लुशिंगटन जल प्रपात

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

लुशिंगटन जल प्रपात दक्षिण भारत का एक जल प्रपात है। यह पश्चिमी घाट की पर्वतमाला में आता है।

इसे उँछल्ली फॉल्स (कन्नड़: ಉಂಚಳ್ಳಿ ಜಲಪಾತ) के रूप में भी जाना जाता है यह एक 116 मीटर (381 फीट) ऊँचा झरना है जो अघंनाशिनी नदी में गिरता है। यह कर्नाटक के उत्तर कन्नड़ जिले में सिद्धपुर के पास स्थित है। ब्रिटिश सरकार के लिए एक जिला कलेक्टर जे. डी, लुशिंगटन के नाम पर इसका नाम रखा गया है जिन्होंने सन् 1845 में इसकी खोज की थी।[1]

हेग्गर्ने, उत्तर कन्नड़ जिले के एक गांव, सिद्धपुर से 35 किमी दूर है। झरना जंगल के माध्य से 5 किलोमीटर (3.1 मील) का रास्ता तय कर अपने गिरने के स्थान पर पहुँचता है। यहां नदी के पानी गिर के एक काफिले में आता है और अंत में एक शानदार, खूबसूरत झरने के रूप में एक खड़ी घाटी से गिर जाता है कभी-कभी इसकी बहरा करने वाली ध्वनि के कारण इसे "केप्पा जोगा" भी कहा जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. https://en.m.wikipedia.org/wiki/Unchalli_Falls#cite_note-1