रेडियोसंदीप्ति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
ट्रिशियम घड़ी

किसी पदार्थ पर आयनकारी विकिरण (जैसे बीटा कण) द्वारा बमबारी करने पर उससे प्रकाश निकलने की परिघटना को रेडियोसंदीप्ति (Radioluminescence) कहते हैं। इसका उपयोग रात में धीमें स्तर का प्रकाश करने के लिये किया जाता है जो किसी उपकरण को प्रकाशित करने या संकेत करने के लिये उपयोग में लाया जा सकता है। घड़ियों की सुइयों पर रेडियोसंदीप्तिकारी पेंट का उपयोग किया जाता रहा है जिसकी सहायता से अंधेरे में भी समय देखा जा सके।