लावालव शंकु

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

केन्द्रिय अथवा दरारी अदगार से लावा के निकलते समय उसमें गैस रह जाने से बुलबुले बन जाते हैं और अनेक बुलबुले एकत्रित होकर फूटने से लावालव शंकु बन जाते हैं।

संरचना[संपादित करें]

उदाहरण[संपादित करें]

  • इडाहो राज्य में स्थित ज्वालामुखी |

आकृति[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

ज्वालामुखी निसरण से बनी आकृति पृथ्वी
आश्रित शंकु | काल्डेरा शंकु | गुम्बद शंकु | मिश्रित शंकु | लावा शंकु | लावालव शंकु | शिल्ड शंकु | सिन्डर शंकु