्पति, एक अनुभाग बनाऊँगी उसमें उसको लगा देंगे।
--Munita Prasadवार्ता १५:५८, १५ जुलाई २००९ (UTC)
आशीष जी जलवायु एवं जलवायु के प्रदेश वाले अनुभाग के लिए कोई चित्र नहीं मिल रहा है। कोई नजर में हो तो लगा दीजिए ना।
--Munita Prasadवार्ता १६:०१, १५ जुलाई २००९ (UTC)
आपके साथ पुराने समय की तरह काम करना अच्छा लग रहा है। हां मैंने बायोम वाला चित्र उस चित्र को हटा कर लगाया था, जो दोबारा लगा था। सच कहूं तो शब्दकोष में भी बायोम का अर्थ नहीं मिला, ना मुझे पता था। सोचा कि वेजिटेशन या भू प्रकृति से संबंधित होगा। आपका कहना सही है। फिल्हाल भू-प्रकृति के लिए कोई और चित्र लगा देता हूं। सांचा पूरा नीला हो गया है, वो सुबह बताया था ना, वही वाला। उस बहाने अफ्रीका की राजधानियों के पेज भी बन गये। ठीक है ये पुराना वाला चित्र आप वेजिटेशन के लिए सुरक्षित रख लीजिए। पर फिल्हाल यहीं कहीं रख लें, या एक उप-शीर्षक बना कर इतिहास की तरह लगा दें तो सही रहेगा। इतिहास वाला चित्र कैसा है?--आशीष भटनागर  वार्ता  १६:१४, १५ जुलाई २००९ (UTC)
साँचा इतना बढ़िया बना है एवं इतनी मेहनत की है आपने उसपर कि तारीफ के लिए शब्द नहीं हैं। साँचा की सबसे बड़ी खाशियत तो मुझे ये लगी कि इतना बड़ा होने के बावजूद भी एक दिन में पूरा नीला नीला हो गया। इतिहास वाला चित्र परफेक्ट है हां मेरे पास मैटर नहीं है इतिहास के लिए पर शायद धीरे-धीरे अनूदित हो जाएगा, गुंजन जी भी अफ़्रीका पर काम कर रहे हैं।। हां, जलवायु के लिए कोई उपयुक्त चित्र मिले तो लगा दीजिएगा। बायोम वाले चित्र को बाद में वनस्पति में लगा देंगे फिलहाल रहने देते हैं। --Munita Prasadवार्ता १६:३२, १५ जुलाई २००९ (UTC)
अफ़्रीका का भौतिक मानचित्र वाला चित्र लाग कर अच्छा ही किया आपने।--Munita Prasadवार्ता १६:३५, १५ जुलाई २००९ (UTC)
पर वो ड्रेकेन्सबर्ग पर्वत वाला चित्र थोड़ा नीचे लाना होगा इथियोपिया के पठार वाले चित्र के जस्ट ऊपर या जस्ट नीचे। वो पूर्व एवं दक्षिण के उच्च पठार अनुभाग का चित्र है।--Munita Prasadवार्ता १६:३८, १५ जुलाई २००९ (UTC)
पर्वत का चित्र अब सही है? असल में पर्वत शीर्षक खाली था, तो लगा दिया था, किंतु बाद में देखा, कि ड्रेकेन्स्बर्ग वाला पाठ तो नीचे है, तब तक आपका संदेश आ गया। हां, मैंने ऊपरी ज्ञानसन्दूक भी बढ़ा दिया है।--आशीष भटनागर  वार्ता  १६:४२, १५ जुलाई २००९ (UTC)
अफ़्रीका में सब ठीक-ठाक लग रहा है बस जनवायु वाले अनुभाग के लिए चित्र मिल नहीं रहा है। जो सांचा आपने लगाया है उसके दाहिने तरफ के खाली स्थान में चार चित्र हैं अच्छा है पर नीचे का बाकी स्थान खाली लग रहा है वहाँ कुछ सम्बन्धित चित्र लगा देंगे जिससे पूरा भरा हुआ लगे। क्या कहते हैं। कामन पर एक एटलस है अफ़्रीका का वहां से कुछ मदद मिल सके शायद और ऊपर सबसे जो चित्र है उसमें चार चित्र हैं एक साथ। उसमें कुछ और चित्र डाल कर लेख में कहीं और डाल देंगें। अच्छा लगेगा।--Munita Prasadवार्ता ०४:५९, १६ जुलाई २००९ (UTC)
जो मेरे सांचे के बराबर में खाली स्थान है, वो स्थान अंग्रेज़ी में भी ऐसे ही खाली है। खैर हम उसे भर सकते हैं, और मैंने पहले भी चित्र एटलस:अफ्रीका से ही लिए थे, किंतु और कोई उस क्षेत्र के समर्थन वाला चित्र नहीं है। इतिहास के लिए बहुत चित्र हैं, बहुत सी सभ्यताओं के भी चित्र हैं। कहें तो वो लग सकते हैं। इसके अलावा अभी मैं घर पर हूं, तो चित्र आदि धीमी गति के कारण लगा पाना थोड़ा मुश्किल होगा, कल १३३० से ऑफिस में होऊंगा, तब देख लूंगा एक बार और। हां जलवायु में तो चित्र लगे हैं। और जगह नहीं है, हां मैं उन्हें व्यवस्थित कर देता हूं।वैसे मैं ऑनलाइन भी हूं, कुछ और चर्चा करनी हो तो।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०८:५२, १६ जुलाई २००९ (UTC)
मैं अफ्रीका का इतिहास अनुवाद कर रहा हूं। आप कर रही हों तो बता दीजिए, या शुरु ना किया हो, तो मत कीजियेगा।--आशीष भटनागर  वार्ता  १०:५३, १६ जुलाई २००९ (UTC)
आप अफ़्रीका के इतिहास का अनुवाद जरूर कीजिए मैं नहीं कर रही हूँ। वैसे भी मुझे यह बहुत कठिन काम लगा। मैं उसके भूगोल एवं जीव विज्ञान से सम्बन्धित हिस्से पर ही काम कर रही हूँ एवं करने की इच्छा रखती हूँ। हां मुझे कुछ मैटर मिला या कहीं कुछ सुधार कर सकती हूँ ऐसा लगा तो अवश्य करूंगी।--Munita Prasadवार्ता १७:२९, १६ जुलाई २००९ (UTC)
आशीष जी एक काम करते हैं आप अनुवाद का काम अफ़्रीका का इतिहास में कीजिए। वही मुख्य लेख है। बाद में संक्षेप करके उसको अफ़्रीका में लगा देगें। उतना विस्तृत इतिहास अफ़्रीका लेख में नहीं लिख कर उसको अफ़्रीका का इतिहास लेख में लिखते हैं। गुंजन जी और मैं दोनो ही इस पर काम कर रहे हैं।--Munita Prasadवार्ता ०५:०६, १७ जुलाई २००९ (UTC)
नमस्कार! वो अनुवाद मैंने ही किया था। कोई सॉफ्टवेयर नहीं था। वो पहले पहल का अनुवाद था, जिसे बाद में सरल भाषा और सही वाक्य रचना से सुधारना था। वो काम नहीं हो पाया है। यदि अंग्रेज़ी जितना लंबा इतिहास नहीं चाहिए तो छोटा हो जायेगा। अभी तो प्रागैताह ही हुआ है। अभी तो आगे का बाकी है। आप अंग्रेज़ी वाला देखियेगा, उसके वाक्य बहुत ही क्लिष्ट हैं। तभी पहले मात्र अनुवाद किया, वाक्य रचना बाद में देखूंगा।--आशीष भटनागर  वार्ता  १०:१३, १७ जुलाई २००९ (UTC)
अफ़्रीका के इतिहास की तरह क्या भू-प्रकृति को भी संक्षेप में लिख दिया जाए क्या? आपका क्या विचार है निर्वाचित होने की दिशा में ये कैसा कदम होगा?--Munita Prasadवार्ता १५:४५, १७ जुलाई २००९ (UTC)

भूप्रकृति को इतिहास की तरह छोटा करने का विचार वैसे तो सही है। किंतु ये तब और अच्छा रहता यदि हम सभी विषयों के उपशीर्षक लिखें। अभी भी बहुत हैं, किंतु कुछ और विषय ढूंढ कर उठाएं, या बनाएं। जैसे कि इतिहास के तीन भाग करें, प्रागैतिहास, पूर्व-इतिहास, मध्य-कालीन एवं पूर्व-साम्राज्यवाद इतिहास, तथा साम्राज्यवाद का। फिर इनमें १-२ अनुच्छेद लिखें, व पूरा विवरण अलग लेख में दें। इस ही प्रकार भू-प्रकृति में भी लिखें। इस तरह लेख पढ़ने वाले को पता चलेगा, कि हमने सभी उप-भागों को भी उठाया है, किंतु लेख को अत्यधिक लंबा होने से बचाने हेतु इनका विवरण विस्तार से अलग लेख में दिया गया है। साथ ही इन सभी अनुच्छेदों के लिए चित्र भी मुख्य लेख में लग पाएंगे।वैसे भू-प्रकृति का अंग्रेज़ी अर्थ क्या है? इसलिए पूछा कि ऐसा कोई विषय अंग्रेज़ी लेख में नहीं है। भूगोल या जलवायु तो है नहीं। कोई नय शब्द है? जियोलॉजी? अफ़्रीका के इतिहास के लिए बहुत से चित्र हैं। जनसांख्यिकी भी बाकी है। उसमें कई चित्र लग जायेंगे। और वो इतिहास की भाषा देखनी है, क्योंकि आप अंग्रेज़ी में देखियेगा, उसकी भाषा बहुत ही उलझी हुई है। खैर मुख्य लेख में कोई खास फ़र्क नहीं पड़ेगा। किंतु उसके इतिहास में बहुत से संदर्भ हैं, जो वहां चले गए हैं।

हां आर्मेनिया में एक सारणी और लगा रहा हूं। --आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:३२, १८ जुलाई २००९ (UTC)

मेरे विचार से साँचा:अफ्रीका के विषय का अनुवाद पहले कर दिया जाये, तो बेहतर नहीं होगा? फिर बाद में उससे संबंधित लेख जोड़े या बनाए या पुनर्निर्देशित किए जा सकते हैं। पूरा लेख तैयार होने तक देखने में तो सही लगेगा ना।किसी और को तो पता नहीं है, कि अफ्रीका की प्रगति चल रही है।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०२:४०, १८ जुलाई २००९ (UTC)
अफ़्रीका को देखने का समय अभी मेरे पास नहीं है आप ने जो संदेश दिया उसका मतलब भी पूरा समझ में नहीं आया मुझे। खैर आप जो करना चाहते हैं करें, सुधार हम विचार कर करसकते हैं। अफ़्रीका में मैटर काफी है बस चतुराई से उसे सजा लेगें तो निर्वाचित हो जाएगा, इतिहास में कुछ मैटर कम है। वो आप और गुंजन जी देख लीजिए। मुझे समय मिलेगा तो देखूंगी ही। हां एक बात वो आज का आलेख में आर्मेनिया को जो सुझाव दिया था आपने वो मैंने चयनित करके लगा दिया है। पर चयनित होने के बद जो अनुच्छेद आपने अचानक जोड़ा है उसमें वर्तनी एवं वाक्य रचना की अशुद्धियाँ हैं यदि समय मिले तो दूर कर दें।--Munita Prasadवार्ता ०५:०७, १८ जुलाई २००९ (UTC)
आर्मेनिया की नए अनुच्छेद की वर्तनी देख लेता हूं। आगे के लिए भीमबेटका तैयार कर रहा हूं। होने पर आलेख प्रत्याशी में लगा दूंगा। अफ्रीका का इतिहास अभि सही ही है। और कुछ के लिए मैंने लिखा था, कि मुख्य लेख में इतिहास अनुभाग में प्रागैतिहार, पूर्व-इतिहास, मध्य इतिहास और साम्राज्यवाद काल नाम से ४ उपशीर्षक बना कर १-१ पैरा डाल दें, व १-१ चित्र भी। पूरा डिटेल अफ्रीका का इतिहास में रहेगा।--आशीष भटनागर  वार्ता  ०५:१३, १८ जुलाई २००९ (UTC)
आशीष जी पहले से एक श्रेणी है अफ़्रीका एवं आपने एक नई बना दी है अफ्रीका। आपकी नयी बनाई श्रेणी में दस लेख एवं पाँच उपश्रेणियाँ भी बन गई हैं। पूरानी श्रेणी में 119 लेख एवं 10 उपश्रेणियाँ हैं। मैं नई श्रेणी के सभी लेखों एवं उपश्रेणियों को पूरानी श्रेणी में डाल रही हूँ। कृपया इसका ध्यान रखिएगा कि ऐसा दुबारा नहीं हो क्योंकि इस काम को करने में बेकार की ऊर्जा एवं समय नष्ट हो रहा है। धन्यवाद।--Munita Prasadवार्ता १६:०५, १८ जुलाई २००९ (UTC)
ये क्या जी आपने प्रवेशद्वार भी उसी में बना दिया है। अब उसमें श्रेणी कहां डाला है आपने वो मुझसे ढूड़े भी नहीं मिलेगा इस काम को आप ही कीजिए एवं कृपया REDIRECT नहीं कीजिएगा। उससे कोई लाभ नहीं होगा उल्टा पुल्टा रिजल्ट आता है।--Munita Prasadवार्ता १६:०८, १८ जुलाई २००९ (UTC)
माफ़ कीजिएगा, मैंने आपका श्रेणी वाला संदेश नहीं देखा था। और आपने शायद ये भी देखा ही होगा, कि मैंने शुरु से ही हर जगह अफ्रीका लिखा है, तो श्रेणी भी वही बन गई। आपको बहुत मेहनत करनी पड़ी। खैर अब जो बचा है, मैं बदल देता हूं।--आशीष भटनागर  वार्ता  १७:०४, १८ जुलाई २००९ (UTC)
हां तब ठीक है। कीजिए। मुझे लगा कि आप अभि हैं नहीं, तो कहीं कल का रह ना जाए। वैसे आपने ध्यान रखा ही होगा। हां श्रेणी:अफ्रीका खाली हो गई है। उसमें बस प्रवेशद्वार है, वो सांचे के कारण हट नहीम पाएगा, क्योंकि प्रवेशद्वार का नाम भी अफ्रीका है, प्रवेशद्वार का नाम बदलने पर बहुत सारे सांचे बदलने होंगे। इससे बेहतर था, कि प्रवेशद्वार को दोनो श्रेणियों में रहने दें।फिल्हाल।--आशीष भटनागर  वार्ता  १७:३१, १८ जुलाई २००९ (UTC)
भू-प्रकृति की अंग्रेजी physical feature होना चाहिए। किताबों में तो यही लिखा है।--Munita Prasadवार्ता ०२:१८, १९ जुलाई २००९ (UTC)

अफ़्रीका के अनुभाग धर्म का थोड़ा विस्तार कर सकते हैं क्या? वो अनुभाग अन्य अनुभागों की तुलना में काफी छोटा है।--Munita Prasadवार्ता १४:५०, २० जुलाई २००९ (UTC)

निर्वाचित लेख[संपादित करें]

अफ्रीका लेख में मैंने वर्तनीगत कुछ संशोधन किए हैं। इस वाक्य में " अरब दास" कुछ गड़बड़ लग रहा है। कहीँ यह "अरब द्वारा" तो नहीं है ? इसे कृपया देख लीजिए " इस्लाम के प्रचार के साथ ही अरब दास व्यापार की भी शुरुआत हुई जिसने यूरोपीय देशो को अफ्रीका के तरफ आकर्षित किया...."
-- डॉ॰ जगदीश व्योम ११:४८, २६ जुलाई २००९ (UTC)

डॉ साहब, आपके योगदान का धन्यवाद। अरब दास व्यापार को आप अरब दास-व्यापार पढ़ें। यह दास (गुलाम) व्यापार है, जो अरबी लोगों द्वारा चलन में था।--आशीष भटनागर  वार्ता  १६:४१, २६ जुलाई २००९ (UTC)

संस्कृति[संपादित करें]

अफ़्रीका के निर्वाचन के पुर्व इस अनुभाग को विकसित करना आवश्यक है। अंग्रेजी लेख#संस्कृति मे भी यह अनुभाग उपस्थित है --गुंजन वर्मासंदेश ०७:१९, २ अगस्त २००९ (UTC)