रेहाना बिन्त ज़ैद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
रेहाना बिन्त ज़ैद
उम्मुल मोमिनीन
Rayhana bint Zayd RA.png
जन्म हिजाज़
मृत्यु हिजाज़
पदवी 'উম্মুল মুমিনিন
जीवनसाथी मुहम्मद

रेहाना बिन्त ज़ैद(अंग्रेज़ी:Rayhana bint Zayd) बनू नज़ीर जनजाति की एक यहूदी महिला थीं, इस्लामिक पैगंबर मुहम्मद की पत्नी थीं और उम्मुल मोमिनीन अर्थात "विश्वास करने वालों की माँ" के रूप में भी माना जाता है।

जीवनी[संपादित करें]

रेहाना का जन्म यहूदी खानदान में हुआ था। [1] बनू नज़ीर जनजाति से वह अपनी शादी के बाद बनू कुरैज़ा जनजाति का हिस्सा बन गई। उनका हुकम नामी व्यक्ति से विवाह हुआ था जो मुसलमानों से युद्ध में मारा गया था।

इब्न साद ने लिखा है बनू कुरैज़ा से युद्व के पश्चात विधवा रेहाना को विमुक्त कर दिया गया और बाद में इस्लाम में उसके धर्मांतरण के बाद मुहम्मद से शादी कर ली गई। अल-थलाबी ने सहमति व्यक्त की कि वह मुहम्मद की पत्नियों में से एक बन गई और सबूतों का हवाला दिया कि उन्होंने उसके लिए महर का भुगतान किया। इब्न हाजर मुहम्मद द्वारा रेहाना को उनकी शादी पर घर देने का संदर्भ देते हैं। एंटनी वेसल्स ने सुझाव दिया कि मुहम्मद ने बनू नज़ीर और बनू कुरैजा दोनों जनजातियों के साथ दोहरी संबद्धता के कारण राजनीतिक कारणों से रेहाना से शादी की, जबकि लेस्ली हेज़लटन ने महसूस किया कि यह मुहम्मद के गठबंधन बनाने का सबूत है।[2][3]

इस्लामी विद्वानों के बीच इस बात पर आम सहमति नहीं है कि क्या रेहाना आधिकारिक रूप से मुहम्मद की पत्नियों में से एक थी। हाफ़िज़ इब्न मिंडा और शिबली नोमानी मानते थे कि वह अपनी मृत्यु के बाद बनू नज़ीर लौट आई थी।

मृत्यु[संपादित करें]

हज के 11 दिन बाद 631 में रेहाना की जवानी ही मृत्यु हो गई, और उसे मुहम्मद की अन्य पत्नियों के साथ मदीना में जन्नत अल-बक़ी कब्रिस्तान में दफनाया गया।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "मुहम्मद की पत्नियाँ"- प्रो. डॉक्टर जियाउर्रहमान आज़मी, कुरआन मजीद की इन्साइक्लोपीडिया, हिंदी संस्करण(2010), पृष्ठ 498
  2. Guillaume, Alfred. The Life of Muhammad: A Translation of Ibn Ishaq's Sirat Rasul Allah, p. 466. Oxford University Press, 1955. ISBN 0-19-636033-1
  3. Ibn Sa'd. Tabaqat. vol VIII, pg. 92–3.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]