वन संसाधन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

वन एक मूल्यवान संसाधन हैं जो भोजन, आश्रय, वन्यजीवन आवास, ईंधन, और दैनिक आपूर्ति जैसे औषधीय सामग्री और कागज प्रदान करते हैं।वन, पृथ्वी की CO2 आपूर्ति और विनिमय को संतुलित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जो वायुमंडल, भू -मंडल और हाइड्रोस्फीयर के बीच एक महत्वपूर्ण लिंक के रूप में कार्य करते हैं।[1]

भारत में वन संसाधन

भारत के 15 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 33 प्रतिशत से ज्यादा भूभाग पर जंगल हैं, जबकि बाकी राज्यों में हालात ऐसे नहीं हैं। पंजाब में तो महज 3.52 फीसदी जमीन पर ही जंगल हैं। 'इंडिया स्टेट ऑफ फॉरेस्ट रिपोर्ट-2015' के अनुसार जिन राज्यों में 33 प्रतिशत से ज्यादा जंगल हैं, उनमें मिजोरम पहले स्थान पर है। यहां 88.93 प्रतिशत जमीन पर जंगल हैं। इसके बाद लक्षद्वीप का नंबर है। यहां 84.56 प्रतिशत जमीन पर जंगल हैं। [2]



संदर्भ[संपादित करें]

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 14 दिसंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 दिसंबर 2018.
  2. "navbharattimes". मूल से 14 दिसंबर 2018 को पुरालेखित.