रोटी (1974 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रोटी
रोटी.jpg
रोटी का पोस्टर
निर्देशक मनमोहन देसाई
निर्माता रजनी देसाई
लेखक जीवनप्रभा देसाई
प्रयाग राज
कादर ख़ान
अभिनेता राजेश खन्ना,
मुमताज़
संगीतकार लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1974
देश भारत
भाषा हिन्दी

रोटी 1974 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसका निर्माण रजनी देसाई ने और मनमोहन देसाई द्वारा निर्देशन किया गया। इसमें राजेश खन्ना और मुमताज़ ने अभिनय किया है, जबकि संगीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने दिया है। यह फिल्म 1974 में बेनाम और रोटी कपड़ा और मकान के साथ जारी हुई थी।

संक्षेप[संपादित करें]

मंगल सिंह (राजेश खन्ना) शुरू से अपराधी रहा है। उसे पुलिस पकड़ लेती है और उसे फाँसी की सजा दी जाती है। वह नाटकीय रूप से अंडरवर्ल्ड डॉन, सूरज (पिंचू कपूर) की मदद से भाग जाता है। अब वो पुलिस से भाग रहा है। वह उत्तरी भारत के एक छोटे से गाँव में रहता है और बिजली (मुमताज़) की मदद से स्कूल-शिक्षक बन जाता है।

वह श्रवण के दोस्त रामू की पहचान ले लेता है और श्रवण के माता-पिता, लालाजी (ओम प्रकाश) और माल्ती (निरूपा रॉय) के साथ रहने लगता है। यह जानते हुए कि वे उस आदमी के माता-पिता हैं जिसे उसने पुलिस से बचते समय मार दिया था।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी गीत आनंद बख्शी द्वारा लिखित; सारा संगीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."ये जो पब्लिक है"किशोर कुमार5:20
2."नाच मेरी बुलबुल"किशोर कुमार4:52
3."यार हमारी बात सुनो"किशोर कुमार4:00
4."गोरे रंग पे ना इतना"किशोर कुमार, लता मंगेशकर4:51
5."फूलों के साथ"लता मंगेशकर5:16

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

प्राप्तकर्ता और नामांकित व्यक्ति पुरस्कार वितरण समारोह श्रेणी परिणाम
कमलाकर कार्कानी फिल्मफेयर पुरस्कार फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सम्पादन पुरस्कार जीत

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]