रॉयल्टी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

जो भुगतान विशेष रूप से आदमी या स्थापना द्वारा किसी संपत्ति,पेटेंट,फ्रैंचाइज़,कॉपीराइट या प्राकृतिक सुविधा के मालिक को दी जाती हैं, ताकि उसका उपयोग अपने लाभ के लिए कर सके उसे रॉयल्टी कहाँ जाता हैं। जो भुगतान किसी संपत्ति या 'इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी' ( आई.पी.) के लगातार उपयोग करने केलिए दिया जाता हैं, उसे रॉयल्टी कहते हैं। रॉयल्टी ज्यादातर तब दिया जाता हैं जब एक आविष्कारक या मालिक अपनी संपत्ति किसी दुसरे पार्टी को बेचना चाहता हो ताकि उस संपत्ति के अधिकतर उपयोग से, वे रॉयल्टी कमा सके। रॉयल्टी अक्सर मालिक की संपत्ति का उपयोग करके प्राप्त राजस्व का एक प्रतिशत के रूप में व्यक्त किया जाता हैं, लेकिन एक व्यवस्था की विशिष्ट जरूरतों को पूरा करने के लिए बातचीत की जा सकती है। एक आविष्कारक या मालिक को यह सुविधा उत्पन्न हो सकती हैं और इसका प्रयोग अक्सर तेल और संगीत के उद्योग में पाया जाता हैं।

संसाधन संभंधित रॉयल्टी[संपादित करें]

तेल और खनिज संसाधनों के मालिक, दुसरे पार्टी को अपने संसाधनों का इस्तमाल करने की इजाज़त देते हैं और बदले में वे मूल भाव या मुनाफे पर एक भाग रॉयल्टी के रूप में लेते हैं। जब किसी प्रांत या देश के सर्कार इन संसाधनों के मालिक होते हैं, तब सारे नियम विनियमित है। रॉयल्टी भुगतान के दर कई देशों और व्यापारियों द्वारा उनके प्रांत में तय की जाती हैं। जंगल सम्भंदित रॉयल्टी को 'स्टमपेज' कहाँ जाता हैं। पेटेंट-रॉयल्टी की सहायता से पेटेंट के मालिक को अपने पेटेंट द्वारा हुए लाभ का एक हिस्सा मिलेगा और इस अधिकार की सुरक्षा उस देश के अधिकारी करेंगे जहां पेटेंट लिया गया था। अगर किसी ने बिना मुआवजा पेटेंट का उपयोग किया तो मुकदमा चलेगा और नियम उल्लंघन करने के लिए उस व्यक्ति अथवा संस्था को जेल में सज़ा काटनी पड़ेगी या मौद्रिक नुकसान देना पड़ेगा। रॉयल्टी का भुगतान करके लोग पेटेंट की सहायता से उत्पादन कर सकते सकते हैं, उसका उपयोग कर सकते हैं,बिक्री या फिर उस पेटेंट का विज्ञापन क्र सकते हैं।

प्रतिलिप्यधिकार रॉयल्टी[संपादित करें]

प्रतिलिप्यधिकार या कॉपीराइट रॉयल्टी के नियम के माध्यम से एक व्यक्ति अपने संपत्ति की रक्षा कर सकता हैं, क्योंकि यह नियम मालिक को अधिकार देता हैं कि कोई भी व्यक्ति उनके आविष्कारो की नक़ल न कर सके। पुस्तकों के लेखक अपनी किताब का कॉपीराइट प्रकाशक को बेच सकते हैं और हर बेचीं हुई किताब पर प्रकाशक उन्हें रॉयल्टी देते हैं। ब्रिटेन में सामान्य रूप से लेखखों को १० प्रतिशत रॉयल्टी दिया जाता हैं। संगीतकार को दी जाने वाली रॉयल्टी दुसरे इंटेलेक्चुअल संपत्ति से अलग हैं,इस अर्थ में की उन्हें अपने संगीत के उपयोग पर पूरा अधिकार हैं।रिकॉर्डिंग कंपनिया और संगीत के कलाकारों को एक अलग तरह का रॉयल्टी मिलता हैं,गानों की बिक्री और डाउनलोडस के माध्यम से। संगीत के उद्योग में कई प्रकारों के रॉयल्टी का भुगतान किया जा सकता हैं, जैसे की -

  1. "प्रिंट राइट्स" से सम्भंदित रॉयल्टी।
  2. "मैकेनिकल रॉयल्टी", जो कॉम्पैक्ट डिस्क (सी.डी.)या टेप में मौजूद गानों या रचनाओ से पाया जाता हैं।
  3. "परफॉरमेंस रॉयल्टी", जब कलाकार मंच पर या टी.वी. द्वारा गानों का प्रदर्शन करते हैं। #"सिंक रॉयल्टी",जब किसी रचना का इस्तमाल किसी फिल्म या टीवी विज्ञापन में होता हैं।

भागीधारी रॉयल्टी[संपादित करें]

रॉयल्टी, टेक्नोलॉजी और दो पार्टियों के संघटन से सम्भन्धित हो सकती हैं। भागीधारी रॉयल्टी में,एक पार्टी किसी दुसरे पार्टी के साथ रहस्यमय जानकारी का बटवारा करना ही नहीं हैं बल्कि उससे बडकर उनका समभंद हैं। इसके मूल रूप से तीन प्रकार हैं- 'जॉइंट वेंचर','फ्रान्चाईज़' और 'सामरिक संघटन'। 'जॉइंट वेंचर' में कम्पनियाँ लम्बे समय से एक उद्देश्य के साथ संपर्क करती हैं। जॉइंट वेंचर औपचारिक रूप का एक संघठन हैं। जॉइंट वेंचर में कंपनिया उत्पादन की बिक्री या सेवा का प्रायोजन करते हैं और वे उस देश के नियमो का पालन करते हैं, जहां वे स्थित हैं। 'फ्रैंचाइज़इंग' का अर्थ हैं कि किसी ट्रेडमार्क वस्तु या उत्पादन का इस्तमाल किसी दुसरे व्यापारी द्वारा करना और इस तरह का बिज़नस मॉडल 'मेक डोनाल्डस' करता हैं। फ़्रान्चाइज़ेर कई उपदेश और शर्ते इन फ़्रन्चाइज़ी व्यापारियों को देती हैं और अगर इन शर्तो का उलंघन इन पार्टियों ने किया तो उनके लाइसेंस को वे वापस ले सकते हैं और सारा नुक्सान इन फ्रेंचाइजी पार्टियों को देना पड़ेगा।'सामरिक संघठन' में दो पार्टिया एक परियोजना से सम्भंदित हैं और तब प्रकट होता हैं जब दो या अधिक पार्टिया किसी परियोजना, उत्पादन या सेवा के प्रयोजन के लिए एक साथ आते हैं। नाम से पता चलता हैं कि ये उन पार्टियों का संघठन हैं जिनकी आम तौर पर जमती न हो और सिर्फ किसी परियोजना या मुनाफा बड़ाने के लिए एक साथ काम कर रहे हैं।