रिसोर्ससैट-2ए

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रिसोर्ससैट-2ए
Resourcesat-2A
मिशन प्रकार रिमोट सेंसिंग उपग्रह
संचालक (ऑपरेटर) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
कोस्पर आईडी 2016-074A
मिशन अवधि 5 साल
अंतरिक्ष यान के गुण
लॉन्च वजन 1,235 किलोग्राम (2,723 पौंड)[1]
मिशन का आरंभ
प्रक्षेपण तिथि 7 दिसम्बर 2016
रॉकेट पीएसएलवी सी36
प्रक्षेपण स्थल प्रथम लांच पैड, सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र
कक्षीय मापदण्ड
निर्देश प्रणाली भूकेन्द्रीय कक्षा
काल पृथ्वी की निचली कक्षा
परिधि (पेरीएपसिस) 817 किलोमीटर (508 मील)
उपसौर (एपोएपसिस) 817 किलोमीटर (508 मील)
झुकाव 98.72 डिग्री
अवधि 102 मिनट

रिसोर्ससैट-2ए (Resourcesat-2A) क्रमशः रिसोर्ससैट-1 और रिसोर्ससैट-2 के मिशन का अनुवर्ती है जिन्हें क्रमशः अक्टूबर, 2003 और अप्रैल, 2011 में लॉन्च किया गया था। नया उपग्रह अन्य रिसोर्ससैट मिशन के समान सेवाओं को प्रदान करता है। यह आपदा प्रबंधन में मदद के साथ-साथ जमीन और जल निकायों के नीचे, खेत की भूमि और फसल की मात्रा, जंगल, खनिज जमा, तटीय सूचना, ग्रामीण और शहरी फैलाव पर नियमित सूक्ष्म और मैक्रो सूचना देगा।[2]

पेलोड[संपादित करें]

उपग्रह 3 पेलोड लेकर गया हैं:

  • एडवांस्ड वाइड-फील्ड सेंसर (AWiFS) - यह वीएनआईआर में तीन वर्णक्रमीय बैंडों और एसडीआईआर के एक बैंड पर चल सकता है। यह 56 मीटर के स्थानिक रिज़ॉल्यूशन वाली छवियां प्रदान करता है जो राज्य स्तर पर उपयोगी होती है।
  • रैखिक इमेजिंग सेल्फ स्कैनिंग सेंसर (LISS-III) - यह तीन-स्पेक्ट्रल बैंड, वीएनआईआर में दो और एक लघु वेव इन्फ्रारेड (एसडब्ल्यूआईआर) बैंडविड्थ पर चल सकता है। 23.5 मीटर के स्थानिक रिज़ॉल्यूशन के साथ यह जिला स्तर पर छवियां प्रदान कर सकता है।
  • रैखिक इमेजिंग सेल्फ स्कैनिंग सेंसर कैमरा (LISS-IV Camera) - यह 5.8 मीटर के स्थानिक रिज़ॉल्यूशन के साथ दृश्यमान और निकट इन्फ्रारेड क्षेत्र में तीन वर्णक्रम बैंडों में संचालित होता है जो तालुक स्तर पर जानकारी प्रदान कर सकता है।[3][4]

उपग्रह में 200 जीगा बिट्स की क्षमता वाले दो सॉलिड स्टेट रिकॉर्डर्स भी हैं, जो छवियों को स्टोर करने के लिए बाद में ग्राउंड स्टेशन पर भेजने में सक्षम होंगे।[5]

लॉन्च[संपादित करें]

उपग्रह 7 दिसंबर 2016 को पीएसएलवी-सी36, पीएसएलवी की 38वीं उड़ान पर लांच किया गया था।[2] पहली बार, भारतीय क्षेत्रीय नौवहन उपग्रह प्रणाली प्रोसेसर और रिसीवर का प्रयोग पीएसएलवी को नेविगेट करने के लिए किया गया था।[6]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Resourcesat 2, 2A".
  2. D.S., Madhumathi (2016). "Remote sensing satellite Resourcesat-2A launched" (प्रकाशित December 7, 2016). The Hindu.
  3. "Isro successfully launches remote sensing satellite RESOURCESAT-2A". Press Trust of India.
  4. "Three Tier Imaging of Resourcesat-2A" (PDF).
  5. "India Puts Remote Sensing Satellite RESOURCESAT-2A Into Orbit". Indo-Asian News Service. Dec 7, 2016.
  6. Tejonmayam, U (Dec 7, 2016). "ISRO successfully places remote sensing satellite Resourcesat-2A in orbit".

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]