लोक जीवविज्ञान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

लोक जीवविज्ञान (Ethnobiology) वैज्ञानिक रूप से विभिन्न मानव संस्कृतियों का अमानवीय जीवों के साथ के सम्बन्ध का अध्ययन करता है। इसमें अन्य जीवों के साथ करे गये मानव-व्यवहार, प्रयोगों, इत्यादि को देखा जाता है। मानवों का बायोटा और पर्यावरण के साथ ऐतिहासिक और वर्तमान सम्बन्ध परखा जाता है, जो कि हर संस्कृति में बदलता रहता है।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. POSEY, D.A & W. L. Overal (Eds.), 1990) Ethnobiology: Implications and Applications. Proceedings of the First International Congress of Ethnobiology. Belém: Museu Paraense Emílio Goeldi.
  2. BERLIN, Brent (1992) Ethnobiological Classification - Principles of Categorization of Plants and Animals in Traditional Societies. Princeton University Press, 1992.