वारिस अली शाह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
हाजी वारिस अली शाह
Haji Waris Ali Shah
Sarkar Waris Pak Dargah,Dewa Shareef,Barabanki,Lucknow India.jpg
हाजी वारिस अली शाह की दरगाह बाराबंकी, उत्तर प्रदेश.
उपाधिहाजी
जन्म16 जुलाई 1819
मृत्यु7 अप्रैल 1905
देवा शरीफ, बाराबंकी, उत्तर प्रदेश
कब्र स्थलदेवा शरीफ उत्तर प्रदेश
अन्य नामशहंशाहे अवध, सरकार वारिस पाक, वारिस बाबा, हाजी वारिस अली शाह
युगप्रारंभिक 19 वीं शताब्दी
क्षेत्रभारत
धर्मइस्लाम
सम्प्रदायसुन्नी, (सूफी)
सुफी क्रमकद्रीयिया और चिश्ती

वारिस अली शाह; Waris Ali Shah: (उर्दू: حاجی وارث علی شاہ), हाजी वारिस अली शाह या सरकार वारिस पाक 1819-1905 ईस्वी के मध्य में एक सूफी संत थे, और बाराबंकी, भारत, में सूफीवाद के वारसी आदेश के संस्थापक थे। इन्होंने व्यापक रूप से पश्चिमी यात्रा की और लोगों को अपनी आध्यात्मिक शिक्षा ग्रहण कराई और लोगों ने इनकी शिक्षाओं को स्वीकार किया। इनकी दरगाह बाराबंकी स्थित देवा शरीफ में स्थित है, जो अवध क्षेत्र की सबसे बड़ी दरगाह में से एक है। इसलिए उन्हें शहंशाहे अवध के नाम से भी जाना जाता है। .[1][2][3]


इनके के पिता का नाम कुर्बान अली शाह था जिनकी कब्र (मजार शरीफ) भी देवा शरीफ में स्थित हैं।[4] हजरत हाजी वारिस अली शाह ने बहुत ही कम उम्र में धार्मिक ज्ञान प्राप्त कर लिया था। आप तमाम इन्सानो को एक ही ईश्वर की कृति माने,इसलिए आप जाति-धर्म, उन्च-नीच और अमीर-गरीब की भावना से मुक्त होकर जगत के सारे इन्सानो से प्रेम किये और संदेश दिये, "प्रेम ही उत्तम कर्तव्य हैं"[5]

भ्रमण[संपादित करें]

हजरत वारिस पाक कई बार तीर्थ यात्रा के लिए मक्का गये.[6] और यूरोप इंग्लैंड का भ्रमण किया यूरोप में अपनी व्यापक यात्रा के दौरान, इन्होनें तुर्की की सल्तनत का भी दौरा किया था।

म्रत्यु[संपादित करें]

हजरत वारिस पाक की 1 सफर 1323 हिजरी (7 अप्रैल 1905 ईस्वी) में मृत्यु हो गई थी.[7]

शिष्य[संपादित करें]

हजरत वारिस पाक के कई धर्मों अनुयायी थे.[8] इनके शिष्यों में मुसलमान और हिंदू दोनों शामिल हैं

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

Waris Pak अंग्रेजी में

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Hasan, Masoodul (2007). Sufism and English literature : Chaucer to the present age : echoes and images. New Delhi, India: Adam Publishers & Distributors. पपृ॰ 5, 183. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788174355232.
  2. Hadi, Nabi (1994). Dictionary of Indo-Persian literature. Janpath, New Delhi: Indira Gandhi National Centre for the Arts. पृ॰ 554. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788170173113. मूल से 17 जून 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 फ़रवरी 2018.
  3. Prasad, Rajendra (2010). India divided. New Delhi: Penguin Books. पृ॰ 44. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780143414155.
  4. All India Reporter, Volume 4, Part 5. D.V. Chitaley. 1917. पपृ॰ 81, 85, 87.
  5. Islamic Review and Muslim India (अंग्रेज़ी में). Kraus Reprint. 1971.
  6. Ehtisham, S. Akhtar (2008). A medical doctor examines life on three continents : a Pakistani view. New York: Algora Pub. पृ॰ 11. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780875866345. मूल से 26 दिसंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 फ़रवरी 2018.
  7. Sharib, Zahurul Hassan (2006). The Sufi saints of the Indian subcontinent. Munshiram Manoharlal Publishers. पृ॰ 290.
  8. "Disciples of Waris Ali Shah". मूल से 1 मार्च 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 फ़रवरी 2018.
  9. Sharib, Zahurul Hassan (2006). The Sufi Saints of the Indian Subcontinent (अंग्रेज़ी में). Munshiram Manoharlal Publishers. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-215-1052-3.
  10. "संग्रहीत प्रति". मूल से 1 मार्च 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 फ़रवरी 2018.
  11. Zaman, Muhammad Qasim (2018-05-15). Islam in Pakistan: A History (अंग्रेज़ी में). Princeton University Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-4008-8974-7.
  12. "Bedam Shah Warsi". अभिगमन तिथि 2021-04-22.
  13. "जिसने देखा हो गया सैदा तेरा वारिस पिया." Dainik Jagran. अभिगमन तिथि 2021-04-22.