रैनर वाइस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रैनर वाइस
जन्म 29 सितम्बर 1932 (1932-09-29) (आयु 88)
बर्लिन, जर्मनी
नागरिकता संयुक्त राज्य अमेरिका
क्षेत्र भौतिकी, लेसर भौतिकी, प्रायोगिक गुरुत्वाकर्षण, अन्तरिक्ष किरण पृष्ठभूमि मापन
संस्थान एमआईटी
शिक्षा एमआईटी
डॉक्टरी सलाहकार जेरोल्ड आर॰ जकारिया
उल्लेखनीय शिष्य ब्रूस एलन
प्रसिद्धि लेसर व्यतिकारी गुरुत्वीय तरंग प्रेक्षण का अग्रणी प्रयोग
उल्लेखनीय सम्मान अमेरिकी फ़ीजिकल सोसाइटी द्वारा आइंस्टीन प्राइज (2007)
फंडामेंटल फीजिक्स प्राइज (2016)
कोसमोलॉजी में ग्रूबर प्राइज (2016)
शॉ प्राइज (2016)
कावली प्राइज (2016)
हार्वे प्राइज (2016)
प्रिंसेज ऑफ़ ऑस्ट्रियाज अवार्ड (2017)
भौतिकी में नोबेल पुरस्कार (2017)

रैनर "राय" वाइस (/vs/; German: [vaɪs]; जन्म: सितम्बर 29, 1932) अमेरिकी भौतिक विज्ञानी हैं जिन्हें भौतिकी गुरुत्वाकर्षण भौतिकी और खगोलिकी में उनके योगदानों के लिए जाना जाता है। वो मैसाचुसेट्स प्रौद्योगिकी संस्थान में भौतिकी के सेवामुक्त प्रोफेसर हैं। उन्हें लेसर व्यतिकरणमापी तकनीकी के लिए जाना जाता है जो लिगो प्रयोग की आधारभूत संक्रिया है। रैनर अन्तरिक्ष किरण पृष्ठभूमि पर काम करने वाले समूह के प्रमुख थे।[1][2][3]

उन्हें वर्ष २०१७ में किप थोर्न और बैरी बैरिश के साथ "लिगो संसूचक में उनके अमूल्य योगदान और गुरुत्वीय तरंगों के प्रेक्षण" में योगदान के लिए संयुक्त रूप से भौतिकी के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Lars Brink (2 June 2014). Nobel Lectures in Physics (2006 – 2010). World Scientific. पपृ॰ 25–. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-981-4612-70-8. मूल से 31 जनवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 अक्तूबर 2017.
  2. "NASA and COBE Scientists Win Top Cosmology Prize". NASA. 2006. मूल से 3 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 February 2016.
  3. Weiss, Rainer (1980). "Measurements of the Cosmic Background Radiation". Annu. Rev. Astron. Astrophys. 18: 489–535. डीओआइ:10.1146/annurev.aa.18.090180.002421. बिबकोड:1980ARA&A..18..489W. मूल से 1 अक्तूबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 अक्तूबर 2017.
  4. "The Nobel Prize in Physics 2017". The Nobel Foundation. 3 October 2017. मूल से 13 अगस्त 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 October 2017.