वज्रायुध

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

770 ई० में यह कन्नौज का शासक बना। बज्रायुध आयुध वंश का था। इसके बाद 783-84 ई० में इसका पुत्र इंद्रायुध कन्नौज का शासक बना। इंद्रायुध के भाई चक्रायुध ने इसका विरोध किया। दोनों के बीच संर्घष का लाभ उठाकर कन्नौज पर अधिकार करने के लिए राष्ट्रकूट, पाल और प्रतिहारों के बीच संर्घष शुरू हो गया जिसे त्रिपक्षी संर्घष कहा जाता है ।