वरदान (प्रेमचंद का उपन्यास)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
वरदान (प्रेमचंद का उपन्यास)  
[[चित्र:|150px]]
मुखपृष्ठ
लेखक प्रेमचंद
देश भारत
भाषा हिंदी
विषय साहित्य
प्रकाशन तिथि

‘सेवासदन’ के उपरांत सन् 1920 में प्रेमचंद का यह उपन्यास प्रषित हुआ । किन्तु ‘सेवासदन’ के भाँती इस उपन्यास में भाव की गरिमा और वैचारिक स्पष्टता नही थी । उपन्यास की अधिकांश कथा में क्रमशः कृत्रिमता बढ़ती चली गयी है और कल्पना की अतिशयता ने मूल कथानक को ही गडबड कर दिया है । निसंदेह ही ‘वरदान’ प्रेमचंद की एक दुर्बल कृति है ।