लघु उद्योग भारती

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

लघु उद्योग भारती १९९४ में स्थापित भारत में सूक्ष्म और लघु उद्योगों के एक पंजीकृत अखिल भारतीय संगठन है। पूरे देश में 250 शाखाओं के साथ 400 से अधिक जिलों में इसकी सदस्यता है।

मिशन[संपादित करें]

  • स्व रोजगार के साथ उद्यमिता को प्रोत्साहित करने के लिए
  • देश के सतत विकास में जिसके परिणामस्वरूप माइक्रो और लघु उद्योगों के समग्र विकास में वृद्धि हुई है।
  • इस परिवार के सदस्य के रूप में एक परिवार, श्रमिक, ग्राहक और सप्लायर के रूप में उद्योग को संचालित करने के लिए
  • लाभप्रद रोजगार को बढ़ाने के लिए, ताकि प्रत्येक व्यक्ति को सभ्यता प्राप्त करनी चाहिए।
  • प्रतिस्पर्धात्मकता पर गुणवत्ता के साथ उत्पादकता में निरंतर वृद्धि बनाए रखने के लिए
  • सूक्ष्म एवं लघु उद्योग में और स्वदेशी प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए
  • सूक्ष्म एवं लघु उद्योग में अनुसंधान एवं विकास गतिविधि को प्रोत्साहित करने के लिए
  • उपलब्ध प्राकृतिक संसाधनों के उपयोग के लिए माइक्रो और लघु उद्योग की स्थापना को प्रोत्साहित करने के लिए
  • माइक्रो-लघु उद्योग को पर्यावरण के अनुकूल तरीके से संचालित करने के लिए
  • आर्थिक असंतुलन का मुकाबला करने के लिए गहनता, क्लस्टर गठन के माध्यम से विनिर्माण गतिविधि का विकेंद्रीकरण
  • अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा को प्राप्त करने के लिए
  • कौशल के माध्यम से मानव संसाधनों की क्षमता बढ़ाने के लिए

लघु उद्योग भारती के उद्देश्य[संपादित करें]

लघु उद्योग भारती निम्नानुसार लघु उद्योगों को सहायता प्रदान करते हैं:

  • निरीक्षक राज और सरलीकरण प्रक्रियाओं को हटाने
  • बिजली की उपलब्धता और वितरण
  • उत्पादकता में सुधार के लिए मार्गदर्शन
  • गुणवत्ता और तकनीकी उन्नयन और आधुनिकीकरण
  • बेहतर प्रबंधन
  • बिक्री संवर्धन और विपणन सहायता
  • कच्ची सामग्री की खरीद
  • महिलाओं के उद्यमियों को प्रोत्साहित करना
  • सम्मेलनों, सेमिनारों और कार्यशालाओं को व्यवस्थित करें
  • बेहतर उद्यमी, कार्यकर्ता और ग्राहक संबंधों के लिए अनुकूल वातावरण बनाना
  • बेहतर प्रतिनिधित्व के लिए विभिन्न पैनल बनाना
  • बेहतर उत्पाद एक्सपोजर के लिए व्यापार मेलों और प्रदर्शनियों में भागीदारी

उदगम प्रमाण पत्र[संपादित करें]

भारत सरकार ने इकाइयों को निर्यात करने के लिए उत्पत्ति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए लघु उद्योग भारती को अधिकृत किया है।[1]सर्टिफिकेट ऑफ़ ओरिजिन (सीओ या सीओओ संक्षिप्त), अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में प्रयुक्त दस्तावेज़ है। यह एक मुद्रित प्रपत्र है, जिसे निर्यातक या उसके एजेंट द्वारा जारी किया जाता है और निकाय द्वारा प्रमाणित किया गया है। यह प्रमाणित करता है कि एक विशेष निर्यात शिपमेंट में माल पूरी तरह से उत्पादित, निर्मित या किसी विशेष देश में संसाधित किया गया है।

शॉर्ट "ए सर्टिफिकेट ऑफ ओरिजिन (सीओ) एक दस्तावेज है जो प्रमाणन के लिए उपयोग किया जाता है कि निर्यात किए गए उत्पाद किसी विशेष देश में पूरी तरह से प्राप्त, उत्पादित या निर्मित किए गए हैं यह आमतौर पर निर्यात दस्तावेजों का अभिन्न अंग है लघु उद्योग भारती इस प्रमाण पत्र को जारी करने के लिए अधिकृत एजेंसियों में से एक है ,इसे विदेश व्यापार महानिदेशालय, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय,भारत सरकार की इस वेबसाइट पर सत्यापित कर सकते हैं।

सरकारी बोर्ड एवं समितियों के पैनल में लघु उद्योग भारती[संपादित करें]

भारत सरकार द्वारा गठित सभी महत्वपूर्ण समितियों / बोर्डों / एजेंसियों में लघु उद्योग भारती का प्रतिनिधित्व किया जा रहा है।

  • सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम बोर्ड
  • एमएसएमई के लिए पुरस्कार के लिए राष्ट्रीय स्तर की चयन समिति
  • प्रधान मंत्री और वित्त मंत्री द्वारा पूर्व-बजट परामर्श
  • मंत्रालय सरकार और तकनीकी अनुमोदन बोर्ड एमएसएमई
  • वाणिज़़य़ मंत्रालय़
  • एसएमई को ऋण प्रवाह पर दिशानिर्देशों की समीक्षा करने के लिए आरबीआई कमेटी
  • अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (आईएलओ)
  • स्थायी श्रम समिति
  • सेंट्रल बोर्ड फॉर वर्कर्स एजुकेशन
  • बाल श्रम परियोजनाएं
  • राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद
  • राष्ट्रीय सामाजिक सुरक्षा बोर्ड
  • मजदूरी केंद्रीय सलाहकार समिति
  • श्रम कानूनों पर कार्य समूह
  • ईएसआईसी पर सलाहकार समिति
  • राष्ट्रीय उत्पादकता परिषद
  • डीसीएस और डी की स्थायी समीक्षा समिति
  • निम्नलिखित मंत्रालयों में औद्योगिक त्रिपक्षीय समिति
  • ए)। कॉटन इंडस्ट्रीज पर कपड़ा उद्योग
  • ख)। श्रम और रोजगार मंत्रालय- सभी समितियां
  • सी)। जूट उद्योग पर कपड़ा उद्योग
  • केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड
  • http://lubindia.com/certificate-of-origin-laghu-udyog-bharati/. गायब अथवा खाली |title= (मदद); |website= में बाहरी कड़ी (मदद); गायब अथवा खाली |url= (मदद)